Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

हनुमान जी क्यों भूल जाते थे अपनी शक्तियां, पढ़ें दिलचस्प कहानी

Ram Katha Interesting Facts: हनुमान जी अपनी शक्तियों को भूल जाते थे ऐसा क्यों आइए खबर में विस्तार से जानते हैं।

Edited By : Raghvendra Tiwari | Updated: Jan 19, 2024 20:27
Share :
Ram Katha Interesting Facts

Ram Katha Interesting Facts: राम सिया राम… जय श्रीराम! हम हर रोज श्रीराम जी की कथा, किस्सों के बारे में बता रहे हैं। आज इस खबर में बताएंगे हनुमान जी की कथा कि वे अपनी शक्तियों को क्यों भूल जाते थे।
राम भक्त हनुमान जी को सभी लोग जानते हैं कि वे बहुत ही शक्तिशाली थे। यहां तक की हनुमान जी ने लंका में भी बहुत उपद्रव मचाया था, लेकिन पौराणिक कथाओं के अनुसार, जब भी श्रीराम जी का कोई काम करने के लिए हनुमान जी से कहा जाता था तो वो अपनी शक्तियों को भूल जाते थे। ऐसा क्या कारण था जो हनुमान जी अपनी शक्तियों को भूल जाते थे। तो आइए विस्तार से जानते हैं हनुमान जी के बारे में…

श्रीराम भक्त हनुमान को मिली थीं ये शक्तियां

पौराणिक कथाओं के अनुसार, हनुमान जी को बहुत सारे देवी-देवताओं से कई तरह की शक्तियां वरदान में मिली थीं। सभी देवी-देवता ने बजरंग बली को वरदान के रूप में कई तरह के अस्त्र-शस्त्र और शक्तियां प्रदान की थीं। कहा जाता है कि हनुमान जी के पास जो गदा थी, वह धन के देवता कुबेर महाराज से मिली थी। हनुमान जी की गदा में कई प्रकार की शक्तियां समाहित थीं।Ram Katha

यह भी पढ़ें- क्या आप जानते हैं भगवान राम के धनुष का नाम? अर्जुन-श्रीकृष्ण का भी जान लें

बचपन में बहुत ज्यादा शरारती थे हनुमान जी

कहा जाता है कि हनुमान जी बचपन में बहुत ज्यादा ही शरारती और नटखट थे। ऐसा इसलिए था क्योंकि हनुमान जी ठहरे वानर और वानर कभी शांत रह नहीं सकता है। दूसरी ओर इन्हें सभी देवी-देवताओं से कई तरह की शक्तियां मिली हुई थीं और वहीं बचपन में सभी शरारती ही होते हैं।

हनुमान जी बचपन में किसी भी बाग-बगीचे में घुस जाते थे और फल-फूल तोड़ कर बगीचे को तहस नहस कर देते थे। यही नहीं कभी – कभी तो ये किसी की गोद में जाकर बैठ जाते थे।Ram Katha

हनुमान जी को शक्तियां भूलने का क्या था कारण

पौराणिक कथाओं के अनुसार, जब हनुमान जी छोटे थे तो बहुत ज्यादा शरारती थे। शरारती होने के कारण वे ऋषि-मुनिओं के आश्रम में घुस जाते थे और उन्हें तंग किया करते थे, कभी उनका कमंडल लेकर भाग जाते थे तो कभी कमंडल का सारा पानी गिरा देते थे।

एक बार की बात है कि ऋषि अंगिरा और भृंग वंश के ऋषि आश्रम में तपस्या कर रहे थे। तभी उस समय हनुमान जी ने आकर उन ऋषि-मुनियों की तपस्या भंग कर दी। सभी ऋषि गुस्से में में आ गए और हनुमान जी को श्राप दे दिया कि आप अपनी सारी शक्तियां भूल जाएंगे। कहा जाता है कि इन्हीं ऋषि मुनियों के श्राप के कारण हनुमान जी अपनी शक्तियों को भूल जाते थे।

यह भी पढ़ें- श्रीराम ने क्यों मारा महाबली बालि को बाण, जानें ये रोचक कथा

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी धर्मग्रंथों पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है।News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Jan 17, 2024 07:41 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें