Wednesday, 24 April, 2024

---विज्ञापन---

Exclusive Interview ‘घरेलू पिच’ पर उतरे अजहरुद्दीन को नहीं ओवैसी के सिपाही का खौफ; बोले-10 साल में BRS ने कुछ नहीं किया

Mohammad Azharuddin Exclusive Interivew: तेलंगाना में इस बार सरकार कांग्रेस ही बनाएगी। प्रस्तुत हैं कांग्रेस उम्मीदवार से हुई एक्सक्लूसिव बातचीत (Exclusive Interview) के महत्वपूर्ण अंश...

Edited By : Balraj Singh | Updated: Nov 24, 2023 09:40
Share :

श्रीनिवास जैन/हैदराबाद

Mohammad Azharuddin Exclusive Interivew: तेलंगाना में विधानसभा चुनाव (Telangana Assembly Election 2023) के लिए 30 नवंबर को होने वाले मतदान में अब कुछ ही दिन बाकी बचे हैं। एक ओर हाल में प्रदेश की सत्ता पर काबिज भारत राष्ट्र समिति (BRS) के लगातार तीसरी बार जीत के दावे किए जा रहे हैं, वहीं कांग्रेस इसे सत्ता से बाहर का रास्ता दिखाने के लिए अपने आप को पूरी तरह से तैयार मानती है। इसी बीच प्रदेश के हालात को लेकर न्यूज 24 ने हैदराबाद की जुबली हिल्स विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरे पूर्व दिग्गज क्रिकेटर मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammed Azharuddin) के साथ बात की।

इस दौरान वह न सिर्फ अपने खिलाफ असदुद्दीन ओवैसी बिछाए जा रहे जाल को लेकर एकदम निश्चिंत दिखे। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के द्वारा उतारे गए उम्मीदवार से बेखौफ अजहरुद्दीन ने कहा कि जुबली हिल्स विधानसभा क्षेत्र के लोग उनके साथ हैं। इसी के साथ उन्होंने कहा कि इस बार राज्य में सरकार कांग्रेस ही बनाएगी। प्रस्तुत हैं कांग्रेस उम्मीदवार से हुई एक्सक्लूसिव बातचीत (Exclusive Interview) के महत्वपूर्ण अंश…

आपने राजनीति से संन्यास ले लिया था। अब वापसी की कोई खास वजह?

छोड़ने का तो सवाल ही नहीं उठता। मैं राजनीति में हमेशा के लिए आया हूं। कई सारी चीजें हैं, जिनके लिए आपको फाइट करना पड़ता है। मैं हलके के विकास के लिए लड़ूंगा। इस हलके में विकास नाम की कोई चीज ही नहीं है। मैं लोगों के उत्थान के लिए पूरी से गंभीर हूं।

…पर आपने मुरादाबाद में लोकसभा सीट के लिए चुनाव लड़ा था। इसके बाद लंबे वक्त तक राजनीति में दिखाई नहीं दिए। बहुत से लोगों का कहना है कि यह गंभीर राजनीति नहीं है?

नहीं ऐसा बिलकुल भी नहीं है। सोचिए कि अगर कोई आदमी तेलंगाना से उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में जाकर लड़ता है और जीत हासिल करता है तो कुछ तो है, जो गंभीर है। लोगों का क्या है, उनको तो बातें ही करनी हैं। विरोधियों के पास जब कोई मुद्दा नहीं बचा तो बिना सिर-पैर की बातें करने लग गए। यकीनन मैं एक गंभीर राजनेता हूं। हर कोई जानता है कि नेशनल हाईवे नंबर 24 को मैंने ही मंजूर करवाया था। इसके अलावा भी सैकड़ों लोगों की भलाई के लिए किए हैं। वहां की जनता इस बात की गवाह है।

ओवैसी ने कहा था कि आपने तो अपने लोकसभा हलके में सूरत ही नहीं दिखाई, संसद में भी जनहित का कोई मुद्दा नहीं उठाया?

मुरादाबाद ने मुझे बहुत दिया है। मैंने भी अपने क्षेत्र के लिए काम करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। मैं पहले ही कह चुका हूं, वहां की जनता इस बात की गवाह है। बाकी जिल लोगों के पास कोई मुद्दा नहीं होता, वो कुछ न कुछ तो ढूंढते ही हैं न। जब पार्टी नेतृत्व ने मुरादाबाद में मौका दिया तो वहां अपना बेहतर देने में कोई कसर नहीं छोड़ी। अब पार्टी का आदेश यहां के लिए हुआ तो इस पर खरा उतरने के लिए पूरी कोशिश है।

…लेकिन इस हकीकत को भी नकारा नहीं जा सकता कि राजनीति की बजाय आपका ध्यान क्रिकेट की तरफ रहा है?

निश्चित रूप से मैं राजनीति में सक्रिय हूं। मैंने काम किए हैं। मैं पिछले चार-पांच साल से यहां अध्यक्ष के पद पर हूं, जिसका निर्वहन करते हुए मैंने बिलकुल शांतिपूर्ण और समर्पित तरीके से काम किए हैं। कर भी रहा हूं। जहां भी जरूरत पड़ी है, मैं हाजिर हुआ हूं।

…लेकिन लोग कहते हैं कि यहां टीआरएस ने बहुत काम किए हैं। क्या आप सहमत हैं?

नहीं, बिलकुल भी नहीं। पिछले लगभग 10 साल में यहां विकास नाम की कोई चीज नहीं है। सब झूठे वादे थे। खुद मेरे जुबली हिल विधानसभा क्षेत्र में इनके विकास की रिपोर्ट जीरो है। इतना ही नहीं, सिटिंग एमएलए गुंडागर्दी पर उतरे हुए हैं। आप किसी से भी मर्जी बात कर लीजिए। पूछ लीजिए, आपको अंदाजा हो जाएगा कि हकीकत क्या है।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस नेता Rajeev Shukla ने BJP से पूछा सवाल, ‘चुनाव जीतने पर क्या Modi बनेंगे CM?’

लोग कहते हैं-आपको एक पैराशूटिए उम्मीदवार के रूप में यहां से चुनाव लड़ाया जा रहा है। इस बात में कितनी सच्चाई है? आपका कनेक्शन क्या है हलके से?

प्योर तेलंगाना ब्लड। पैराशूटिया उम्मीदवार कैसे कोई साबित कर सकता है। मैं पैदा यहां हुआ हूं, पढ़ा यहीं से हूं। खेला भी यहां के लिए ही और बाकी सारा संबंध तो मेरा यहीं से है।

…पर आपके मुकाबले में चुनाव लड़ रहे ओवैसी के एक उम्मीदवार के बारे में कहा जाता है कि वो मुस्लिम समुदाय के बहुत से वोट उन्हें जा सकते हैं तो क्या आपको किसी बात की चिंता?

जी नहीं। मुझे सच में इस बात की कतई चिंता नहीं है कि कौन क्या कर रहा है। जब आप फील्ड में होते हैं तो आपको सारी हकीकत का पता होता। वो तो ये वोट काटने का काम पिछले कुछ बरसों से यही काम कर रहे हैं, उनका काम है। वो काम रहे हैं। ऐसे में कोई फर्क नहीं पड़ने वाला। मैं अपना चुनाव लड़ रहा हूं और मैं जानता हूं कि जुबली हिल्स के लोग मजबूती से मेरे साथ खड़े हैं।

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने कहा-कांग्रेस के तूफान का गवाह बनेगा तेलंगाना; KCR पर निशाना-जिस स्कूल में आप पढ़े, वो हमने बनाया

…तो ओवैसी और आपके बीच में निजी खींचतान जैसी कोई बात नहीं?

नहीं ऐसी कोई बात नहीं है।

पिछले चुनाव में टीआरएस ने कांग्रेस को पूरी तरह से साफ कर दिया था तो इस बार क्या लगता है?

पिछली बार के चुनाव से इस बार बहुत बदला है। हाल ही में कर्नाटक को ही देख लीजिए, कांग्रेस की पूरी तरह से लहर है। लोग सपोर्ट कर रहे हैं हमें। यहां तेलंगाना के विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस जीतेगी और सरकार बनाएगी।

…और आपकी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रेवंत रेड्डी के बारे में कहा जा रहा है कि वह भाजपा मूल के हैं। एबीवीपी का उनका बैकग्राउंड है, उनको आरएसएस अन्ना बुलाते हैं ओवैसी?

इस बात से क्या फर्क पड़ता है। वो फिलहाल कांग्रेस में हैं और हर नेता या कार्यकर्ता पार्टी की नीतियों के साथ ही काम करता है। पार्टी के अध्यक्ष हैं वो। हम उनका सम्मान करते हैं। पार्टी की प्रदेश की राजनीति उनके इर्द-गिर्द घूम रही है।

यह भी पढ़ें: असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस के घोषणापत्र पर साधा निशाना, कर डाली यह बड़ी मांग

क्रिकेट वर्ल्ड कप में हार को लेकर आप क्या कहेंगे? क्या वाकयी आपको लगता है कि यह दिल तोड़ देने वाला था?

हां थोड़ा सा निराशाजनक रहा है, लेकिन टीम के लगभग सारे खिलाड़ी अच्छा खेले। अब जैसा कि रिजल्ट सबके सामने है तो जाहिर तौर पर कहा जा सकता है कि ऑस्ट्रेलिया की टीम थोड़ा और बेहतरी के साथ खेली और उसका फायदा उसे मिला।

…लेकिन राहुल गांधी बयान दे रहे हैं कि प्रधानमंत्री पनौती हैं। उनके वहां जाने की वजह से ही टीम हारी है तो?

मेरे ख्याल से इस मसले पर कुछ भी कहना थोड़़ा मुश्किल काम है। बाकी सबके अपने-अपने मायने हैं-किसी भी चीज को देखने का सबका अपना-अपना नजरिया है।

First published on: Nov 24, 2023 07:30 AM
संबंधित खबरें