---विज्ञापन---

Budget 2023: यूपी वालों को भी उम्मीदें; किसी ने मांगा सस्ता गैस सिलेंडर तो कोई कह रहा बिजली सब्सिडी मिले

Budget 2023: केंद्र सरकार की ओर से 1 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2023-24 बजट पेश किया जाएगा। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) संसद में इसे पेश करेंगी। पिछले दो केंद्रीय बजट उन्होंने पेश किए हैं। जैसे-जैसे बजट की तारीख नजदीक आती जा रही है, वैसे-वैसे आम लोगों की धड़कनें बढ़ने लगी […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Jan 30, 2023 15:22
Share :
Budget 2023

Budget 2023: केंद्र सरकार की ओर से 1 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2023-24 बजट पेश किया जाएगा। केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) संसद में इसे पेश करेंगी। पिछले दो केंद्रीय बजट उन्होंने पेश किए हैं। जैसे-जैसे बजट की तारीख नजदीक आती जा रही है, वैसे-वैसे आम लोगों की धड़कनें बढ़ने लगी हैं। साथ ही उन्हें बजट से काफी उम्मीदें हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक उत्तर प्रदेश में रहने वाले लोगों को भी काफी उम्मीदें हैं। बजट सत्र 2023 (Budget 2023) से पहले वाराणसी के हथकरघा श्रमिकों ने अपने व्यवसाय और कारोबार के लिए बिजली पर सब्सिडी की मांग की है।

और पढ़िए –Ramcharitmanas Row: रामचरितमानस की प्रतियां जलाने वालों पर मुकदमा दर्ज, स्वामी प्रसाद मौर्य का भी नाम शामिल

बिजली सब्सिडी से कारोबार को मिलेगी राहत

हथकरघा कार्यकर्ता मोहम्मद हनीफ हंसारी ने कहा कि बिजली पहले की तरह सब्सिडी वाली होनी चाहिए। लोग इस उद्योग को छोड़ रहे हैं और अन्य नौकरियों की तलाश कर रहे हैं। इस पर सरकार को ध्यान देने के साथ मदद करनी चाहिए। नहीं तो हमारे कारोबार में और गिरावट आएगी।

यह भी पढ़ेंः Budget 2023: साफ सफाई से लेकर सुरक्षा तक… रेल यात्रियों को बजट से हैं काफी उम्मीदें

पुरानी दरों को बजट में लगाए सरकार

बजट 2023 पर हथकरघा कार्यकर्ता अब्दुल कलाम आजाद ने कहा कि हमारी सबसे बड़ी चुनौती बिजली है। कुछ साल पहले बिल 75 रुपये प्रति लूम हुआ करता था। वह सब्सिडाइज्ड रेट था, लेकिन अब यह 300 रुपये है। हम उम्मीद करते हैं कि सरकार पुरानी सब्सिडी वाली दरों को वापस लाएगी।

और पढ़िए –‘मर जाऊंगा, लेकिन BJP के साथ नहीं जाऊंगा’ CM नीतीश कुमार का बड़ा ऐलान

डेयरी उत्पाद और स्कूल फीस सस्ती करे सरकार

इनके अलावा कानपुर की रहने वाली एक गृहिणी ने बताया कि आज डेयरी उत्पाद काफी महंगे हो गए हैं। आम परिवार बच्चों को दूध नहीं पिला पा रहे हैं। एलपीजी गैस सिलेंडर भी बहुत महंगा है। उन्होंने मांग की है कि सरकार को मध्यम वर्ग पर ध्यान देना चाहिए। इसके अलावा निजी स्कूलों में शिक्षा भी बहुत महंगी है। उन्होंने सरकार से इन सब पर ध्यान देना चाहिए।

आयकर की सीमा बढ़ाए सरकार, लोगों को मिलेगी राहत

केंद्रीय बजट 2023 से वाराणसी के लोगों ने भी अपनी उम्मीदें जाहिर की हैं। यहां रहने वाले सुनील जायसवाल ने कहा कि सरकार को आयकर की सीमा बढ़ानी चाहिए। इससे आम आदमी को राहत मिल सकेगी। यहां के एक व्यवसायी एसके सिंह कहते हैं कि हमने जिस महामारी का सामना किया है, उसे देखते हुए बजट में स्वास्थ्य और शिक्षा पर ध्यान देना चाहिए।

और पढ़िए –देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

First published on: Jan 30, 2023 12:19 PM
संबंधित खबरें