Monday, February 6, 2023
- विज्ञापन -

Latest Posts

Ghaziabad: खाना खाने के बाद हॉस्टल की छात्रों की बिगड़ी हालत, DM और CMO को बताई बड़ी बात

अस्पताल में भर्ती छात्राओं ने बताया कि रात के खाने में उड़द की दाल, चावल और आलू की सब्जी खाई थी। छात्राओं का कहना था कि खाने का स्वाद सही नहीं थी। आशंका है कि छात्राओं को सुबह का खाना दिया गया है।

गाजियाबादः उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के सरकारी आवासीय स्कूल में उस वक्त हड़कंप मच गया। जब रात का खाना खाने के बाद एक साथ 28-29 छात्राओं की तबीयत खराब हो गई। हालांकि रिपोर्ट्स में बीमार छात्राओं को लेकर अलग-अलग आंकड़े हैं। स्कूल प्रबंधन ने सभी छात्राओं को मुरादनगर सीएचसी पर भर्ती कराया, जहां हालत ज्यादा खराब होने पर 15 से 17 छात्राओं को संयुक्त जिला चिकित्सालय के लिए रैफर किया गया है। सूचना मिलते ही जिलाधिकारी समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए। मामले की छानबीन की।

कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में हैं 105 छात्राएं

घटना बुधवार की है। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में मुरादनगर स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय है। यहां कुल 105 छात्राएं पढ़ती हैं। बुधवार को स्कूल के आवासीय परिसर में 64 छात्राएं मौजूद थीं। जानकारी के मुताबिक रात को सभी ने रात का खाना खाया। खाना खाने के बाद एक साथ कई छात्राओं की तबीयत अचानक बिगड़ गई। सभी को उल्टी और दस्त के साथ पेट में भयंकर दर्द होने की शिकायत थी। छात्राओं की हालत को देख स्कूल प्रबंधन में हड़कंप मच गया। स्कूल के स्टाफ और कर्मचारियों ने सभी को मुरादनगर सीएचसी पर भर्ती कराया।

रात में ही जिलाधिकारी पहुंचे अस्पताल

मामले की जानकारी संबंधिक अधिकारियों समेत जिलाधिकारी को दी गई। वहीं मुरादनगर सीएचसी में भर्ती छात्राओं में से कई छात्राओं की हालत ज्यादा खराब हो गई। सीएचसी के डॉक्टरों ने इन गंभीर छात्राओं को संजय नगर स्थित संयुक्त जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। वहीं जिलाधिकारी गाजियाबाद आरके सिंह भी सीधे अस्पताल पहुंच गए। छात्राओं से स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली। इसके बाद कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय पहुंचे। स्कूल के शिक्षकों और कर्मचारियों से मामले की जानकारी ली।

सुबह का खाना देने की आशंका, रसोई से लिए नमूने

अस्पताल में भर्ती छात्राओं ने बताया कि रात के खाने में उड़द की दाल, चावल और आलू की सब्जी खाई थी। छात्राओं का कहना था कि खाने का स्वाद सही नहीं थी। वहीं डॉक्टरों को आशंका है कि सुबह का खाना छात्राओं को दिया होगा, जिसके कारण फूड प्वाइजनिंग हो गई। सीएमओ डॉक्टर भरतोष शंकधार ने बताया कि छात्रावास की रसोई से खाने के नमूने लिए गए हैं। जांच कराई जा रही है। वहीं बीएसए विवोद चंद्र मिश्र ने बताया कि अधिकतर छात्राओं ने पेट दर्द की शिकायत की थी। अब उनके स्वास्थ्य में सुधार है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -