Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

आप भी आज ही करें ये उपाय तो मिलेगा भोले बाबा का आशीर्वाद हर मुश्किल होगी आसान

Shivpuran ke Upay: शिवपुराण में भगवान शिव से जुड़ी अनेकों कहानियों को रोचक अंदाज में पिरोया गया है। इसी शास्त्र में बहुत से ऐसे मंत्र तथा उपाय भी बताए गए हैं जिनके माध्यम से महादेव को सहज ही प्रसन्न किया जा सकता है। आपकी कोई भी समस्या हो, आप उन सभी समस्याओं का समाधान शिव […]

Edited By : Sunil Sharma | Updated: Sep 3, 2023 21:05
Share :
Pandit Suresh Pandey, Jyotish tips, shivji ke upay, shivpuran ke upay, sawan ke upay

Shivpuran ke Upay: शिवपुराण में भगवान शिव से जुड़ी अनेकों कहानियों को रोचक अंदाज में पिरोया गया है। इसी शास्त्र में बहुत से ऐसे मंत्र तथा उपाय भी बताए गए हैं जिनके माध्यम से महादेव को सहज ही प्रसन्न किया जा सकता है। आपकी कोई भी समस्या हो, आप उन सभी समस्याओं का समाधान शिव पुराण में पा सकते हैं। यदि इन उपायों को सोमवार अथवा प्रदोष के दिन या सावन माह में किया जाए तो निश्चित रूप से आपको हर जगह सफलता मिलेगी। ज्योतिषाचार्य पंडित रामदास से जानिए शिवपुराण के इन उपायों के बारे में

यह भी पढ़ें: Pradosh Vrat: त्रयोदशी पर ऐसे करें शिव की पूजा तो बनेगा महाराजयोग, जो चाहेंगे, पा लेंगे

इन उपायों से दूर होंगे सारे कष्ट (Shivpuran ke Upay)

गंगाजल से करें शिवलिंग का अभिषेक

यदि आपकी कोई ऐसी मनोकामना है जो पूरी नहीं हो पा रही हैं तो शिवजी का यह उपाय अवश्य करना चाहिए। सोमवार अथवा किसी अन्य शुभ मुहूर्त से आरंभ कर प्रतिदिन शिवलिंग का गंगाजल से अभिषेक करें। महादेव का चंदन से श्रृंगार करें तथा उन्हें 108 बिल्व पत्र अर्पित कर पंचाक्षरी मंत्र का 1100 बार जप करें। इस उपाय को 108 दिनों तक करने पर हर समस्या दूर हो जाती है।

रोग तथा पीड़ा के नाश के लिए

कोई असाध्य रोग हो जाए अथवा दवाईयां काम नहीं करें या प्राणों पर संकट बन जाए तो सोमवार के दिन से रात्रि 9 बजे बाद शिवलिंग का दूध मिश्रित जल से अभिषेक करते हुए त्र्यक्षरी मंत्र ॐ जूं सः का 108 बार जप करें। इस उपाय को प्रतिदिन तब तक करते रहे जब तक रोग अथवा पीड़ा शांत न हो जाएं।

यह भी पढ़ें: Jyotish Tips: इस एक फूल से पूजा करते ही पूरी होंगी सभी मनोकामनाएं, जानिए क्या करना है

मानसिक शांति के लिए

सुबह ब्रह्ममुहूर्त के समय किसी मंदिर तथा पवित्र स्थान पर लगे हुए पीपल, बरगद अथवा अन्य किसी विशाल वृक्ष को जल सीचें। उसके नीचे बैठे और वहीं पर बैठे-बैठे थोड़ी देर मन ही मन भगवान से शांति देने की प्रार्थना करें। इससे आपका क्रोध, मानसिक पीड़ा, दुख कम होंगे और आपका दिमाग शांत होगा।

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Sep 03, 2023 08:11 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें