Saturday, 13 April, 2024

---विज्ञापन---

भाजपा रही तो न नौकरी रहेगी न आरक्षण… पटना की रैली से लौटे अखिलेश यादव का बड़ा दावा

Akhilesh Yadav Press Conference : अखिलेश यादव ने दावा किया है कि भाजपा की उम्मीदवारों की लिस्ट ने उसके कार्यकर्ताओं के मन में भी निराशा भर दी है। वो जनता के बीच अपने अधिकांश सासंदों के खिलाफ बने माहौल को समझ रहे हैं। जो युवा भाजपा से टिकट मिलने की उम्मीद में इसके हर गलत काम में साथ दे रहे थे, उनका भी यही हाल होने वाला है।

Edited By : Gaurav Pandey | Updated: Mar 4, 2024 13:50
Share :
Akhilesh Yadav
अखिलेश यादव

Akhilesh Yadav Press Conference : समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को भाजपा पर जमकर हमला बोला। उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान दावा किया कि भाजपा और बसपा के अलग-अलग जिलों से कई कार्यकर्ता सपा में शामिल हो रहे हैं। बसपा के पूर्व विधायक शिव कुमार बेरिया सपा में आ गए हैं। लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा की प्रत्याशियों की पहली सूची को लेकर भी उन्होंने तंज कसा। यादव ने दावा किया कि जनता समझ गई है भाजपा कैसी पार्टी है।

‘भाजपा मान चुकी है अपनी हार’

रविवार को अखिलेश यादव बिहार की राजधानी पटना में आयोजित विपक्षी महागठबंधन की जन विश्वास रैली में शामिल हुए थे। इसमें उन्होंने राजद नेता तेजस्वी यादव और कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ मंच साझा किया था। भाजपा के उम्मीदवारों की पहली लिस्ट को लेकर अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने पहले ही हार मान ली है। भाजपा के प्रत्याशियों की लिस्ट उसकी नाउम्मीदगी की घोषणा है। यह लिस्ट बता रही है कि भाजपा ने केवल उन सीटों पर उम्मीदवार घोषित किए हैं जहां उसके जीतने की थोड़ी सी भी संभावना है।

यादव ने कहा कि पेपर लीक होने की वजह से देश के युवा आत्महत्या कर रहे हैं। मौसम की वजह से किसानों का जो नुकसान हुआ है क्या सरकार उसकी भरपाई करेगी? न वह किसानों की आय दोगुनी कर पाई है और न युवाओं को नौकरी दे पाई है। अखिलेश यादव ने दावा किया कि भाजपा इतनी कमजोर पार्टी कभी नहीं थी। भाजपा के लोगों को समाजवादियों से यह सबक लेना चाहिए कि ‘सच्चा विकास’ खोखले शब्दों से नहीं बल्कि सही सोच से होता है। युवाओं को अगर रोजगार पाना है तो भाजपा को हटाना होगा।

हर्षवर्धन के संन्यास पर कसा तंज

बता दें कि भाजपा ने भोजपुरी एक्टर पवन सिंह को टिकट दिया था और पूर्व केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन का टिकट काट दिया था। बाद में हर्षवर्धन ने राजनीति से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया और पवन सिंह ने चुनाव न लड़ने की बात कह दी। इसे लेकर अखिलेश ने कहा कि किसने सोचा था कि भाजपा के ऐसे दिन भी आएंगे कि कोई टिकट मिलने पर भी उसे ठुकरा देगा और कोई टिकट कटने पर संन्यास का ऐलान कर देगा। अब केवल देश की जनता ही नहीं बल्कि खुद भाजपा के लोग भी यह कह रहे हैं कि उन्हें यह पार्टी नहीं चाहिए।

ये भी पढ़ें: ‘जर्मनी मॉडल’ अपना कर भाजपा को हराने की तैयारी में कांग्रेस

ये भी पढ़ें: भाजपा की Lok Sabha उम्मीदवारों की List की पांच बड़ी बातें

ये भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश की बची हुई 29 सीटों पर भाजपा में क्यों फंसा है पेच? 

First published on: Mar 04, 2024 01:30 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें