---विज्ञापन---

T20 WC: ‘सेल्समैन था 2017 में बदल गई जिंदगी…’, पाकिस्तान के स्टार गेंदबाज ने बताए अपने खराब दिनों के हालात

T20 WC: टी20 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच 13 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न स्टेडियम में खेला जाएगा। पाकिस्तान और इंग्लैंड की टीम आमने-सामने होगी। इस मैच में रोमांच अपने चरम पर रहने वाला है। एक तरफ इंग्लैंड के बैटर होंगे तो दूसरी तरफ पाकिस्तान के तूफानी तेज गेंदबाज। ये टक्कर मजेदार होगा। शाहीन अफरीदी, […]

Edited By : Gyanendra Sharma | Updated: Nov 13, 2022 11:19
Share :

T20 WC: टी20 वर्ल्ड कप का फाइनल मैच 13 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न स्टेडियम में खेला जाएगा। पाकिस्तान और इंग्लैंड की टीम आमने-सामने होगी। इस मैच में रोमांच अपने चरम पर रहने वाला है। एक तरफ इंग्लैंड के बैटर होंगे तो दूसरी तरफ पाकिस्तान के तूफानी तेज गेंदबाज। ये टक्कर मजेदार होगा। शाहीन अफरीदी, नसीम शाह और हारिस रऊफ जैसे तेज गेंदबाज हैं। दूसरी ओर इंग्लैंड के पार बैटर्स की फैज है।

फाइनल मुकाबले से पहले दोनों टीमों ने फाइनल तैयारी कर ली है। मैच पहले पाकिस्तान के स्टार गेंदबाज हारिस रऊफ ने एक इंटरव्यू दिया है। इस इंटरव्यू की पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के ट्विटर हैंडल पर साझा किया गया है। इसमें राऊफ ने अपने क्रिकेटिंग करियर के बारे में जानकारी दी है।

अभी पढ़ें IND vs NZ: भारत के खिलाफ T20 और ODI सीरीज के लिए न्यूजीलैंड टीम में हो सकता है ये बदलाव

मैंने भी टेप बॉल से क्रिकेट खेलना शुरु किया: हारिस रऊफ

हारिस रऊफ ने कहा कि मैं कभी टेप बॉल से क्रिकेट खेलता था। पाकिस्तान जितने भी तेज गेंदबाज हैं सभी ने यहीं से शुरुआत की, मैंने भी टेप बॉल से क्रिकेट खेलना शुरु किया। कभी सोचा नहीं था प्रोफेशनल क्रिकेट खेलूंगा। क्रिकेट के साथ-साथ सेल्समैन का जॉब करता था। लेकिन जब में यूनिवर्सिटी गया तो टेप बॉल का टूर्नामेंट खेलना शुरु किया। वहां से पैसे मिलते थे, उसी कॉलेज की फीस भरता था।

‘लाहौर के ट्रायल में मेरा सलेक्शन हुआ’

हारिस रऊफ ने कहा, साल 2017 में लाहौर में ट्रायल हुए, जिसमें उन्होंने हिस्सा लिया। वहां सलेक्शन होने के बाद प्रोफेशनल क्रिकेट खेलना शुरु किया। अपनी फिटनेस के बारे में बात करते हुए हारिस रऊफ ने बताया कि एक फास्ट बॉलर को अपने फिटनेस पर हमेशा काम करना पड़ता है।

एक वाकये को याद करते हुए उन्होंन कहा कि पहले में फिटनेस पर ज्यादा ध्यान नहीं देता था, लेकिन अपने पहले मैच में ही मैं इंजर्ड हो गया और तीन महीनों तक क्रिकेट नहीं खेल पाया। इसके बाद मैंने अपनी फिटनेस पर काम किया और मसल्स और इंप्रुव किया। पीसीएल में बहुत कुछ सिखने को मिला।

अभी पढ़ें 20 साल का खिलाड़ी बना नेपाल क्रिकेट टीम का कप्तान, संदीप लामिछाने की लेगा जगह

मेरा काम है बैटर पर दवाब बनाना

टीम में अपने रोल के बारे में बात करते हुए हारिस रऊफ ने बताया कि नए बॉल से अगर गेंदबाजों ने विकेट ले लिए हैं तो मैं उस मूमेंटम को आगे ले जाने का काम करता हूं। वहीं अगर शुरुआत में विकेट नहीं मिले हैं तो मैं फिर रन को रोक कर बैटर पर दवाब बनाने की कोशिश करता हूं। राऊफ ने बताया कि पाकिस्तान के लिए अपना बेस्ट देना चाहता हूं।

अभी पढ़ें – खेल से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

First published on: Nov 12, 2022 07:20 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें