Tuesday, February 7, 2023
- विज्ञापन -

Latest Posts

Mokshada Ekadashi: एकादशी पर करें ये उपाय तो खरीद पाएंगे खुद की प्रोपर्टी, यह है तरीका

Mokshada Ekadashi Ke Upay: पौराणिक मान्यताओं में ऐसे कई उपाय हैं जिन्हें किसी भी एकादशी पर कर लिया जाए तो व्यक्ति का भाग्य बदल जाता है।

Mokshada Ekadashi Ke Upay: सनातन धर्म में एकादशी की तिथि को अत्यन्त पवित्र माना गया है। पंचांग के अनुसार स्मार्त मत से मोक्षदा एकादशी आज शनिवार (3 दिसंबर 2022) को मनाई जा रही है। वैष्णव मत से एकादशी रविवार 4 दिसंबर 2022 को मनाई जाएगी। मोक्षदा एकादशी के दिन ही भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को श्रीमद्भागवत गीता का उपदेश दिया था। इसी कारण इसे गीता जयंती पर्व भी कहा जाता है।

पौराणिक मान्यताओं में ऐसे कई उपाय बताए गए हैं जिन्हें किसी भी एकादशी पर कर लिया जाए तो व्यक्ति के भाग्य को बदलते देर नहीं लगती। ये सभी उपाय करने में बहुत सरल हैं और इन्हें करते ही तुरंत असर दिखाई देता है। जानिए मोक्षदा एकादशी के ऐसे ही कुछ टोटकों (Ekadashi Ke Upay) के बारे में

मोक्षदा एकादशी और गीता जयंती पर करें ये उपाय (Mokshada Ekadashi Ke Upay)

यह भी पढ़ेंः Mokshada Ekadashi: 3 दिसंबर को है मोक्षदा एकादशी और गीता जयंती, इन उपायों से दूर होगा हर संकट

इस दिन एकादशी का व्रत करें और सुबह जल्दी उठ कर श्रीमद्भागवत गीता का पाठ करें। इस उपाय से पितरों को मोक्ष प्राप्त होता है और उनके आशीर्वाद से घर-परिवार की तरक्की होती है।

यदि संभव हो तो अपने घर में श्रीमद्भागवत गीता का पाठ कराएं तथा इसके किसी एक अध्याय का हवन भी करवाएं। इससे घर में मौजूद सभी नेगेटिव शक्तियां समाप्त होती हैं। किसी कारण से घर में आ गई बुरी शक्तियों को भगाने के लिए यह सर्वोत्तम उपाय है।

ज्योतिष के अनुसार (Jyotish Tips) मोक्षदा एकादशी के दिन भगवान विष्णु की मां लक्ष्मी के साथ पूजा करनी चाहिए। उनके ललाट पर पीले चंदन से तिलक लगाएं, पीले वस्त्र धारण करवाएं, पीले रंग के पुष्प, मिठाई, फल आदि अर्पित करें। इस तरह विधिवत पूजा करने से मां लक्ष्मी अपने भक्तों पर प्रसन्न हो जाती हैं तथा उनकी प्रत्येक इच्छा पूर्ण करती हैं। यदि कोई व्यक्ति अपनी खुद की प्रोपर्टी खरीदना चाहता है तो इसके लिए उसे लगातार 108 एकादशियों तक इस उपाय को करना चाहिए।

यह भी पढ़ेंः Jyotish Tips: किसी भी देवता को चढ़ा दें यह पुष्प, तुरंत पूरी होगी हर मनोकामना

मोक्षदा एकादशी के दिन भगवान श्रीकृष्ण के रथ में बैठकर अर्जुन को गीता उपदेश करते हुए स्वरूप की पूजा करनी चाहिए। उनका यह स्वरूप समस्त पापों का नाश करने वाला और व्यक्ति को मोक्ष देने वाला है। इस एक उपाय से व्यक्ति को अन्य किसी पूजा-पाठ आदि की जरूरत नहीं पड़ती और उसके पाप नष्ट होकर उसे स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -