Friday, 23 February, 2024

---विज्ञापन---

ग्वालियर चंबल की 12 सीटें बागियों के चलते फंसी, देखें किन 4 सीटों पर कांग्रेस, 8 पर BJP के दिग्गजों को कांटे की टक्कर

MP Assembly Election Counting 2023: ग्वालियर चंबल की 12 सींटें बागियों के चलते फंसी हुई है। 8 सीटों पर BJP के लिए अपने बागी परेशानी बने हैं, वहीं 4 सीटों पर कांग्रेस के बागी पार्टी के लिए परेशानी बने हैं। मतदान हो चुका है ऐसे में कौन से दिग्गज बागियों के चलते संकट में फंसे है। देखिए खास रिपोर्ट..

Edited By : Swati Pandey | Nov 25, 2023 06:00
Share :

कर्ण मिश्रा

MP Assembly Election Counting 2023:  ग्वालियर चंबल के बागी कहीं कांग्रेस तो कहीं BJP पर भारी है। इन बागियों के चलते केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर कैबिनेट मंत्री नरोत्तम मिश्रा, मंत्री अरविंद सिंह भदोरिया,मन्त्री सुरेश धाकड़, रघुराज कंसाना, बैजनाथ कुशवाह, संजीव कुशवाह, डॉ गोविंद सिंह, लक्ष्मण सिंह की सींटें समीकरणों में फंस गई है। ज्यादातर दिग्गजों के लिए बागी परेशानी का सबब बन गए हैं तो कुछ जगह दिग्गजों के लिए बागी उम्मीदवार चुनावी नैया पार करने का सहारा भी बन रहे हैं। सबसे पहले आपको कुछ खास आंकड़ों से रूबरू कराते है, जहां कांग्रेस के लिए 4 सीटों पर भारी पड़ेंगे बागी।

दिमनी सीट-
कांग्रेस के बलवीर दंडोतिया कुछ समय पहले ही BSP में शामिल हुए है, और BSP के टिकिट पर चुनावी मैदान में है,वे कांग्रेस के लिये भारी पड़ सकते है।

सुमावली सीट-
कांग्रेस से टिकिट मिलने के बाद फिर टिकिट काटे जाने से आहत हुए कुलदीप सिकरवार ने BSP जॉइन की है औऱ वे BSP टिकिट पर चुनावी मैदान में है। कांग्रेस पर भारी पड़ सकते है।

पोहरी सीट-
कांग्रेस छोड़ BSP में शामिल हुए प्रद्युमन वर्मा BSP के टिकिट पर चुनावी मैदान में है। कांग्रेस के लिए भारी पड़ सकते है।

डबरा सीट-
कांग्रेस से टिकिट न मिलने पर  सत्यप्रकाशी परसेंडिया BSP में शामिल हुई,और BSP के टिकिट पर चुनावी मैदान में है,जो कांग्रेस को काफी नुकसान पहुंचा सकती है

भाजपा के लिए 8 सीटों पर भारी पड़ेंगे बागी

भिंड सीट-

BSP से वर्तमान विधायक संजीव कुशवाहा जिन्होंने 2021 में BJP जॉइन कर ली थी, इस बार टिकिट कटने से नाराज होकर फिर BSP जॉइन कर चुनावी मैदान में है। वे BJP पर भारी पड़ सकते है।

लहार सीट-
BJP के कद्दावर नेता रसाल सिंह टिकिट कटने से नाराज होकर BSP में शामिल होकर चुनावी मैदान में है, वे BJP के लिए भारी पड़ सकते है।

अटेर सीट-
BJP के मुन्ना सिंह भदौरिया ने मंत्री अरविंद भदौरिया को टिकिट दिए जाने से नाराज होकर पार्टी से इस्तीफा दिया,अब SP( समाजवादी पार्टी) जॉइन कर चुनावी मैदान में है,BJP पर भारी पड़ सकते है।

दतिया सीट-
BJP के अवधेश नायक कांग्रेस में शामिल हुए, नायक BJP के लिए ही भारी पड सकते है

कोलारस सीट-
कोलारस विधानसभा से BJP विधायक वीरेंद्र रघुवंशी ने
भाजपा को छोड़ कांग्रेस का दामन थामा है, ऐसे में वीरेंद्र रघुवंशी BJP पर भारी पड़ सकते है।

चाचौड़ा सीट-
BJP की पूर्व विधायक ममता मीणा ने AAP के टिकिट पर चुनावी मैदान में है, वे BJP को काफी नुकसान पहुंचा सकती है।

श्योपुर सीट-  
BJP के बिहारी सोलंकी BSP के टिकिट पर चुनावी मैदान में है। बिहारी सोलंकी BJP को काफी नुकसान पहुंचा सकते है।

मुरैना सीट-
BJP के पूर्व मंत्री रुस्तम सिंह BSP में शामिल,वे BJP उम्मीदवार के लिए भारी पड़ सकते है क्योंकि उनका बेटा राकेश सिंह BSP के टिकिट पर चुनावी मैदान में है

क्या कहते हैं कांग्रेस-भाजपा के पदाधिकारी

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता राम पांडेय का दावा है कि ग्वालियर चंबल अंचल में 8 सीटों पर बागी भाजपा के कई दिग्गजों की नैया डुबो देंगे। खासतौर पर नरेंद्र सिंह तोमर, अरविंद सिंह भदोरिया, इमरती देवी, लक्ष्मण सिंह, रघुराज कंसाना, नरोत्तम मिश्रा  कि सीटों पर बागी भाजपा के लिए ही मुसीबत बनेंगे इसका सीधा फायदा कांग्रेस को मिलेगा। वहीं, BJP की प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कमल माखीजानी का दावा है कि ग्वालियर चंबल अंचल की 12 सीटों पर जो बागी मैदान में है उनमें चाहे बीजेपी के बागी हो या कांग्रेस के बागी, सभी बागी भाजपा के लिए ही फायदेमंद साबित होंगे।

ग्वालियर चंबल अंचल में बागियों के फेर में कई दिग्गजों की सीट फस गई है, हालांकि यह बागी इन दिग्गजों को कितना नुकसान या फायदा पहुंचाएंगे यह तो 3 दिसंबर को सामने आएगा लेकिन तब तक कयासों का दौर जारी रहेगा।

First published on: Nov 25, 2023 06:00 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें