---विज्ञापन---

सिरफिरा आशिक! फिल्म देखकर एक्ट्रेस के प्यार में ऐसा डूबा, US राष्‍ट्रपत‍ि को मार दी थी सीने में गोली

US President Murder Attempt Memoir: एक सिरफिरे आशिक ने आज के दिन ही दुनिया के सबसे बड़े देश अमेरिका में वो वारदात अंजाम दी थी, जिसे देखकर पुलिस वालों का दिल भी दहल गया था। उस कांड के लिए शख्स को दोषी करार नहीं दिया गया, लेकिन फिर भी उसे करीब 40 साल जेल में रखा गया।

Edited By : Khushbu Goyal | Updated: Mar 30, 2024 08:59
Share :
John Hinckley Jr. Former US President Ronald Reagan
John Hinckley Jr. Former US President Ronald Reagan

John Hinckley US President Murder Attempt Memoir: एक शख्स फिल्म देखकर एक्ट्रेस के प्यार में ऐसा पागल हुआ कि उसने राष्ट्रपति की हत्या करने का प्रयास किया। उसने 30 फीट की दूरी से राष्ट्रपति को 6 गोलियां मारीं, जिसमें से एक उनके सीने में लगी।

उसने ऐसी खौफनाक हरकत इसलिए की, क्योंकि वह एक्ट्रेस को इम्प्रेस करना चाहता था। हालांकि राष्ट्रपति की जान बच गई, लेकिन आरोपी सिरफिरे आशिक को जेल की सजा सुनाई गई। उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया और उसे राष्ट्रपति पर हमला करने का पछतावा भी थी।

पुलिस और कोर्ट ने उसे मानसिक रूप से बीमार माना और उसका इलाज कराने का आदेश दिया। करीब 40 साल जेल में रहने के बाद अच्छे व्यवहार के चलते उसे जेल से रिहा कर दिया गया। आज उस वारदात को 43 साल हो गए हैं, लेकिन राष्ट्रपति पर इस तरह सरेआम हुए हमले ने उस वक्त पुलिसवालों का दिल भी दहला दिया था।

 

30 मार्च 1981 को अमेरिकी राष्ट्रपति पर हुआ था हमला

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आज से 43 साल पहले 30 मार्च 1981 को उस समय के राष्ट्रपति Ronald Reagan पर हमला हुआ था। गोलियां चलाने वाले का नाम जॉन हिंकले जूनियर (John Hinckley) था। वाशिंगटन डीसी के बाहर कड़ी सुरक्षा के बीच उसने राष्ट्रपति पर हमला किया था। उन पर 6 गोलियां दागी गई थीं, जिसमें से एक गोली उनके सीने में लगी। उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाकर बचा लिया गया।

जून 2022 में हिंक्ले को 41 साल की सजा के बाद रिहा कर दिया गया। क्योंकि हिंक्ले एक्ट्रेस Jodie Foster के प्यार में ऐसा पागल था कि वह मानसिक रूप से बीमार हो गया था। उसकी हालत को देखते हुए कोर्ट ने उसे हत्या का प्रयास करने का दोषी नहीं माना, लेकिन उसे जेल में डाल दिया। 2 साल पहले ही उसे पूरी तक मुक्त किया गया। उसे वाशिंगटन के मेंटल हॉस्पिटल में भी रखा गया था, क्योंकि राष्ट्रपति को गोलियां मारने के बाद वह और ज्यादा डिप्रेशन में आ गया था।

 

क्या हुआ था उस दिन?

साल 1981 में अमेरिका के राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन थे। वे किसी कार्यक्रम में हिस्सा लेने एक होटल में आए थे। लौटते समय जब वे अपनी कार में बैठने लगे तो अचानक हिंकले सामने आ गया। उसके हाथ में जर्मनी में बनने वाली पिस्तौल रोएम थी, जिससे उसने ताबड़तोड़ 6 राउंड फायर किए।

रोनाल्ड रीगन ने उस वक्त बुलेटप्रूफ जैकेट नहीं पहनी थी, जबकि राष्ट्रपति कैनेडी की हत्या के बाद अमेरिका के राष्ट्रपति के लिए बुलेटप्रूफ जैकेट पहनना अनिवार्य कर दिया गया था, लेकिन रोनाल्ड रीगन ने उस दिन जैकेट नहीं पहनी थी, इसलिए एक गोली उनकी बुलेटप्रूफ कार से टकराकर सीने में घुस गई।

हमले में रोनाल्ड रीगन के अधिकारी जेम्स ब्रैडी, टिमोथी मैकार्थी और वाशिंगटन पुलिस अधिकारी थॉमस डेलहंटी गंभीर रूप से घायल हुए थे।

 

First published on: Mar 30, 2024 08:50 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें