Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

यूपी में कई जिलों पर हर वक्त मंडराता है भूकंप का खतरा! BHU प्रोफेसर ने सतर्क रहने की दी हिदायत

Earthquake in some districts of Uttar Pradesh: यूपी के वाराणसी स्थित काशी हिन्दू विश्वविद्यालय यानी BHU के भू-भौतिकी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ संदीप के अनुसार, यूपी के 9 जिले ऐसे हैं, जहां कभी भी और कही भी भूकंप आ सकता है।

Edited By : Hemendra Tripathi | Updated: Nov 5, 2023 10:27
Share :

Earthquake in some districts of Uttar Pradesh: बीते दो दिनों से लगातार आ रहे भूकंप के झटकों की वजह से दिल्ली एनसीआर समेत यूपी के अन्य जिले दहल उठे हैं, जिसके बाद अब भूकंप को लेकर उत्तर प्रदेश में बढ़ी चिंता के साथ हलचल भी तेज हो गई है। इसी बीच यूपी के वाराणसी स्थित काशी हिन्दू विश्वविद्यालय यानी BHU के एक प्रोफेसर ने उत्तर प्रदेश के उन जिलों का नाम बताया है, जिनपर हर वक्त भूकंप का खतरा मंडराता है। BHU के भू-भौतिकी विभाग (जिओफिजिक्स) के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ संदीप के अनुसार, यूपी के 9 जिले ऐसे हैं, जहां कभी भी और कही भी भूकंप आ सकता है। प्रोफेसर ने इस बात पर चिंता जाहिर करते हुए इन चिन्हित जिलों को सतर्क रहने की हिदायत दी है।

लगातार आ रहे भूकंप से बढ़ रहा यूपी पर खतरा

बीते शुक्रवार को नेपाल में आए भूकंप के चलते वहां 150 से अधिक लोगों की मौत हो गई, जबकि 200 से अधिक लोग घायल हो गए। इस भूकंप के झटके उत्तर प्रदेश के कई जिलों के साथ ही उत्तर भारत के कई राज्यों में भी महसूस किए गए थे। हालांकि, शनिवार देर रात भी दिल्ली एनसीआर और उसके आसपास के कई जिलों में दोबारा से भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। लगातार देखने को मिल रहे इन झटकों ने पूरे देश साथ-साथ उत्तर प्रदेश में खास तौर पर चिंता बढ़ा दी है। जिसके चलते यूपी में एक तरफ लोग सहमे हुए हैं, वहीं दूसरी तरफ यूपी के कुछ जिलों पर भूकंप का खतरा मंडरा रहा है।

यह भी पढ़ें: कुश्ती के दंगल में उतरे यूपी के दो सांसद… जोर लगाकर देने लगे पटकनी, नजारा देख मचने लगा शोर, Video

 

भयानक साबित होते हैं ज्यादा मैग्नीट्यूट वाले भूकंप

भारत में लगातार आ रहे भूकंप पर रिसर्च करने वाले काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) के जिओफिजिक्स विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ संदीप ने बताया कि हिमालयन बेल्ट यानी हिन्दुकुश से लेकर नॉर्थ ईस्ट तक तकरीबन 2500 किलोमीटर तक फैली इस हिमालयन बेल्ट में कम मैग्नीट्यूट के भूकंप बीते काफी समय से लगातार आते रहे हैं। इसके साथ ही साल 2015 और फिर उसके बाद साल 2023 में बीते शुक्रवार को आने वाले ज्यादा मैग्नीट्यूट के भूकंप भी समय-समय पर आते रहते हैं, जिनका असर काफी ज्यादा होता है। प्रोफेसर डॉ संदीप ने जानकारी देते हुए बताया कि नेपाल हिमालयन रीजन में सबसे करीब होने की वजह से भूकंप का केंद्र बनता है।

यह भी पढ़ें:   नई पहल: कश्मीर में जेल से छूटते ही आतंकियों के पैरों में पहनाई गई ‘पायल’


उत्तर प्रदेश के इन जिलों पर मंडरा रहा भूकंप का खतरा

डॉ संदीप ने मीडिया से बातचीत में बताया कि उत्तर प्रदेश के जो जिले नेपाल बार्डर पर मौजूद हैं या यूं कहें कि हिमालयन बेल्ट में आते हैं, उनपर हमेशा तेज भूकंप का खतरा मंडराता रहता है। अगर तेज भूकंप से प्रभावित जिलों की बात करे तो इसमें गोंडा, बहराइच, बलरामपुर जिला, सिद्धार्थनगर, देवरिया जिला, कुशीनगर, महराजगंज, पीलीभीत जिला, लखीमपुर-खीरी का नाम शामिल है। उन्होंने बताया कि इन 9 जिलों में तीव्र गति के भूकंप कभी भी और कहीं भी आ सकते हैं।

प्रोफेसर ने चिन्हित जिलों को दी सतर्क रहने की हिदायत

जिओफिजिक्स विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ संदीप ने यूपी के इन जिलों का नाम लेते हुए कहा कि इन जिलों में रहने वाले लोगों को भूकंप से बचने के लिए हमेशा सतर्क रहने की जरुरत है और इसके साथ ही डॉ संदीप ने इन जिलों में बनने वाले मकानों को मानक के अनुरूप ही बनाने बनाने की हिदायत दी है। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि हमें भूकंप आने पर पेनिक नहीं होना है। भूकंप आने पर जरूरी बचाव के तरीके अपना कर हम बड़े हादसों को टाल सकते हैं।

First published on: Nov 05, 2023 10:23 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें