Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

राजस्थान के सियासी संकट पर बोले अशोक गहलोत-‘मैं राजस्थान का हूं, यहां पैदा हुआ इससे दूर कैसे रह सकता हूं

अपने बयान में कहा 'मैं कहीं रहूं, किसी पद पर रहूं, मैं राजस्थान का हूं, जोधपुर का हूं मारवाड़ महामंदिर का हूं जहां मैं पैदा हुआ।

राजस्थान: ‘मैं किसी पद पर भी रहूं, मैं राजस्थान का हूं और लोगों की सेवा करता रहूंगा’ शनिवार को मीडिया में दिए बयान में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यह बातें कहीं। बीजेपी ने बार-बार सरकार गिराने की कोशिश की थी। हमारी सरकार पूरे पांच साल काम करेगी।

आगे उन्होंने अपने बयान में कहा ‘मैं कहीं रहूं, किसी पद पर रहूं, मैं राजस्थान का हूं, जोधपुर का हूं मारवाड़ महामंदिर का हूं जहां मैं पैदा हुआ। मैं उससे कैसे दूर रह सकता हूं। ‘सीएम ने आगे कहा मैं अंतिम सांस तक कहीं रहूं तो मैं उनकी  (राजस्थान के लोगों की) करता रहूंगा’। ‘मैं बार-बार कहता हूं इसके मायने होते हैं’।

इससे पहले आज सुबह कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अब मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच ही मुकाबला होगा। शुक्रवार को नामांकन के आखिरी दिन शशि थरूर, मल्लिकार्जुन खड़गे और केएन त्रिपाठी ने अध्यक्ष पद के लिए नॉमिनेशन किया था, लेकिन हस्ताक्षर से जुड़े त्रुटियों के कारण केएन त्रिपाठी का नामांकन पत्र रद्द कर दिया गया है।

कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण अध्यक्ष मधुसूदन मिस्त्री ने बताया कि शुक्रवार को कुल 20 फॉर्म जमा किए गए थे। इनमें से स्क्रूटनी कमेटी ने हस्ताक्षर के मुद्दों के कारण 4 फॉर्म को खारिज कर दिया। वापसी के लिए 8 अक्टूबर तक का समय है, उसके बाद तस्वीर साफ होगी। कोई नाम वापस नहीं लेता है तो फिर मतदान प्रक्रिया शुरू होगी।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -