Saturday, 13 April, 2024

---विज्ञापन---

Rajasthan Politics: दीपेंद्र सिंह शेखावत बोले- किसके दबाव में दिए गए थे इस्तीफे? आलाकमान करें जांच

Rajasthan Politics: राजस्थान विधानसभा के सचिव ने कोर्ट में कहा था कि विधायकों ने किसी के दबाव में आकर इस्तीफे दिए हैं। उनके इस बयान के बाद सरकार को विधानसभा में और उसके बाहर लगातार विरोध का सामना करना पड़ रहा है। बीजेपी के बाद अब कांग्रेस पार्टी के अंदर भी विरोध के स्वर उठना […]

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Feb 3, 2023 12:14
Share :
Deependra Singh Shekhawat
Deependra Singh Shekhawat

Rajasthan Politics: राजस्थान विधानसभा के सचिव ने कोर्ट में कहा था कि विधायकों ने किसी के दबाव में आकर इस्तीफे दिए हैं। उनके इस बयान के बाद सरकार को विधानसभा में और उसके बाहर लगातार विरोध का सामना करना पड़ रहा है। बीजेपी के बाद अब कांग्रेस पार्टी के अंदर भी विरोध के स्वर उठना शुरू हो गए।

भाजपा के एक सदस्य ने दिया था इस्तीफा

पायलट कैंप के विधायक दीपेंद्र सिंह शेखावत ने कांग्रेस आलाकमान से जांच की मांग की। उन्होंने कहा (Rajasthan Politics) कि मैं नहीं जानता कि विधायकों पर इस्तीफे देने का किसका दबाव था, लेकिन अगर कोर्ट में हलफनामा दिया गया है तो यह जांच का विषय है। शेखावत ने कहा कि कांग्रेस आलाकमान को इसकी जांच करनी चाहिए। उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा के एक सदस्य ने भी इसमें इस्तीफा दिया था।

और पढ़िए –UP MLC चुनावः BJP के जयपाल सिंह लगातार तीसरी बार चुनाव जीते, 1986 से इस सीट पर भाजपा का कब्जा

गिर सकती थी सरकार

विधायक ने कहा कि अगर स्पीकर इस्तीफे स्वीकार कर लेते तो सरकार गिर जाती। शेखावत (Rajasthan Politics) ने कहा कि जो सदस्य विधानसभा चुनकर आता है वो किसी दबाव में नहीं आता है वह अपने विवेक से काम करता है। नियमों में यहां तक प्रावधान है कि अगर दबाव, प्रलोभन हो तो कानून का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि हम लोगों पर कोई दबाव नहीं था और हम तो विधायक दल की बैठक में शामिल होने मुख्यमंत्री के आवास पर गए थे।

इनके खिलाफ दिया विशेषाधिकार हनन का नोटिस

बीजेपी ने उन सभी मंत्रियों और विधायकों के खिलाफ विशेषाधिकार हनन नोटिस दिया है जिन्होंने 25 सितंबर को स्पीकर के सामने पेश होकर विधायकों के इस्तीफे दिए थे। उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने सीएम के सलाहकार और निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव सौंपा है। संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल के खिलाफ बीजेपी विधायक अशोक लाहोटी ने और मंत्री महेश जोशी के खिलाफ रामलाल शर्मा ने विशेषाधिकार हनन को नोटिस दिया है।

और पढ़िए –Old Pension Scheme: पुरानी पेंशन योजना के खिलाफ CM खट्टर, कहा- दिवालिया हो जाएगा भारत

बीजेपी विधायक वासुदेव देवनानी ने मंत्री रामलाल जाट, अनिता भदेल ने सरकारी उपमुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी और जोगेश्वर गर्ग ने कांग्रेस विधायक रफीक खान के खिलाफ विशेषाधिकार हनन को नोटिस दिया है।

और पढ़िए – प्रदेश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Feb 02, 2023 05:42 PM
संबंधित खबरें