---विज्ञापन---

Bharat Jodo Yatra: कांग्रेस भारत जोड़ो यात्रा का आज 98वां दिन, राहुल गांधी ने सवाईमाधोपुर के भाड़ोति से शुरु की पदयात्रा

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की अगुवाई में तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ (Bharat Jodo Yatra) का आज 98वां दिन है। वहीं राजस्थान में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो यात्रा का आज दसवां दिन है। आज यात्रा की शुरुआत सवाईमाधोपुर […]

Edited By : Pankaj Mishra | Updated: Dec 14, 2022 10:38
Share :
Bharat Jodo Yatra

नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की अगुवाई में तमिलनाडु के कन्याकुमारी से शुरू हुई कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ (Bharat Jodo Yatra) का आज 98वां दिन है। वहीं राजस्थान में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो यात्रा का आज दसवां दिन है। आज यात्रा की शुरुआत सवाईमाधोपुर के भाड़ोति से शुरू हुई। राहुल गांधी की यात्रा आज दौसा जिले में प्रवेश करेगी। यात्रा सुबह 10 बजे बामनवास के बाढ़श्यामपुरा टोंड में पहुंचेगी। टोंड में यात्री लंच करेंगे। उसके बाद 3:30 बजे से यात्रा का दूसरा चरण शुरू होगा। बुधवार शाम 6:30 बजे दौसा जिले में लालसोट के बगड़ी गांव चौक में यात्रा का अंतिम पड़ाव है। यहां पर राहुल गांधी की नुक्कड़ सभा रखी गई है। भारत जोड़ो यात्रा में आज आरबीआई के पूर्व गवर्नर एन रघुराम राजन भी शामिल हुए।

आपको बता दें कि राहुल गांधी के नेतृत्व में निकली रही यात्रा में भीड़ उमड़ रही है। उनकी भारत जोड़ो यात्रा को लोगों का भरपूर समर्थन मिल रहा है। यात्रा जिस क्षेत्र से गुजरती है वहां के लोग पारंपरिक वेशभूषा में राहुल गांधी और यात्रा का स्वागत कर रहे हैं। लोग उन्हें प्रामाणिक संस्कृति दिखाते हुए गर्मजोशी से उनका स्वागत करते हैं। हर दिन बड़ी संख्या में लोग इस यात्रा में शामिल हो रहे हैं। राजस्थान-हरियाणा बॉर्डर पार करने के बाद, भारत जोड़ो यात्रा में सप्ताहभर लंबा ब्रेक आएगा। यात्रा पर 24 दिसंबर से 2 ​जनवरी तक यात्रा का ब्रेक रहेगा।

गौरतलब है कि राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस की इस भारत जोड़ो यात्रा में भारी तादाद में पार्टी कार्यकर्ता और समर्थक हिस्सा ले रहे हैं। राहुल गांधी पैदल यात्रा करके पूरे देश में अलग संदेश देने की कोशिश कर रहे हैं। इस पदयात्रा को लेकर राहुल गांधी का कहना है कि यात्रा से उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिल रहा है। जो चीजें हवाई जहाज, हेलीकॉप्टर या गाड़ी में यात्रा करते समय नहीं समझी जा सकतीं। किसानों से हाथ मिलाने के बाद ही कोई समझ पाता है कि वे क्या कर रहे हैं। यह हेलीकॉप्टर से नहीं सीखा जा सकता है।

राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा को अपने लिए तपस्या बताते हुए कहा कि उनका मकसद लोगों से जुड़कर उनकी समस्याओं को समझना था और इस यात्रा के जरिए उनका यह मकसद पूरा हो रहा है। इस यात्रा में राहुल गांधी बेरोजगारी और महंगाई के मुद्दे पर केंद्र सरकार पर निशाना साधते रहे हैं।

गौरतलब है कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा 7 सितंबर से कन्याकुमारी से शुरू हुई थी जो कि अब तक सात राज्यों तमिलनाडु, केरल, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, तलंगाना, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश से गुजरते हुए अब राजस्थान में है। कांग्रेस की 3750 किमी की भारत जोड़ो यात्रा 12 राज्यों से गुजरेगी। यह दक्षिण में कन्याकुमारी से उत्तर में कश्मीर तक 3,750 किमी का सफर पूरा करेगी। यह यात्रा मध्य प्रदेश के बाद राजस्थान के बाद दिल्ली, उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब से होते हुए जम्मू कश्मीर पहुंचकर समाप्त होगी।

First published on: Dec 14, 2022 08:05 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें