Sunday, 25 February, 2024

---विज्ञापन---

साल का आखिरी शनिवार आज, करें 5 आसान उपाय, शनिदेव चमकाएंगे तकदीर!

Shaniwar ke upay: आज इस साल का आखिरी शनिवार है। शनि देव की कृपा पाने के लिए 5 उपाय आपके लिए रामबाण साबित हो सकते हैं। यहां जानिए शनिवार के पांच आसान उपाय।

Edited By : Dipesh Thakur | Updated: Dec 30, 2023 08:58
Share :
Shaniwar ke upay

Shaniwar Ke 5 Upay: आज 2023 का आखिरी शनिवार है। यह दिन सूर्य पुत्र शनि देव को समर्पित है, जो कि कर्म फलदाता कहे गए हैं। कहा जाता है कि शनि देव की कृपा पाने के लिए इंसान को अपना कर्म (काम) अच्छा करना चाहिए। जो व्यक्ति अपना हर कार्य सही तरीका से करता है, उसे निश्चित ही शनि देव की कृपा प्राप्त होती है। हलांकि कई बार अनजाने में कर्म को लेकर कुछ गलतियां हो जाती हैं। ऐसे में शनिवार को कुछ उपायों को करने से शनि देव की विशेष कृपा पाई जा सकती है। आइए जानते हैं कि साल 2023 के आखिरी दिन किस प्रकार प्रसन्न कर सकते हैं।

शनिवार के 5 उपाय

शनिवार हनुमान जी से जुड़ा भी है। मान्यतानुसार, शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ करने से हनुमान जी के साथ-साथ शनि देव की कृपा भी प्राप्त होती है। ऐसे में घर या किसी हनुमान मंदिर में स्नान के बाद शुद्ध आसान पर बैठकर कम के कम एक बार शुद्ध मन से हनुमान चालीसा का पाठ करें।

शनि देव की कृपा पाने के लिए आज स्नान के बाद पीपल के वृक्ष में जल अर्पित करें। माना जाता है कि पीपल में सभी देवी-देवताओं का वास है। ऐसे में आज पीपल में जल देने के साथ ही कम से कम 3 बार परिक्रमा करें। साथ ही मन ही मन शनि देव से प्रार्थना करें कि जाने-अनाजाने में की गई गलतिओं को माफ करें।

शनि देव को प्रसन्न करने लिए आज शनि-मंदिर में जाकर वहां सरसों या तिल के तेल का दीया जलाएं। काले रंग का कपड़ा पहनकर शनि मंदिर जाएंगे तो अच्छा रहेगा। शनिवार को काले तिल, लोहे के बर्तन, काले कंबल, उड़द-दाल इत्यादि दान करने से भी उनकी कृपा प्राप्त होगी।

शनि, कर्म के देवता कहे गए हैं। ऐसे में जो बिना स्वार्थ के गरीबों या जरुरतमंदो के बीच दान करते हैं, उन्हें शनि देव की विशेष कृपा प्राप्त होती है। ऐसे में आज साल के आखिरी शनिवार को ऐसा करके शनि देव की कृपा प्राप्त कर सकते हैं।

साल के आखिरी शनिवार को यानी आज शनि मंदिर में जाकर शनि स्तोत्र का पाठ और शनि मंत्र का जाप करें। ‘ओम् शं शनैश्चराय नमः’ शनि का सबसे आसान मंत्र है। इसका 108 बार जाप करें। दशरथ कृत शनिस्तोत्र का पाठ करना अच्छा रहेगा।

यह भी पढ़ें: शनि की चाल से किन राशियों को रहना होगा सावधान!

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है।News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Dec 30, 2023 07:54 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें