Tuesday, November 29, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

CWG 2022: जोश-जज्बा-जुनून…बर्मिंघम में इतिहास रचते ही छा गईं मीराबाई चानू, देखें वीडियो

नई दिल्ली: 27 साल की वो खिलाड़ी जो मंच पर आती है, तो रौंगटे खड़े हो जाते हैं। वो वजन को देखकर दहाड़ती है और उसे चुनौती देकर सिर से ऊंचा उठा लेती है। जोश, जुनून और जज्बे से लबरेज ये खिलाड़ी है वेटलिफ्टर मीराबाई चानू। मीराबाई चानू ने बर्मिंघम में आयोजित किए जा रहे कॉमनवेल्थ गेम्स में इतिहास रच दिया है। चानू ने 49 किग्रा वर्ग में कुल 201 किग्रा वजन उठाकर गोल्ड मेडल जीता और देश को गौरवान्वित किया।

चानू जैसे ही मंच पर आईं, कॉन्फिडेंस से लबरेज दिखीं। आते ही उन्होंने पैर पटका और दहाड़ मारी। वेट को छूकर देखा और फिर सिर ऊंचा कर दर्शकों की ओर देखने लगीं। मीराबाई के इस जज्बे ने पहले ही बता दिया कि आज कुछ बड़ा होने वाला है। भारतीय खेमे से आवाज आई, तो मीराबाई ने भी वजन उठाने की कोशिश में एक बार फिर जोश से आवाज लगाई। करोड़ों उम्मीदों की जिम्मेदारी कंधों पर लिए मीराबाई चानू ने इस तरह वजन उठाया किया कि रौंगटे खड़े हो गए। कुछ देर तक 88 किलो वजन को अपने ऊपर रख मीराबाई ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ दिया।

 

और पढ़िए VIDEO: क्रिकेट का ऐसा जुनून कि 6 सेकंड के वीडियो ने बना दिया स्टार, राहुल गांधी से लेकर ये दिग्गज हुए फैन

 

नया राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड
उन्होंने दूसरे स्नैच प्रयास में 88 किग्रा की सफल लिफ्ट के साथ अपना नया व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ और राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया। यह एक नया राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड भी है। हालांकि मीराबाई चानू अपने तीसरे स्नैच प्रयास में 90 किग्रा भार उठाने में विफल रहीं, लेकिन 88 किग्रा के सर्वश्रेष्ठ भारोत्तोलन के साथ वह अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी से 12 किग्रा आगे निकल गईं। नया रिकॉर्ड बनाते ही हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। इसके बाद मीराबाई ने अपने सामने आई हर चुनौती को पार किया और भारत के मस्तक पर सोने का गौरव चढ़ा दिया।

 

और पढ़िए 7 महीने बाद Team India में लौटा ये खतरनाक खिलाड़ी, वर्ल्डकप में गेंद और बल्ले से मचाएगा धमाल!

 

 

कुल रिकॉर्ड 201 किग्रा
चानू ने अपने पहले क्लीन एंड जर्क प्रयास में 109 किग्रा की सफल लिफ्ट की। इसके बाद उन्होंने अपने दूसरे क्लीन एंड जर्क प्रयास में 113 किग्रा भार उठाया, जिससे कुल रिकॉर्ड 201 किग्रा हो गया। वह अपने तीसरे प्रयास के लिए वापस आई, लेकिन 115 किग्रा भार उठाने में विफल रहीं, लेकिन कोई भी प्रतिभागी उनसे ज्यादा वजन नहीं उठा पाया। इस तरह बर्मिंघम में उन्होंने टीम इंडिया को पहला गोल्ड दिला दिया। मीराबाई से पहले वेटलिफ्टिंग में संकेत सरगर ने सिल्वर और गुरुराजा पुजारी ने ब्रॉन्ज पर कब्जा जमाया।

पीएम मोदी ने दी बधाई
मीराबाई चानू की इस अभूतपूर्व सफलता पर दुनियाभर से उन्हें शुभकामनाएं मिल रही हैं। सोशल मीडिया पर मीराबाई चानू छाई हुई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी है। पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा, असाधारण मीराबाई चानू ने भारत को एक बार फिर गौरवान्वित किया! हर भारतीय इस बात से खुश है कि उन्होंने बर्मिंघम खेलों में एक स्वर्ण पदक जीता और एक नया राष्ट्रमंडल रिकॉर्ड बनाया। उनकी सफलता कई भारतीयों को प्रेरित करती है, विशेषकर नवोदित एथलीटों को।

 

 

और पढ़िए – खेल से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

 

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -