---विज्ञापन---

शनिदेव की कृपा रुकी है तो करें ये 5 उपाय, जिंदगी में बनी रहेगी सुख-शांति

Shani ke Fal: लोग शनि ग्रह से भयभीत रहते हैं, क्योंकि उनके बारे में यह भ्रांति बनी हुई है कि वे एक अशुभ ग्रह हैं, जबकि यह धारणा गलत है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, शनि जब स्वयं पीड़ित होते हैं, तभी नकारात्मक फल देते हैं। आइए जानते हैं, शनिदेव को मजबूत बनाने और उन्हें प्रसन्न करने के लिए क्या उपाय करने चाहिए?

Edited By : Shyam Nandan | Updated: Jun 14, 2024 16:11
Share :
Shani-Grah-ke-Upay

Shani ke Fal: शनि ग्रह को लेकर लोगों में एक नकारात्मक धारणा बनी हुई है कि वे एक अशुभ ग्रह हैं। यह एक भ्रांति है, क्योंकि केवल शनिदेव ही नहीं, कोई भी ग्रह जब अशुभ भाव में होते हैं या अशुभ भावों में बैठे ग्रहों से दृष्ट होते हैं या उन पर राहु-केतु की दृष्टि होती है, तो वे पीड़ित होकर नकारात्मक फल देते हैं। यह नियम शनि ग्रह पर भी लागू होता है। सामान्य तौर पर जब शनि अन्य ग्रहों की तरह शुभ या उच्च के होते हैं, तो वे रंक को राजा बना देते हैं। आइए जानते हैं, शनि ग्रह कौन-सा फल देते हैं और यदि उनकी कृपा रुकी है, तो क्या उपाय करना चाहिए, ताकि जीवन में सुख-शांति बनी रहे?

शनि ग्रह के शुभ फल

शनि ग्रह के शुभ प्रभाव से व्यक्ति मेहनतकश और लगनशील होते हैं। इससे करियर और अन्य कार्यों में सफलता मिलती है। कुंडली में उनकी मजबूत स्थिति से अपार धन की प्राप्ति होती है। शनि का संबंध लोकतंत्र, विशेष कर निम्न सदन लोकसभा से है, इसलिए वे राजनीति से जुड़े जातकों को उनकी मेहनत के अनुसार, लोकसभा में पहुंचाते हैं। वे आयु के स्वामी ग्रह हैं, उनकी कृपा से व्यक्ति को लंबी आयु होती है और अच्छी सेहत प्राप्त होती है।

शनि ग्रह के अशुभ फल

जब कुंडली में शनि अशुभ और पीड़ित होते हैं, तो अनेक प्रकार के कष्ट, दुःख, पीड़ा और बीमारियां आदि होती हैं। उनके अशुभ असर से व्यक्ति का अपमान और अनादर होता है। मंगल की अशुभ दृष्टि शनि पर पड़ने से व्यक्ति दुर्घटना और विकलांगता के शिकार हो सकते हैं। शनि के अधिक पीड़ित होने से वृद्धावस्था समय से पहले आ जाती है। जातक अनैतिक कामों में लिप्त हो सकता है।

शनि ग्रह को मजबूत करने के उपाय

धतूरे की जड़ के उपाय: वैदिक ज्योतिष में धतूरे की जड़ का संबंध शनि ग्रह से बताया गया है। इसकी जड़ की ताबीज बनाकर पहनने से शनि ग्रह मजबूत होते हैं।

नीलम रत्न के उपाय: ज्योतिष शास्त्र की विशेष शाखा रत्न विज्ञान के अनुसार, नीलम रत्न धारण करने से शनि ग्रह शांत होते हैं और शुभ फल देते हैं। इसे अनुभवी और योग्य ज्योतिष या पंडित की बताई गई विधि के अनुसार पहनना चाहिए।

रुद्राक्ष के उपाय: सभी रुद्राक्षों में सातमुखी रुद्राक्ष का संबंध शनि ग्रह से माना गया है। इसे भी ज्योतिष या पंडित की सलाह पर धारण करने से व्यक्ति को शनि कृपा प्राप्त होती है।

शनि यंत्र के उपाय: घर में शनि यंत्र की स्थापना करने से घर, परिवार और जीवन में सुख-शांति, सौभाग्य और समृद्धि में वृद्धि होती है।

पीपल और शमी वृक्ष के उपाय: शनि ग्रह की शांति के लिए न केवल पीपल और शमी वृक्ष की पूजा करनी चाहिए, बल्कि इन वृक्षों का रोपण भी करना चाहिए।

ये भी पढ़ें: शुक्र ग्रह चमकाएंगे इन 3 राशियों का सितारा, जानें कौन-सा रत्न पहनने से तुरंत मिलेगा लाभ

ये भी पढ़ें: अपनी राशि के रंग के अनुसार खरीदें फ्रिज, हमेशा बनी रहेगी मां लक्ष्मी की कृपा

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष शास्त्र की मान्यताओं पर आधारित हैं और केवल जानकारी के लिए दी जा रही है। News24 इसकी पुष्टि नहीं करता है।

First published on: Jun 14, 2024 04:11 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें