Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

जेवर एयरपोर्ट का लालच देकर लोगों के साथ हुई करोड़ों की ठगी, प्रशासन ने की बड़ी कार्रवाई

Jewar Airport: मोहम्मद युसूफ की रिपोर्ट। यमुना विकास प्राधिकरण ने भू-माफिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। जेवर क्षेत्र में अवैध तरीके से काटी गई कॉलोनियों पर बुलडोजर चलाकर करीब 9000 वर्गमीटर जमीन मुक्त कराई गई। जिसकी कीमत करीब 200 करोड़ बताई जा रही है। इस कार्रवाई को लेकर लोगों में भारी गुस्सा भी देखा […]

Edited By : Arpit Pandey | Updated: Aug 5, 2023 11:59
Share :
noida news
up news bulldozer action noida

Jewar Airport: मोहम्मद युसूफ की रिपोर्ट। यमुना विकास प्राधिकरण ने भू-माफिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। जेवर क्षेत्र में अवैध तरीके से काटी गई कॉलोनियों पर बुलडोजर चलाकर करीब 9000 वर्गमीटर जमीन मुक्त कराई गई। जिसकी कीमत करीब 200 करोड़ बताई जा रही है। इस कार्रवाई को लेकर लोगों में भारी गुस्सा भी देखा जा रहा है। लेकिन भारी पुलिस फोर्स और पीएसी की मौजूदगी के चलते लोगों ने कोई विरोध नहीं किया।

अवैध रूप से काट रहे थे कॉलोनी

दरअसल, जहांगीरपुर के पास जेवर खुर्जा रोड के पास अलीअहमदपुर उर्फ गढ़ी गांव में अतिक्रमण को तोडते बुलडोजर यमुना विकास प्राधिकरण के है, यह कार्रवाई एसडीएम जेवर अभय कुमार सिंह, एसीपी जेवर रूद्र कुमार सिंह और यीडा के ओएसडी शैलेन्द्र कुमार सिंह की देख रेख की गई। यमुना प्राधिकरण के ओएसडी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि यहां पर भू माफियाओं ने अवैध रूप से कॉलोनी काटकर प्राधिकरण के अधिसूचित क्षेत्र में अतिक्रमण किया हुआ था। जिसको लेकर काफी दिनों से शिकायतें मिल रही थी।

900 वर्ग फीट जमीन हुई मुक्त

जिसके बाद वहां पर प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों को साथ लेकर अधिसूचित क्षेत्र में हो रहे अतिक्रमण को ध्वस्त कराया और 9000 वर्गमीटर जमीन को मुक्त कराया गया है। ओएसडी शैलेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि जहांगीरपुर में पेट्रोल पंप के आसपास अवैध कॉलोनियों एवं आफिस गिरा दिए गए। जहांगीरपुर कस्बे में छह से अधिक जगहों पर प्राधिकरण के दस्ते ने कार्रवाई की। उन्होने क्षेत्र के लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि कॉलोनाइजर के झांसे में आकर प्राधिकरण के अधिसूचति क्षेत्र में प्लॉट नहीं खरीदें।

एयरपोर्ट के झांसे में फंस गए थे लोग

हालांकि इस कार्रवाई पर लोगों में गुस्सा भी था। लेकिन कार्रवाई के समय भारी पुलिस फोर्स और पीएसी की मौजूदगी के चलते लोगों ने कोई विरोध नहीं किया। लोगों कहना है कि जिस समय कॉलोनाइजर कॉलोनियों को काटकर बोर्ड लगाकर प्रचार करते हैं। लंबे समय तक प्लाट की खरीद फरोख्त होती है रजिस्ट्री होती है। उस समय अधिकारी ध्यान नहीं देते। आशियाने की आस में लोग जब गाढ़ी कमाई खर्च कर लेते हैं और कॉलोनाइजर अपना काम पूरा कर लेता है तब प्राधिकरण के अफसर बुलडोजर लेकर पहुंचते हैं।

ये भी देखें: Lalu Yadav-Rahul Gandhi ने बना लिया प्लान, अब ये संभालेंगे INDIA की कमान !

First published on: Aug 05, 2023 11:47 AM
संबंधित खबरें