---विज्ञापन---

28 हजार से ज्यादा फोन बंद, 20 लाख Numbers होंगे Reverify, आखिर क्यों लिया सरकार ने ऐसा फैसला?

Cyber Frauds : सरकार ने जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया सहित दूरसंचार ऑपरेटर्स को 28 हजार से ज्यादा स्मार्टफोन्स को ब्लॉक करने के लिए कहा है। साथ ही 20 लाख नंबर Reverify होंगे। चलिए जानें इसकी क्या है वजह...

Edited By : Sameer Saini | Updated: May 11, 2024 15:19
Share :
Cyber Frauds

Cyber Frauds: दूरसंचार विभाग (DoT) ने रिलायंस जियो, भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया सहित दूरसंचार ऑपरेटर्स को साइबर क्राइम से जुड़े हुए लगभग 28,200 मोबाइल हैंडसेट को ब्लॉक करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही DoT ने इन टेलीकॉम कंपनियों को 20 लाख मोबाइल कनेक्शंस को फिर से Reverification करने के लिए भी कहा है। आइये जानते हैं क्या है पूरा मामला…

धोखेबाजों का नेटवर्क होगा खत्म?

दरअसल पिछले कुछ वक्त से कई लोगों को फर्जी कॉल्स और मैसेज आ रहे हैं जिस पर DoT ने बड़ी कार्रवाई की है। टेलीकॉम ने उन हैंडसेट को ब्लॉक करना शुरू कर दिया है जो धोखाधड़ी से जुड़ एक्टिविटीज में शामिल थे। एक ऑफिशियल स्टेटमेंट में बताया गया है कि दूरसंचार विभाग (डीओटी), गृह मंत्रालय (एमएचए) और राज्य पुलिस ने साइबर अपराध और फाइनेंसियल फ्रॉड में टेलीकम्यूनिकेशन रिसोर्सेज के दुरुपयोग को रोकने के लिए हाथ मिलाया है। साथ ही इस स्टेटमेंट में यह भी कहा गया कि इस प्रयास का उद्देश्य धोखेबाजों के नेटवर्क को खत्म करना और नागरिकों को डिजिटल खतरों से बचाना है।

ये भी पढ़ें : 25 हजार के बजट में आने वाले 3 धांसू Smartphone

20 लाख नंबर्स का किया यूज

गृह मंत्रालय और राज्य पुलिस द्वारा जारी की गई रिपोर्ट से पता चला है कि साइबर क्राइम्स में 28,200 मोबाइल हैंडसेट का दुरुपयोग किया गया था। DoT ने बताया कि इन मोबाइल हैंडसेट के साथ 20 लाख नंबर्स का यूज किया गया था। इसके बाद, दूरसंचार विभाग ने टेलीकम्यूनिकेशन सर्विस प्रोवाइडर्स को पूरे भारत में 28,200 मोबाइल हैंडसेट्स को ब्लॉक करने और इन मोबाइल हैंडसेट्स से जुड़े 20 लाख मोबाइल कनेक्शंस को जल्द से जल्द Reverification करने और Reverification न होने पर कनेक्शन काटने के निर्देश जारी किए हैं।

10,834 सस्पीशियस मोबाइल नंबर्स को किया मार्क

इस तरह के साइबर क्राइम से संबंधित मामलों को संभालने के लिए DoT ने मार्च में चक्षु पोर्टल लॉन्च किया था। तब से, विभाग ने मालिसियस और फिशिंग एसएमएस भेजने में शामिल 52 इंस्टीटूशन्स को ब्लैकलिस्ट कर दिया है। समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, इसने देश भर में 348 मोबाइल हैंडसेटों को भी ब्लॉक कर दिया है और 10,834 सस्पीशियस मोबाइल नंबर्स को Reverification करने के लिए मार्क किया है।

First published on: May 11, 2024 03:19 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें