Saturday, December 3, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Rajasthan: राखी पर गहलोत सरकार की महिलाओं को बड़ी सौगात, रोडवेज बसों में कर सकेंगी फ्री यात्रा

जयपुर: रक्षाबन्धन पर गहलोत सरकार (Gehlot Governemnet) ने महिलाओं को बड़ा तोहफा दिया है। राजस्थान में रक्षाबंधन के पर्व पर महिलाएं राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम (RSRTC) की बसों में निशुल्क यात्रा कर सकेंगी। एक आधिकारिक बयान के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने निशुल्क यात्रा के लिए प्रस्ताव को मंजूर किया है।

बता दें कि सीएम गहलोत के इस निर्णय से बालिकाओं एवं महिलाओं को रक्षाबन्धन के दिन 11 अगस्त (गुरुवार) को राजस्थान रोडवेज की समस्त श्रेणी की बसों (वातानुकूलित, वॉल्वो एवं अखिल भारतीय अनुज्ञा पत्रों पर संचालित बसों के अतिरिक्त) में राजस्थान राज्य की सीमा में निःशुल्क यात्रा सुविधा मिलेगी। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम को उक्त सुविधा के व्यय का पुनर्भरण राज्य सरकार द्वारा निःशुल्क यात्रा पुनर्भरण मद में उपलब्ध प्रावधान में से किया जाएगा।

पिछले वर्ष भी दी थी छूट

राजस्थान सरकार ने इससे पहले महिला दिवस पर भी महिलाओं को निशुल्क यात्रा का तोहफा दिया था। तब भी पूरे प्रदेशभर में हजारों महिलाओं और युवतियों ने रोडवेज बसों में निशुल्क यात्रा की थी। अब जल्द ही जेसीटीएसएल बसों में भी रक्षाबंधन पर निशुल्क यात्रा की सुविधा बालिकाओं और महिलाओं को दी जा सकती है।

राजस्थान से बाहर जाने पर पैसे देने होंगे

इसके साथ ही फ्री ट्रेवल का लाभ केवल राजस्थान की टेरिटरी (सीमा) में ही मिलेगा। राजस्थान से बाहर जाने पर पैसे देने होंगे। मुफ्त यात्रा का लाभ 10 अगस्त रात 12 बजे से मिलना शुरू होगा जो 11 अगस्त की रात 11:59 बजे तक मिलेगा। एडवांस टिकट के अलावा राखी वाले दिन बस के अंदर भी परिचालक की ओर से जीरो बैलेंस वाले टिकट जारी किए जाएंगे। रोडवेज अधिकारियों के अनुसार पूरे राज्य में वर्तमान में करीब 3500 से ज्यादा बसों का संचालन किया जा रहा है। इन बसों को राखी वाले दिन भी चलाया जाएगा। बसों में महिलाओं की ज्यादा भीड़ को देखते हुए बसों के फेरे भी बढ़ाए जा सकते है।

 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -