Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

Gulab Chand Kataria: कटारिया के विदाई समारोह में बोले स्पीकर सीपी जोशी- कटारिया वैचारिक निष्ठा के कारण यहां तक पहुंचे

Gulab Chand Kataria: राजस्थान विधानसभा में गुरुवार को नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का विदाई समारोह आयोजित किया गया। बता दें कि गुलाबंचद कटारिया को बीते रविवार केंद्र सरकार ने असम का राज्यपाल नियुक्त किया है। विधानसभा में विदाई समारोह स्पीकर सीपी जोशी की तरफ से आयोजित किया गया था। कटारिया वैचारिक निष्ठा के कारण यहां तक […]

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Feb 17, 2023 12:08
Share :
Gulab Chand Kataria Farewell In Rajasthan Assembly

Gulab Chand Kataria: राजस्थान विधानसभा में गुरुवार को नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया का विदाई समारोह आयोजित किया गया। बता दें कि गुलाबंचद कटारिया को बीते रविवार केंद्र सरकार ने असम का राज्यपाल नियुक्त किया है। विधानसभा में विदाई समारोह स्पीकर सीपी जोशी की तरफ से आयोजित किया गया था।

कटारिया वैचारिक निष्ठा के कारण यहां तक पहुंचे

स्पीकर सीपी जोशी ने कहा कि कटारिया साहब मेरे विधानसभा क्षेत्र के गांव देलवाड़ा के रहने वाले हैं। मैंने एक कार्यकर्ता से नेता के रूप में कटारिया को ऊंचाइयां छूते देखा है। इंदिरा गांधी के समय जब इमरजेंसी लगी तब इन्होंने अपना राजनीतिक जीवन शुरू किया। कटारिया साहब तो 1977 में विधायक बन गए। मुझे यहां तक पहुंचने का मौका 1980 में मिला।

उन्होंने कहा कि मैंने कटारिया साहब को एबीवीपी के कार्यकर्ता से लेकर विधायक, मंत्री, नेता प्रतिपक्ष के तौर पर देखा है। उन्होंने कहा कि संसदीय जीवन में अगर व्यक्ति को ऊंचाइयों को छूता है तो उसका कारण वैचारिक निष्ठा के कारण पाता है और कटारिया साहब इसके बेहतरीन उदाहरण हैं।

और पढ़िए –Gulab Chand Kataria: विदाई समारोह में भावुक हुए कटारिया, सीएम बोले- अब आप गुलाब जी भाई साहब नहीं रहे

और पढ़िए –Rajasthan: बजट बहस जवाब में सीएम ने किए कई बड़े ऐलान, किसानों और युवाओं को दी सौगातें

स्पीकर से मेरी विचारों की लड़ाई

नेता प्रतिपक्ष ने स्पीकर सीपी जोशी के बारे में बताते हुए कहा कि मैंने पुरानी पीढ़ी के नेताओं से बहुत कुछ सीखा है। उनसे मेरी विचारों की लड़ाई थी। लेकिन आपसी संबंध बहुत अच्छे थे। हम सब जनता के लिए यहां आए हैं। जो कुछ हो लेकिन सदन चलाओ, जो बोलना है सदन में बोलिए। सीपी जोशी और मैं काॅलेज के दिनों से डिबेट में अलग-अलग पक्ष से आते थे। 15वीं विधानसभा में जो मुझे मान सम्मान मिला वह कर्जा कभी नहीं चुका सकूंगा।

और पढ़िए – प्रदेश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Feb 17, 2023 08:07 AM
संबंधित खबरें