Saturday, 13 April, 2024

---विज्ञापन---

BJP पार्षद की हत्या में मुख्य आरोपी गिरफ्तार, गोधरा ट्रेन कांड से है कनेक्शन

Irfan Pada arrested: 27 सितंबर 2020 में गुजरात में निगम पार्षद हिरेन पटेल की हत्या की गई थी। पुलिस जांच में पता चला था कि यह हत्याकांड राजनीतिक द्वेष के चलते की गई थी। दाहोद के पूर्व सांसद बाबूभाई कटारा के बेटे अमित कटारा ने इस हत्याकांड की सुपारी दी थी।

Edited By : Amit Kasana | Updated: Mar 20, 2024 15:43
Share :
murder
murder

Irfan Pada arrested: गुजरात के झालोद से बीजेपी पार्षद हिरेन पटेल की हत्या में फरार आरोपी इरफान को पुलिस की एटीएस यूनिट ने गिरफ्तार किया है। साल 2020 में इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया था, तभी से इरफान फरार चल रहा था। एटीएस के अनुसार आरोपी को इंदौर के खजराना इलाके से गिरफ्तार किया गया है। बता दें राजनीतिक प्रतिस्पर्धा के चलते हिरेन पटेल की गाड़ी से कुचलकर हत्या की गई थी।

साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन नरसंहार में दोषी

पुलिस के अनुसार आरोपी का पूरा नाम इरफान पाडा है। वह गोधरा के साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन नरसंहार मामले में भी दोषी है। उसे निगम पार्षद की हत्या की सुपारी दी गई थी। जिसके बाद पाडा ने हिरेन पटेल की दिनचर्या की रेकी की और 27 सितंबर 2020 की सुबह जब हिरेन सैर पर निकले थे तो उसने उनकी गाड़ी से कुचल कर हत्या कर दी। पुलिस उससे पूछताछ कर मामले में आगे की जांच की जा रही है।

पूर्व सांसद के बेटे ने दी थी सुपारी

पुलिस के अनुसार फोन सर्विलांस के जरिए इरफान को पकड़ा गया है। यह पूरा मामला राजनीतिक द्वेष का है। पुलिस जांच में पता चला था कि दाहोद के पूर्व सांसद बाबूभाई कटारा के बेटे अमित कटारा ने इमरान को इस हत्याकांड की सुपारी दी थी। इमरान ने आगे मोहम्मद समीर, सज्जन सिंह उर्फ करण, इरफान और अजय के साथ मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया था। गुजरात एटीएस इससे पहले इमरान को गिरफ्तार किया था। इमरान ने इरफान के बारे में जानकारी दी थी।

ये भी पढ़ें: Bank में अनोखी सेंधमारी, चंद घंटों में उड़ गए 332 करोड़; अब उठाना पड़ा यह कदम

यह भी जानें 

पुलिस ने इरफान के बारे में कोर्ट को सूचना दे दी है। पुलिस के अनुसार 2020 में झालोद नगर पालिका पर कांग्रेस की सत्ता थी, अमित कटारा की पत्नी किंजल उसकी अध्यक्ष थीं। 26 अगस्त को चुनाव होना था इससे पहले हिरेन पटेल कांग्रेस पार्षदों को अपने साथ मिला लिया था और ठीक चुनाव से पहले हिरेन दौरे पर चले गए। योजना के मुताबिक कांग्रेस पार्षदों ने पार्टी के खिलाफ काम किया और सोनलबेन को नगर पालिका का अध्यक्ष बना दिया, जबकि एक निर्दलीय महिला पार्षद को उपाध्यक्ष चुना गया। कांग्रेस पार्षदों के दलबदल के कारण बीजेपी नगर पालिका पर सत्ता में आ गई ,जो अमित कटारा बर्दाश्त नहीं कर पाया और इसलिए अमित ने अजय कलाल के साथ मिलकर पटेल को मारने के लिए सुपारी थी।

इनपुट-भूपेंद्र सिंह ठाकुर

First published on: Mar 20, 2024 03:43 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें