---विज्ञापन---

Pakistan mosque blast: पेशावर मस्जिद ब्लास्ट में मरने वालों की संख्या 83 हुई, पूरे घटनाक्रम को शुरुआत से जानें

Pakistan mosque blast: पाकिस्तान की मस्जिद में हुए विस्फोट में मरने वालों की संख्या बढ़कर 83 हो गई है। पेशावर में एक अस्पताल के प्रवक्ता के अनुसार, सोमवार को हुए विस्फोट में घायल हुए 57 लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है। पेशावर में मस्जिद के अंदर करीब 400 नमाजी मौजूद थे, जब एक […]

Edited By : Nitin Arora | Updated: Jan 31, 2023 14:54
Share :

Pakistan mosque blast: पाकिस्तान की मस्जिद में हुए विस्फोट में मरने वालों की संख्या बढ़कर 83 हो गई है। पेशावर में एक अस्पताल के प्रवक्ता के अनुसार, सोमवार को हुए विस्फोट में घायल हुए 57 लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है। पेशावर में मस्जिद के अंदर करीब 400 नमाजी मौजूद थे, जब एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। मृतकों में 27 पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं।

दक्षिण एशियाई देश की अर्थव्यवस्था के लिए फंडिंग को अनलॉक करने पर बातचीत शुरू करने के लिए इस्लामाबाद में एक अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) मिशन के एक दिन पहले विस्फोट हुआ।

और पढ़िए –Indian Economy: भारत के लिए अच्छी खबर, IMF ने कहा- अमेरिका और चीन को पछाड़ देगी भारत की GDP ग्रोथ

पेशावर मस्जिद विस्फोट, कब क्या हुआ?

  • सोमवार दोपहर करीब 1.40 बजे, पाकिस्तान के पेशावर में एक अत्यधिक किलेबंद सुरक्षा परिसर में एक भीड़ भरी मस्जिद के अंदर एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया। हमलावर ‘रेड ज़ोन’ परिसर में जाने के लिए सुरक्षा बलों द्वारा संचालित कई बैरिकेड्स से गुजरा, जिसमें पुलिस और आतंकवाद-रोधी कार्यालय हैं।
  • प्रारंभिक मौत की संख्या 17 थी, जबकि अन्य लोग गंभीर चोटों के साथ अस्पताल में भर्ती थे। वीडियो में पुलिस और बचावकर्मियों द्वारा घायलों को अस्पतालों तक पहुंचाने के लिए कड़ी मशक्कत के दौरान अराजक दृश्य दिखाई दिए।
  • विस्फोट से मस्जिद की ऊपरी मंजिल नीचे आ गई, जिससे दर्जनों नमाजी मलबे में फंस गए। बचावकर्मी ढही हुई छत को काटकर नीचे उतरने और मलबे में फंसे लोगों को निकालने के लिए संघर्ष कर रहे थे।
  • तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के रूप में जाना जाने वाला स्थानीय तालिबान, सुन्नी और सांप्रदायिक आतंकवादी समूहों के ग्रूप ने हमले की जिम्मेदारी से इनकार कर दिया। टीटीपी ने एक बयान में कहा, ‘तहरीक-ए-तालिबान का इस हमले से कोई लेना-देना नहीं है।’ बता दें कि इस बात की जांच की जा रही है कि हमलावर ने इतने संभ्रांत सुरक्षा घेरे को कैसे तोड़ा और क्या अंदर से कोई मदद मिली थी।
  • प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने हमले की निंदा करते हुए कहा, मानव त्रासदी का विशाल स्तर अकल्पनीय है। यह पाकिस्तान पर हमले से कम नहीं है, मुझे इसमें कोई संदेह नहीं है कि आतंकवाद हमारी सबसे बड़ी राष्ट्रीय सुरक्षा चुनौती है।

और पढ़िए – दुनिया से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Jan 31, 2023 11:58 AM
संबंधित खबरें