Thursday, December 1, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

डेंगू-चिकनगुनिया की दवा नहीं खरीदकर दिल्लीवालों की जान से खिलवाड़ कर रही पीएम मोदी की भाजपा शासित एमसीडी: आप

‘आप’ विधायक एवं एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि पीएम मोदी जी के नेतृत्व में चल रही भाजपा शासित एमसीडी ने दिल्ली में डेंगू और चिकनगुनिया की रोकथाम के लिए अबतक दवा नहीं खरीदी है।

नई दिल्ली: ‘आप’ विधायक एवं एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि पीएम मोदी जी के नेतृत्व में चल रही भाजपा शासित एमसीडी ने दिल्ली में डेंगू और चिकनगुनिया की रोकथाम के लिए अबतक दवा नहीं खरीदी है। केजरीवाल सरकार के बड़े योगदान के साथ इस साल दिल्ली में डेंगू के मात्र 33 मामले आए हैं। लेकिन यदि मोदी जी ने समय से दवा खरीदकर छिड़काव नहीं करवाया तो हालात बिगड़ सकते हैं।

आम आदमी पार्टी ने पीएम मादी से तत्काल दवाई खरीदकर छिड़काव कराने की मांग की है। दुर्गेश पाठक ने कहा कि मोदी जी को केजरीवाल से ना जाने कैसी नफरत है कि उनको बदनाम करने के लिए दिल्लीवालों की जान को खतरे में डाला जा रहा है।

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता, राजेंद्र नगर से विधायक एवं एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय में प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले 5-6 सालों में डेंगू और चिकनगुनिया की रोकथाम में अरविंद केजरीवाल सरकार का बड़ा योगदान रहा है।

आप लोगों को ध्यान होगा कि 2013, 2014 और 2015 में दिल्ली में डेंगू से होने वाली मौतों से संबंधित खबरें बहुत दिखाई जाती थीं। लेकिन अरविंद केजरीवाल की सरकार ने जबरदस्त तरीके से काम किया और आज जब हम जुलाई और अगस्त के महीने में हैं तो डेंगू और चिकनगुनिया के केस लगभग-लगभग आने बंद हो गए हैं। लेकिन ऐसा लगता है कि प्रधानमंत्री मोदी जी दिल्ली वालों की इस खुशी और केजरीवाल सरकार की उपलब्धि से नाखुश हैं। दिल्ली सरकार की डेंगू और चिकनगुनिया की इस इस लड़ाई को मोदी जी फेल करने में लगे हुए हैं।

उन्होंने कहा कि डेंगू और चिकनगुनिया की रोकथाम का सबसे महत्वपूर्ण फेक्टर डेंगू की दवाई का छिड़काव है। मोदी जी के नेतृत्व वाली एमसीडी के इतिहास में पहली बार दिल्ली में डेंगू और चिकनगुनिया के मच्छरों को मारने की जो दवा है, वह दवा खरीदी ही नहीं खरीदी गई है। उसका टेंडर तक जारी नहीं किया गया है और ना ही उससे संबंधित कोई जागरुकता कार्यक्रम किया गया है।

‘आप’ विधायक ने कहा कि पीएम मोदी जी ने तय कर लिया है कि दिल्लीवालों को फिर से डेंगू और चिकनगुनिया की पुरानी स्थिति में डालना है। आपको ध्यान होगा कि 2017 में 577 मामले आए थे, 2018 में 473 मामले आए, 2019 में 713 मामले आए, 2020 में सिर्फ 215 मामले आए, 2021 में मात्र 160 मामले आए और 2022 में अभीतक सिर्फ 33 मामले आए हैं। मॉनसून चल रहा है, ऐसे में जगह-जगह पानी इकट्ठा होना आम बात है जिसके कारण डेंगू और चिकनगुनिया के मच्छर पैदा होंगे।

ऐसे महत्वपूर्ण समय में पीएम मोदी जी को राजनीति सूझ रही है। मोदी जी के नेतृत्व में चल रही एमसीडी अपना काम नहीं कर रही है। इस बार मच्छरों को मारने की दवा तक नहीं खरीदी गई है जिससे दिल्ली वालों पर बड़ा खतरा मंडरा रहा है।

पीएम मोदी से मांग करते हुए विधायक दुर्गेश पाठक ने कहा कि दिल्लीवालों से इस प्रकार दुश्मनी ना निकाली जाए। पहले ही बहुत वक्त निकल गया है इसलिए तत्काल प्रभाव से डेंगू और चिकनगुनिया की दवाई का प्रबंध किया जाए। मादी जी से विनती है कि राजनीति छोड़कर, केजरीवाल से नफरत की मंशा को पीछे छोड़कर दिल्लीवालों के स्वास्थ्य का ख्याल रखा जाए।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -