Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

Pradosh Vrat: त्रयोदशी पर ऐसे करें शिव की पूजा तो बनेगा महाराजयोग, जो चाहेंगे, पा लेंगे

Pradosh Vrat and Shivji Ke Upay: बैसाख माह की त्रयोदशी (अथवा प्रदोष) तिथि 3 मई 2023 (बुधवार) को आ रही है। आगमों व पुराणों में त्रयोदशी तिथि भगवान भोलेनाथ को समर्पित की गई है। यही कारण है कि इस दिन महादेव का अभिषेक किया जाता है, उनकी विशेष पूजा की जाती है। ज्योतिषीय मान्यताओं के […]

Edited By : Sunil Sharma | Updated: May 3, 2023 11:25
Share :
shivji ke upay, pradosh vrat, pradosh vrat puja vidhi, pradosh ke upay, trayodashi vrat,

Pradosh Vrat and Shivji Ke Upay: बैसाख माह की त्रयोदशी (अथवा प्रदोष) तिथि 3 मई 2023 (बुधवार) को आ रही है। आगमों व पुराणों में त्रयोदशी तिथि भगवान भोलेनाथ को समर्पित की गई है। यही कारण है कि इस दिन महादेव का अभिषेक किया जाता है, उनकी विशेष पूजा की जाती है। ज्योतिषीय मान्यताओं के अनुसार इस दिन व्रत एवं शिव की आराधना करने पर विशेष फल की प्राप्ति होती है। ऐसे भक्तों को मोक्ष तो मिलता ही है, वे इस पृथ्वी पर भी समस्त प्रकार के सुख व सौभाग्य प्राप्त करते हैं। जानिए त्रयोदशी व्रत की पूजा के शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और मंत्र।

यह भी पढ़ेंः Shiv ji ke Upay: पूरे साल में सिर्फ एक बार करें ये उपाय, साक्षात लक्ष्मी घर चलकर आएगी

त्रयोदशी पर ऐसे करें शिव की पूजा (Pradosh Vrat par Shiv ki Puja Kaise Kare)

महादेव सभी देवों के भी देव हैं, इस पूरी सृष्टि में ऐसी कोई चीज या वरदान नहीं, जो वह नहीं दे सकते हैं। यही कारण है कि देवता, मनुष्य, राक्षस सभी उनकी पूजा करते हैं। आप यदि किसी विशेष उद्देश्य को लेकर उनकी आराधना करना चाहते हैं तो प्रदोष पर रुद्राभिषेक करवा सकते हैं या सहस्रघट करवा सकते हैं।

यदि आपकी इतनी सामर्थ्य नहीं है तो आप अपने घर के निकट किसी शिव मंदिर में जाकर भी पूजा कर सकते हैं। इसके लिए मंदिर में जाकर शिवलिंग व शिव पंचायत को गंगाजल व पंचगव्य से स्नान कराएं। शिवलिंग, मां पार्वती, गणेशजी, कार्तिकेय व नंदी को पुष्प, माला, प्रसाद आदि अर्पित करें। इसके बाद उनकी आरती करें और यथासंभव उनके पंचाक्षरी मंत्र “ॐ नमः शिवाय” का अधिकतम जप करें। इस प्रकार आपकी पूजा पूर्ण होगी। कहा जाता है कि शिव की पूजा समस्त फलों को देने वाली है। यही नहीं, उनकी आराधना से जन्मकुंडली में महाराजयोग का निर्माण हो सकता है।

यह भी पढ़ें: घर में ऐसे लगाएं तुलसी तो चमक उठेगा भाग्य, सभी देवता पूरी करेंगे आपकी इच्छाएं

त्रयोदशी पर करें ये उपाय (Shivji Ke Upay)

अलग-अलग उद्देश्यों के लिए भगवान शिव का अलग-अलग वस्तुओं से अभिषेक करने का विधान बताया गया है। समस्त सुखों की प्राप्ति के लिए दूध से, कॅरियर में ग्रोथ के लिए गन्ने के जूस से, किसी विशेष इच्छा की पूर्ति के लिए पांच अलग-अलग फलों के जूस से, धन की प्राप्ति के लिए शहद अथवा घी से अभिषेक करना चाहिए। आप भी किसी योग्य विद्वान की सहायता से इनमें से कोई भी एक उपाय कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Shiv Puran ke Upay: बड़े-से-बड़े संकट की काट हैं प्रदोष के उपाय परन्तु रखें ये सावधानियां

प्रदोष पर करें इन नियमों का पालन

यूं तो बाबा भोलेनाथ श्मशान में रहने वाले हैं। उनके लिए कुछ भी भक्ष्य या अभक्ष्य नहीं हैं, उन्हें सच्चे मन से जो भी चढ़ाया जाएगा, वह उसे ग्रहण कर लेंगे। फिर भी कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ये निम्न प्रकार हैं-

  • इस दिन केवल फलाहार करें, स्वास्थ्य संबंधी कारण होने पर इस नियम को भंग जा सकता है।
  • मांस, मदिरा, अंडा, शराब, नशीले पदार्थों आदि का सेवन भूल से भी न करें।
  • प्रदोष व्रत के दिन पूरे नियम और ब्रह्मचर्य के साथ रहें। मन में किसी भी तरह का बुरा विचार न लाएं।
  • इस दिन जितना संभव हो, दूसरों की सहायता करें। किसी का भी तिरस्कार या अपनान न करें।

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: May 03, 2023 11:24 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें