Friday, 23 February, 2024

---विज्ञापन---

साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया से मिलीं प्रियंका गांधी, कहा- कांग्रेस न्याय की लड़ाई में हर तरह से देगी साथ

Sakshi Malik Bajrang Punia Controversy: कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने महिला पहलवान साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया से मुलाकात की है। उन्होंने कहा कि न्याय की लड़ाई में कांग्रेस हर तरह से उनका साथ देगी।

Edited By : khursheed | Updated: Dec 22, 2023 21:51
Share :
Priyanka Gandhi Vadra meet Wrestlers Sakshi Malik and Bajrang Punia

Priyanka Gandhi Met Sakshi Malik and Bajrang Punia: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने महिला पहलवान साक्षी मलिक से उनके घर पर मुलाकात की। यहां पर पहलवान बजरंग पूनिया भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस न्याय की लड़ाई में हर तरह से महिला पहलवानों का साथ देगी।

भाजपा दे रही आरोपियों का साथ

प्रियंका ने कहा कि दुनियाभर में देश का मान बढ़ाने वाली हमारी महिला खिलाड़ियों ने भाजपा सांसद पर यौन शोषण का आरोप लगाया, लेकिन भाजपा सरकार ने अपने सांसद पर कोई कार्रवाई नहीं की। उल्टा पीड़िताओं को ही तरह-तरह से प्रताड़ित किया। भाजपा आज भी आरोपी के साथ खड़ी है और उसे हर तरह से पुरस्कृत कर रही है। देश की महिलाएं यह अत्याचार देख रही हैं।

बता दें कि भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के चुनाव नतीजों के बाद महिला पहलवान साक्षी मलिक ने कुश्ती से संन्यास लेने का ऐलान किया था। इसके एक दिन बाद शुक्रवार को पहलवान बजरंग पूनिया ने पीएम मोदी को संबोधित करते हुए पत्र लिखकर कहा कि वे अपना पद्मश्री अवॉर्ड लौटा रहे हैं।

 

बजरंग पूनिया ने पीएम मोदी को पत्र में यह लिखा?

बजरंग पूनिया ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में कहा कि आपको पता होगा कि जनवरी में महिला पहलवानों ने बृज भूषण शरण सिंह पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे। उसमें मैं भी शामिल था। सरकार ने हमें कार्रवाई करने के लिए कहा था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। हमने अप्रैल में दोबारा आंदोलन किया। इसके बाद कोर्ट में जाकर लड़ाई लड़ी, तब एफआईआर हुई।

बाद में बृज भूषण ने अपनी ताकत के दम पर 19 में से 12 पीड़ित पहलवानों को पीछे हटा दिया। हमारा विरोध प्रदर्शन 40 दिन चला और इस दौरान महिला पहलवान और पीछे हट गईं। इसके बाद हमें कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या करें। हमने अपने मेडल को गंगा में बहाने का फैसला कर लिया, लेकिन किसानों और कोच ने हमें रोक लिया। इसके बाद गृह मंत्री ने मुलाकात लिए बुलाया और हमें न्याय दिलाने का आश्वासन दिया और हमने अपना आंदोलन समाप्त कर दिया।

अब 21 दिसंबर को WFI के अध्यक्ष पद के चुनाव में भृज भूषण शरण सिंह के करीबी ने जीत हासिल की। उन्होंने बयान दिया कि दबदबा है और दबदबा रहेगा। मानसिक दबाव में आकर महिला पहलवान साक्षी मलिक ने संन्यास ले लिया है। हम सभी की रात रोते हुए निकली। समझ नहीं आ रहा था कि कहां जाएं, क्या करें, कैसे जिएं। इसलिए मैंने पीएम मोदी को अपना पद्मश्री अवॉर्ड लौटाने का फैसला कर लिया है।

ये भी पढ़ें: बजरंग पूनिया ने पद्मश्री लौटाने का किया ऐलान, PM मोदी को देने जा रहे थे अवॉर्ड, पुलिस ने रोका

ये भी पढ़ें: ‘बेटियों के अपमान पर प्रधानमंत्री चुप’, पहलवानों के समर्थन में आई कांग्रेस

First published on: Dec 22, 2023 09:51 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें