Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

गर्भवती बहू को पिलाया ‘टॉयलेट क्लीनर’…नवजात बच्चे की भी हुई मौत, पीड़िता ने पुलिसवालों को सुनाई आपबीती

Pregnant daughter drink toilet cleaner for dowry in agra: यूपी के आगरा जिले के एत्मादपुर थाना क्षेत्र के गांव छलेसर में दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर ससुराल वालों ने बहू को भूखा-प्यासा रखा और जब इससे बहू की तबीयत खराब होने लगी तो दवा के बहाने टॉयलेट क्लीनर पिला दिया।

Edited By : Hemendra Tripathi | Updated: Nov 12, 2023 15:30
Share :

Pregnant daughter drink toilet cleaner for dowry in agra: उत्तर प्रदेश में पुलिस दहेज उत्पीड़न के मामलों पर सख्ती का रुख अपनाते हुए नजर आ रही है। बावजूद इसके प्रदेश में दहेज के चलते महिलाओं से हो रहे उत्पीड़न के मामले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। इसी से जुड़ा एक मामला यूपी के आगरा जिले से सामने आया, जहां आगरा के एत्मादपुर थाना क्षेत्र के गांव छलेसर में दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर ससुराल वालों ने मानवता को शर्मसार कर दिया। मामले में सामने आया कि दहेज की मांग पूरी न होने पर वे बहू को भूखा-प्यासा रखा और जब इससे बहू की तबीयत खराब होने लगी तो दवा के बहाने टॉयलेट क्लीनर पिला दिया। मामले से जुड़ी पूरी कहानी जब पीड़िता ने पुलिस को सुनाई तो पुलिस भी हैरान हो गई। अपने साथ हुई इस घटना के बाद बहू ने ट्रांस यमुना थाने में ससुरालवालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

ये भी पढ़े: ‘मालिक ने नहीं दी छुट्टी… मौका पाकर ढाबे के कर्मचारियों नें BJP नेता की कर दी हत्या’, फरार आरोपियों की तलाश में पुलिस

 

दहेज के लिए की पिटाई, दवा पिलाने के बहाने पिलाया टॉयलेट क्लीनर

आगरा के टेढ़ी बगिया की रहने वाली पीड़िता नेहा ने पुलिस को मामले की जानकारी देते हुए बताया कि उनकी शादी 15 अप्रैल 2022 को छलेसर निवासी करन के साथ हुई थी। शादी के वक्त मिले दहेज से ससुराल वाले खुश नहीं थे, ससुराल आने के बाद पति के परिवार के लोग बुलेट मोटरसाइकिल की मांग करते हुए उत्पीड़न करने लगे। कुछ समय बाद जब वह गर्भवती हुई तो तब भी परिवार के लोग उत्पीड़न करते थे और इस दौरान उसका खाना-पीना भी बंद कर दिया। ऐसे हालातों में जब उसकी तबीयत खराब हुई तो डॉक्टर को दिखाने भी नहीं ले गए। इसके आगे पीड़िता नेहा ने पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि इसी साल 15 अगस्त 2023 को दवा पिलाने के बहाने टॉयलेट साफ करने वाला तेजाब पिला दिया, जिससे उसका गला अंदर से जल गया।

ये भी पढ़े: ‘छिपकर बना रहे थे तबाही का प्लान’… इंटरनेट पर फैला रहे थे जिहाद, ATS की गिरफ्त में आए 4 आतंकियों ने खोले राज

 

पड़ोसियों ने अस्पताल में करता भर्ती, समय से पहले डिलीवरी होने बच्चे की हुई मौत

पीड़िता ने बताया कि तेजाब पिलाने के दौरान चीख पुकार सुनकर पड़ोसी घर आए और उन्होंने अस्पताल में भर्ती कराया, जिसके बाद वहां से बिना डॉक्टर की मर्जी के घर लेकर आ गए और पूरा इलाज भी नहीं होने दिया। पीड़िता के अनुसार, कुछ दिनों बाद फिर एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां समय से पहले ससुराल वालों ने डिलीवरी करा दी, जिस वजह से नवजात बच्चे की मौत हो गई। मामले को लेकर ट्रांस यमुना थानाध्यक्ष सुमनेश विकल ने जानकारी देते हुए बताया कि पीड़िता की शिकायत के आधार पर उसके पति, देवर, ननद और सास-ससुर के खिलाफ मुकदमा केस दर्ज कर लिया गया है। मामले में जांच की जा रही है, उसी के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

First published on: Nov 12, 2023 03:30 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें