Saturday, 13 April, 2024

---विज्ञापन---

कहीं आप भी तो नहीं करते हनुमान चालीसा के पाठ में ये गलती, हो सकती है बड़ी हानि

hanumanchalisa ke Upay: ‘भूत-पिशाच निकट न आवे, महावीर जब नाम सुनावे’, इन पंक्तियों को पढ़ते ही मन का बड़े से बड़ा डर भी तुरंत दूर हो जाता है। हनुमानचालिसा की ये पंक्तियां किसी भी व्यक्ति को साहस और आत्मबल प्रदान करती हैं। यही कारण है कि हमारे घर के सभी बड़े-बुजुर्ग प्रतिदिन हनुमानचालिसा का पाठ […]

Edited By : Sunil Sharma | Updated: Aug 23, 2023 15:39
Share :
hanumanchalisa ke upay, hanumanji ki puja kaise kare, how to worship hanumanji, hanumanchalisa ke niyam, हनुमानचालिसा के उपाय

hanumanchalisa ke Upay: ‘भूत-पिशाच निकट न आवे, महावीर जब नाम सुनावे’, इन पंक्तियों को पढ़ते ही मन का बड़े से बड़ा डर भी तुरंत दूर हो जाता है। हनुमानचालिसा की ये पंक्तियां किसी भी व्यक्ति को साहस और आत्मबल प्रदान करती हैं। यही कारण है कि हमारे घर के सभी बड़े-बुजुर्ग प्रतिदिन हनुमानचालिसा का पाठ करने की सलाह देते हैं।

कई ज्योतिषी और विद्वान तो हनुमानचालिसा के प्रतिदिन कम से कम 51 बार पाठ करने की भी सलाह देते हैं। कुछ लोग ऐसा करते भी हैं और उन्हें इससे लाभ भी होता है। परन्तु क्या आप जानते हैं कि हनुमानचालिसा का पाठ करने के भी कुछ नियम होते हैं। ज्योतिषाचार्य पंडित रामदास से जानिए इन नियमों के बारे में

यह भी पढ़ें: Vastu Tips: मनीप्लांट नहीं इस पौधे को घर में लगाने से चमकेगा भाग्य, तुरंत दिखेगा चमत्कार

हनुमानचालिसा के पाठ से मिलते हैं ये फायदे (Hanumanchalisa ke upay and benefits)

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार गोस्वामी तुलसीदास ने हनुमानचालिसा की रचना की थी। इसके नियमित पाठ से घर में मौजूद सभी तरह की नेगेटिव एनर्जी दूर हो जाती है। साथ ही घर में भूत, प्रेत, पिशाच आदि नकारात्मक शक्तियों से भी हनुमानजी के भक्त सुरक्षित रहते हैं। सबसे बड़ी बात इसके लगातार पाठ से व्यक्ति में अपार आत्मबल आ जाता है जिसके दम पर वह बड़े से बड़े कठिन कार्य को भी पलक झपकते कर सकता है।

जो भी व्यक्ति सच्चे मन और श्रद्धा के साथ हनुमानचालिसा का पाठ करता है, उसमें तेज आता है। इसके पाठ से व्यक्ति में सकारात्मक ऊर्जा आती है। उसके सभी कार्य स्वतः ही होते चले जाते हैं। यही नहीं, वह जहां भी जाता है, वहीं पर सुख और शांति का आगमन होता है।

यह भी पढ़ें: गुलाब के फूल का यह टोटका पल भर में बदलेगा किस्मत, आप भी आजमा कर देखें

हनुमानचालिसा के पाठ में ध्यान रखें ये नियम (Hanumanchalisa ke Niyam)

कभी भी अपवित्र स्थिति में हनुमानचालिसा का पाठ नहीं करना चाहिए। ऐसा करना आपके लिए घातक सिद्ध हो सकता है। यदि आप किसी संकट में फंसे हुए हैं, और शुद्धता का ध्यान नहीं रख सकते तो आपात स्थिति में इस नियम का उल्लंघन किया जा सकता है। जो भी हनुमानचालिसा का पाठ करते हैं, उन्हें कभी भी किसी भी दैवीय शक्ति का देवी-देवता का अपमान नहीं करना चाहिए। उसे स्त्रियों, बुजुर्गों तथा अन्य लोगों का अपमान नहीं करना चाहिए।

यदि आप किसी विशेष उद्देश्य की पूर्ति के लिए हनुमानचालिसा का पाठ कर रहे हैं तो आपको प्रतिदिन बजरंग बली की पूजा करनी चाहिए। उन्हें मूंग अथवा बेसन के लड्डू का भोग लगाना चाहिए। साथ ही उन्हें सुपारी, लाल पुष्प, माला आदि भी अर्पित करना चाहिए।

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

First published on: Apr 14, 2023 05:11 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें