---विज्ञापन---

नूंह हिंसा में मोनू मानेसर कनेक्शन पर गृह मंत्री ने दिया बड़ा बयान, चौटाला बोले- बच सकती थी लोगों की जान

Nuh Violence: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने नूंह हिंसा में मोनू मानेसर कनेक्शन को लेकर बड़ा बयान दिया है। अनिल विज ने कहा कि गोरक्षा टास्क फोर्स के सदस्य मोनू मानेसर का नूंह हिंसा से कोई लेना-देना नहीं है। दरअसल, हिंसा के बाद मोनू मानेसर का नाम इससे जोड़ा जा रहा था। मानेसर […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Aug 2, 2023 13:34
Share :
haryana home minister, anil vij, haryana News, nuh violence, gurugram news, manohar lal khattar, sohna, badshahpur, haryana violence
हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज। -फाइल फोटो

Nuh Violence: हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने नूंह हिंसा में मोनू मानेसर कनेक्शन को लेकर बड़ा बयान दिया है। अनिल विज ने कहा कि गोरक्षा टास्क फोर्स के सदस्य मोनू मानेसर का नूंह हिंसा से कोई लेना-देना नहीं है। दरअसल, हिंसा के बाद मोनू मानेसर का नाम इससे जोड़ा जा रहा था। मानेसर ने ब्रजमंडल यात्रा के 24 घंटे पहले कहा था कि वो यात्रा में शामिल होगा।

राजस्थान के भरतपुर में जुनैद और नासिर हत्याकांड का आरोपी मोनू मानेसर के मेवात आने की खबर के बाद से दोनों समुदाय आमने सामने आ गए थे। हालांकि अनिल विज ने इस वजह को पूरी तरीके से खारिज कर दिया है। साथ ही विज ने बुधवार को कहा कि 31 जुलाई को हुई हिंसा किसी बड़ी साजिश का हिस्सा थी। उन्होंने कहा कि विस्तृत जांच की जाएगी।

उधर, हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि अगर यात्रा के आयोजकों ने जिला प्रशासन को जुलूस के बारे में पूरी जानकारी दी होती तो नूंह जिले में हिंसा से बचा जा सकता था। सत्ताधारी गठबंधन में शामिल जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के प्रमुख चौटाला ने कहा कि जिम्मेदार पाए जाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

अब तक 116 लोगों की गिरफ्तारी, 44 एफआईआर दर्ज

बुधवार को न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए, विज ने कहा कि नूह में स्थिति नियंत्रण में है। हिंसा के संबंध में लगभग 44 एफआईआर दर्ज की गई हैं और अब तक 116 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जिस तरह से पत्थर, हथियार और गोलियां जब्त की गईं, उससे लगता है कि किसी ने हिंसा की साजिश रची और उसे अंजाम दिया। हमने विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं और हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इससे पहले बुधवार को ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा था कि नूंह जिले में हिंसा में 6 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। उन्होंने लोगों से शांत रहने और अफवाहों से प्रभावित न होने का आग्रह किया। सीएम ने भी पुष्टि की कि 31 जुलाई की हिंसा के सिलसिले में 116 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 2 होमगार्ड सहित मरने वालों की संख्या बढ़कर 6 हो गई है।

नूंह और आसपास के इलाकों में सुरक्षा बल अलर्ट

सीएम ने कहा कि हिंसा के बाद राज्य में 20 अर्धसैनिक बल कंपनियों और 30 हरियाणा पुलिस इकाइयों को तैनात किया गया है। सीएम ने बताया कि नूंह में 14 इकाइयां (पुलिस और अर्ध बलों की) तैनात की गई हैं, जबकि अन्य 3, 2 और 1 यूनिट पलवल, फ़रीदाबाद और गुरुग्राम में तैनात की गई है। नूंह के आसपास के इलाकों और सुरक्षा बलों को अलर्ट पर रखा गया है।

नूंह से सटे जिलों-फरीदाबाद, पलवल और गुरुग्राम में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। मंगलवार को हरियाणा के कई अन्य जिलों से ताजा हिंसा की खबरें आईं। गुरुग्राम के बादशाहपुर और सोहना रोड पर भी रातभर हिंसा की घटनाएं हुईं। हिंसा के मद्देनजर नूंह में सोमवार आधी रात से 48 घंटे के लिए धारा 144 लागू कर दी गई और जिले में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं अस्थायी रूप से निलंबित कर दी गईं।

एसपी बोले- यातायात पर प्रतिबंध नहीं, स्कूल और कॉलेज खुले

इससे पहले गुरुग्राम के सहायक पुलिस आयुक्त वरुण दहिया (अपराध) ने कहा कि सभी स्कूल, कॉलेज और कार्यस्थल सामान्य रूप से काम कर रहे हैं। यातायात की आवाजाही पर कोई प्रतिबंध नहीं है। इंटरनेट भी चालू है। मैं सभी से अपील करता हूं कि वे सोशल मीडिया पर अफवाहों पर ध्यान न दें। अगर कोई कोई सूचना देना चाहता है तो वह हेल्पलाइन नंबर ‘112’ पर संपर्क कर सकता है।

First published on: Aug 02, 2023 01:34 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें