Thursday, September 29, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Kanpur News: सेप्टिक टैंक में उतरे 3 मजदूरों की जहरीली गैस से दर्दनाक मौत, मचा कोहराम

तीनों टैंक के अंदर ही बेहोश हो गए। जानकारी होने पर जैसे-तैसे तीनों को बाहर निकाला गया। आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

Kanpur News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर जिले में रविवार दोपहर को एक दर्दनाक हादसा हो गया। यहां एक निर्माणाधीन मकान के सेप्टिक टैंक (Septic Tank) में उतरे तीन मजदूरों की मौत हो गई। मौत का कारण टैंक में जहरीली गैस (poisonous gas) बताई जा रही है। सूचना पर जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया। इलाका पुलिस ने तीनों के शवों को निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं घटना की जांच कराई जा रही है।

निर्माणाधीन मकान के टैंक में उतरे थे तीनों

यह हादसा कानपुर जिले के बर्रा स्थित मालवीय नगर में हुआ। यहां रहने वाले कुशल गुप्ता अपने घर का निर्माण करवा रहे थे। तभी यह हादसा हो गया। सूचना पर एसीपी गोविंद नगर विकास कुमार पांडेय भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने बताया कि घर में सेप्टिक टैंक बना हुआ है। इसमें मरम्मत का काम करने के लिए रविवार को शिवा तिवारी (25), अंकित पाल (28) और अमित कुमार (26) उतरे थे। तभी तीनों युवकों का दम घुटने लगा। वहीं मृतकों के परिवार वालों ने रास्ते में जाम लगाकर हंगामा किया। पुलिस ने किसी तरह से लोगों को शांत कराया।

टैंक में ही बेहोश हो गए तीनों मजदूर

आसपास के लोगों ने बताया कि तीनों टैंक के अंदर ही बेहोश हो गए। जानकारी होने पर जैसे-तैसे तीनों को बाहर निकाला गया। आनन-फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया। सूचना पर थाना पुलिस और अधिकारी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। वहीं तीनों युवकों के परिवार वालों में कोहराम मच गया। घटना के बाद मकान मालिक के भी होश उड़े हुए हैं।

आगरा में हुई पांच लोगों की मौत

बता दें कि सेप्टिक टैंक में जहरीली गैस से मौत का यह पहला मामला नहीं है। मार्च 2021 में यूपी के आगरा जिले के फतेहाबाद कस्बा स्थित परतापुर इलाके में एक सेप्टिक टैंक में उतरे पांच लोगों की दर्दनाक मौत हो गई थी। घर में पहले से एक टैंक था। उसके पास में तीन दिन पहले एक और टैंक खोदा गया था। इसमें पहले वाले टैंक से पानी रिस कर आ रहा था। उसे बंद करने के लिए पहले एक युवक टैंक में उतरा। वह बेहोश हो गया। इसके बाद उसे बचाने के लिए एक एक करके चार लोग और उतरे, लेकिन जहरीली गैस से पांचों लोगों की मौत हो गई थी।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -