---विज्ञापन---

ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में उतरे CM शिवराज, कहा-दिग्गी राजा चला रहे थे सरकार

MP Politics: चुनावी साल में मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं के बीच बयानबाजी तीखी होती जा रही है। कल दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया आमने-सामने आ गए थे। सिंधिया ने दिग्विजय सिंह के बयान पर पलटवा किया था, जिसके बाद आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी उनका समर्थन किया है। सीएम […]

Edited By : Arpit Pandey | Updated: Apr 22, 2023 14:42
Share :
CM Shivraj Singh Chouhan support of Jyotiraditya Scindia
CM Shivraj Singh Chouhan support of Jyotiraditya Scindia

MP Politics: चुनावी साल में मध्य प्रदेश में बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं के बीच बयानबाजी तीखी होती जा रही है। कल दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया आमने-सामने आ गए थे। सिंधिया ने दिग्विजय सिंह के बयान पर पलटवा किया था, जिसके बाद आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी उनका समर्थन किया है। सीएम ने कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर जमकर निशाना साधा।

सिंधिया गद्दार नहीं खुद्दार हैं

दिग्विजय सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि ‘सिंधिया गद्दार नहीं खुद्दार हैं, आखिर वह कांग्रेस में कितना अपमान सहते। कांग्रेस ने 2018 का विधानसभा चुनाव ज्योतिरादित्य सिंधिया के नाम पर लड़ा, लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ को बना दिया। जबकि उनकी सरकार भी दिग्गी राजा पीछे से चला रहे थे। कमलनाथ तो नाम मात्र के चेहरे थे।’

सड़कों पर उतर जाओं कह दिया

सीएम शिवराज ने कहा कि ‘ जब सिंधियाजी और उनके समर्थकों ने जनसमस्याएओं को उठाया तो कहा कि काम करो नहीं तो हम सड़कों पर उतरेंगे। जिस पर कमलनाथ ने कहा कि उतर जाओ। अहंकार इतना बढ़ गया था कि मैं तो गाड़ी में बिठाकर छोड़ आऊंगा दूसरी पार्टी में। कोई इतना अपमान कैसे सहता। मिलने को कहो चलो-चलो कहते थे।’

जनता हजारों वोटों से क्यों जिताती

सीएम शिवराज ने कहा कि ‘अगर वह लोग गलत होते तो उपचुनाव में जनता उन्हें हजारों वोटों से क्यों जिताती। कांग्रेस में रहते हुए जो लोग एक हजार दो हजार वोटों से जीते थे। फिर वह लोग उपचुनाव में पचास-पचास हजार वोटों से कैसे जीते। हम किसी की मेहरबानी पर सरकार नहीं चला रहे। सिंधिया जी के साथियों ने इस्तीफा दिया और शान से उपचुनाव जीतकर आए। लेकिन कांग्रेस में छोटेपन और ओछेपन की होड़ लगी है, एक नेता दूसरे को छोटा करने के लिए बड़ा बयान देना चाहता है। इसमें कमलनाथ और दिग्विजय सिंह भी शामिल हैं।’

First published on: Apr 22, 2023 02:42 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें