---विज्ञापन---

Good News for Noida: जल्द खत्म होने वाला है पृथला फ्लाईवर का काम, नोएडा-ग्रेटर नोएडा वेस्ट वालों को मिलेगी बड़ी राहत

Good News for Noida: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) में रहने वाले लोगों के लिए एक खुशखबरी है। नोएडा से ग्रेटर नोएडा वेस्ट (Noida-Greater Noida West) आने-जाने वालों को महज दो महीने बाद राहत मिलने वाली है। नोएडा प्राधिकरण की ओर कहा गया है कि पृथला फ्लाईओवर परियोजना को 31 मार्च, 2023 तक […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Dec 19, 2022 12:25
Share :

Good News for Noida: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के नोएडा (Noida) में रहने वाले लोगों के लिए एक खुशखबरी है। नोएडा से ग्रेटर नोएडा वेस्ट (Noida-Greater Noida West) आने-जाने वालों को महज दो महीने बाद राहत मिलने वाली है। नोएडा प्राधिकरण की ओर कहा गया है कि पृथला फ्लाईओवर परियोजना को 31 मार्च, 2023 तक हर हाल में पूरा किया जाएगा। इसके लिए काम की गति को तेज कर दिया गया है।

अभी मार्ग पर लगा है डायवर्जन

जानकारी के मुताबिक नोएडा प्राधिकरण ने अप्रैल 2023 में फ्लाईओवर को खोलने और लंबे समय से ट्रैफिक डायवर्जन को खत्म करने का लक्ष्य रखा था। वर्तमान में नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच आने-जाने वाले लोगों को गढ़ी गांव की सड़क और सेक्टर 121 के आंतरिक मार्गों में डायवर्जन लेना पड़ता है।

इतने फीसदी काम हो चुका है पूरा

अधिकारियों ने कहा कि पीक आवर्स में यहां हजारों यात्री ट्रैफिक जाम में फंस जाते हैं, क्योंकि निर्माण कार्य अंतिम चरण में चल रहा है। नोएडा प्राधिकरण के वरिष्ठ प्रबंधक एके जैन ने कहा कि फ्लाईओवर का काम काफी तेज और अच्छे स्तर पर चल रहा है। उन्होंने बताया कि हमने परियोजना पर लगभग 75% काम पूरा कर लिया है। 31 मार्च 2023 तक परियोजना को पूरा करने के लिए काम को तेज कर दिया गया है।

दिसंबर 2020 में शुरू हुआ था काम

अधिकारियों ने कहा कि इससे पहले प्राधिकरण ने जुलाई 2022 की समय सीमा तय की थी, लेकिन यह लक्ष्य को पूरा करने में विफल रही। बता दें कि प्राधिकरण ने 24 दिसंबर 2020 को इस परियोजना पर काम शुरू किया था। इस परियोजना का लक्ष्य नोएडा और ग्रेटर नोएडा के बीच यात्रा के दौरान पृथला ट्रैफिक चौराहे पर जाम का सामना करने वाले यात्रियों को सुविधा देना था।

इन इलाकों के लोगों को असुविधा

फ्लाईओवर परियोजना से पहले यहां देखा गया था कि करीब 18 हजार से ज्यादा वाहन यहां रोजाना जाम में फंसते थे। एक सर्वेक्षण में यहां तक कहा गया था कि लगभग 1,25,000 यात्री दैनिक आधार पर यात्रा करते हैं। अधिकारियों ने बताया कि वर्तमान में सेक्टर-121, 122, गढ़ी चोखंडी और अन्य आसपास के इलाकों में रहने वाले लोगों को काफी असुविधा होती है, क्योंकि सुबह और शाम हजारों लोग लंबे ट्रैफिक जाम में फंस जाते हैं।

First published on: Dec 19, 2022 12:25 PM
संबंधित खबरें