Sunday, December 4, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

सीएम गहलोत ने केंद्र से फिर से कर डाली ये बड़ी मांग, क्या इस बार हो जाएगी पूरी? जानें

Rajasthan: सीएम अशोक गहलोत ने मानगढ़ धाम (Mangarh Dham) पर हुए बलिदान की 109वीं बरसी पर केंद्र सरकार से बड़ी मांग कर डाली।

जयपुर: सीएम गहलोत ने मानगढ़ धाम पर हुए बलिदान की 109वीं बरसी पर केंद्र से बड़ी मांग कर डाली। सीएम गहलोत ने कहा कि यह बलिदान देश की आजादी में आदिवासी भाई-बहनों के योगदान का प्रतीक है। मानगढ़ धाम आने वाली पीढ़ियों को देशभक्ति एवं वीरता के लिए प्रेरित करता रहेगा। हमें आशा थी कि 1 नवंबर की सभा में प्रधानमंत्री मानगढ़ धाम को राष्ट्रीय स्मारक बनाने की हमारी बहुप्रतीक्षित मांग को पूरा करेंगे परन्तु ऐसा नहीं हुआ। मैं आज पुन: केन्द्र सरकार से मांग करता हूं कि मानगढ़ धाम को राष्ट्रीय स्मारक घोषित किया जाए।

बता दें कि सीएम गहलोत ने इससे पहले भी प्रधानमंत्री को दो बार पत्र लिखकर राजस्थान के बांसवाड़ा जिले में स्थित मानगढ़ धाम को राष्ट्रीय महत्व का स्मारक घोषित करने की मांग की थी।

राजस्थान की राजधानी जयपुर से करीब 550 किलोमीटर दूर आदिवासी बहुल जिला बांसवाड़ा और जिला मुख्यालय से करीब 80 किमी दूर मानगढ़ धाम स्थित है। मानगढ़ धाम गुजरात और मध्य प्रदेश की सीमा के नजदीक है। गुजरात में अभी चुनाव होने हैं, जबकि मध्य प्रदेश में अगले साल होंगे। ऐसे में विरोधी इसके कुछ राजनीतिक मायने भी निकाल रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि मानगढ़ की पहाड़ी भील समुदाय और राजस्थान, गुजरात और मध्य प्रदेश की अन्य जनजातियों के लिए विशेष महत्व रखती है। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान जहां भील और अन्य जनजातियों ने लंबे समय तक अंग्रेजों से लोहा लिया। 17 नवंबर 1913 को श्री गोविंद गुरु के नेतृत्व में 1.5 लाख से अधिक भीलों ने मानगढ़ पहाड़ी पर सभा की। इस सभा पर अंग्रेजों ने गोलियां चलाईं, जिससे मानगढ़ नरसंहार हुआ जहां लगभग 1500 आदिवासी शहीद हुए।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -