Monday, November 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

India Mobile Congress 2022: रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने कहा- ‘5G एक ‘डिजिटल कामधेनु’ की तरह है’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नई दिल्ली के प्रगति मैदान में इंडिया मोबाइल कांग्रेस (IMC) के छठे संस्करण का उद्घाटन किया है।

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को नई दिल्ली के प्रगति मैदान में इंडिया मोबाइल कांग्रेस (IMC) के छठे संस्करण का उद्घाटन किया। इस दौरान पीएम ने भारत में 5G सेवाओं का शुभारंभ किया। शुरुआती चरण में 5G सर्विस 13 शहरों में शुरू की जाएगी।

5G दूरसंचार सेवाएं हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिवटी देगी। देश के तीन प्रमुख दूरसंचार ऑपरेटरों ने भारत में 5जी तकनीक की क्षमता दिखाने के लिए प्रधानमंत्री के सामने डेमो दिया।

अभी पढ़ें Stock Market Opening: भारतीय शेयर बाजार में सपाट शुरुआत, लाल निशान पर Sensex तो हरे निशान पर Nifty

मुकेश अंबानी का विशेष संबोधन

इस दौरान रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने भी विशेष संबोधन दिया। उन्होंने कहा- भारत मोबाइल कांग्रेस के छठे संस्करण के आयोजन के लिए डीओटी और सीओएआई को मेरी हार्दिक बधाई। मैं आज पूरे दिल से कह सकता हूं कि भारतीय दूरसंचार उद्योग के रूप में हमने जो दिखाया है, मुझे बहुत गर्व महसूस हो रहा है। मैं सीओएआई और डीओटी दोनों से कह सकता हूं कि हम अब नेतृत्व के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा- भारतीय मोबाइल कांग्रेस को अब एशियन मोबाइल कांग्रेस और ग्लोबल मोबाइल कांग्रेस बनना चाहिए।

मुकेश अंबानी ने कहा- आज का दिन भी बहुत खास है क्योंकि यह आजादी का अमृत महोत्सव के हमारे राष्ट्रीय उत्सव के साथ मेल खाता है। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2047 तक भारत को एक विकसित राष्ट्र बनाने का एक प्रेरक दृष्टिकोण साझा किया है। सरकार की हर नीति और हर कार्यवाही को भारत को उस लक्ष्य की ओर ले जाने के लिए कुशलता से तैयार किया गया है।

राष्ट्र को बदल सकता है 

मुकेश अंबानी ने अपने संबोधन में आगे कहा- 5G युग में भारत के मार्च को तेजी से ट्रैक करने के लिए उठाए गए कदम हमारे प्रधानमंत्री के संकल्प का प्रमाण प्रदान करते हैं। यह सबसे अधिक खुशी की बात है क्योंकि 5G कनेक्टिविटी प्रौद्योगिकी की अगली पीढ़ी से कहीं अधिक है। मेरे विचार से यह एक मूलभूत तकनीक है जो 21वीं सदी की अन्य तकनीकों जैसे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ऑफ थिंग्स, रोबोटिक्स, ब्लॉकचैन और मेटावर्स की पूरी क्षमता को अनलॉक करता है। मुझे लगता है कि 5G ‘5 लक्ष्यों’ के लिए एक संक्षिप्त रूप है जो मौलिक रूप से हमारे राष्ट्र को बदल सकता है। मुकेश अंबानी ने 5G सेवा के 5 लक्ष्य इस प्रकार बताए।

1. 5G और 5G- सक्षम डिजिटल समाधान सस्ती और उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा ला सकते हैं और आम भारतीयों की पहुंच के भीतर कौशल विकास को बढ़ावा दे सकते हैं। इससे युवा भारतीयों को मदद मिलेगी।

2. 5G ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में किफायती रूप से उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवा प्रदान कर सकता है। इसकी मदद से बिना किसी अतिरिक्त निवेश के मौजूदा अस्पतालों को स्मार्ट अस्पतालों में बदला जा सकता है। भारत में कहीं भी सर्वश्रेष्ठ डॉक्टरों की सेवाएं डिजिटल रूप से उपलब्ध होंगी। यह सभी भारतीयों के स्वास्थ्य, धन और खुशी में वृद्धि करेगा।

3. 5G डिजिटलीकरण में तेजी लाकर शहरी और ग्रामीण भारत के बीच की खाई को पाट सकता है। यह कृषि, सेवाओं, व्यापार, उद्योग, अनौपचारिक क्षेत्र का डेटा प्रबंधन, परिवहन और ऊर्जा अवसंरचना में बड़ी क्षमता पैदा करेगा।

4. 5G लघु उद्योग को समान शक्तिशाली उत्पादकता उपकरण उपलब्ध करा सकता है। इससे भारत की अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों के आधुनिकीकरण को बढ़ावा मिलेगा।

अभी पढ़ें Aadhaar का इस्तेमाल करते समय क्या करें और क्या न करें? इसको लेकर UIDAI ने जारी किया सर्कुलर

5. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को हर क्षेत्र में लाकर 5G भारत के उभरने को शक्ति प्रदान कर सकता है। इससे भारत को उच्च मूल्य वर्धित डिजिटल समाधानों और सेवाओं का एक प्रमुख निर्यातक बनने में मदद मिलेगी।

इन पांच लक्ष्यों को प्राप्त करने से हमारे देश में उद्यमिता तेजी से बढ़ेगी, जो बदले में और भी बड़े निवेश को आकर्षित कर हमारे युवाओं के लिए लाखों नए रोजगार पैदा करेगा।

अग्रणी डिजिटल समाज बन सकता है भारत

अंबानी ने आगे कहा- जनसांख्यिकी और डिजिटल प्रौद्योगिकियों की संयुक्त शक्ति का उपयोग करके भारत एक बेंचमार्क स्थापित करते हुए दुनिया का अग्रणी डिजिटल समाज बन सकता है। लक्ष्य के साथ 2047 तक भारत की अर्थव्यवस्था को 3 ट्रिलियन डॉलर से ऊपर और प्रति व्यक्ति आय को $2,000 से तेजी से बढ़ाकर $20,000 से अधिक करेगा।

इसलिए यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि 5जी एक ‘डिजिटल कामधेनु’ की तरह है। भारत में 5G का रोलआउट भारत के दूरसंचार इतिहास में कोई सामान्य घटना नहीं है। उन्होंने आगे कहा- हो सकता है ये भारत में थोड़ी देर से शुरू हुई हों, लेकिन मैं आप सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम 5G सेवाओं को शुरू करके सबसे पहले समाप्त करेंगे हम यह सुनिश्चित करेंगे कि हमारे पास दुनिया में किसी और की तुलना में उच्चतम गुणवत्ता और सबसे सस्ती दरें उपलब्ध हों। आज मैं दिसंबर 2023 तक हमारे देश के हर शहर, हर तहसील और हर तालुका में 5G पहुंचाने की Jio की प्रतिबद्धता को दोहराना चाहता हूं।

 

अभी पढ़ें – बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -