Thursday, September 29, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

जब झारखंड में नेशनल हाइवे पर जमा गंदे पानी में नहाने लगीं महिला विधायक, जानें क्या है मामला

विधायक दीपिका पांडे ने कहा कि लंबे समय से शिकायत के बाद भी सड़क नहीं बन पा रही है। इस सड़क पर राज्य सरकार की कोई जवाबदेही नहीं है।

विवेक चंद्र, रांची: झारखंड के महगामा से कांग्रेस विधायक दीपिका पांडे सिंह अचानक से चर्चा में आ गई है। चर्चा में आने की वजह है उनका खुद के विधानसभा क्षेत्र में खुलेआम नेशनल हाईवे (NH) पर जमा गंदे पानी में उतरकर नहाना। दरअसल, ऐसा उन्होंने एनएच की दुर्दशा और जलजमाव के विरोध में किया। विधायक सड़क पर जमा पानी में स्नान करने लगी और स्थानीय भाजपा सांसद निशिकांत दुबे को खूब खरी-खोटी सुनाई।

अभी पढ़ें अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई, 10 राज्यों में NIA की छापेमारी, 100 से ज्यादा PFI वर्कर्स अरेस्ट

 

गंदे पानी से नहाने के बाद दिया धरना

दरअसल, मेहरमा के राष्ट्रीय राजमार्ग 133 मेहरमा-पिरोजपुर स्थित सिद्धू-कान्हू चौक पर सड़क की स्थिति लंबे समय से खराब है। इस सड़क पर आए दिन दुर्घटना होती रहती है। विधायक दीपिका पांडे ने कहा कि लंबे समय से शिकायत के बाद भी सड़क नहीं बन पा रही है। इस सड़क पर राज्य सरकार की कोई जवाबदेही नहीं है। बाबजूद इसके हमने कई बार सड़क का मरम्मत कराई। केन्द्र की और से इसका स्थाई समाधान अब तक नहीं निकल पाया है। दीपिका पांडे सिंह गंदे पानी में नहाने के बाद सड़क निर्माण की मांग को लेकर वहीं धरने पर बैठ गईं।

सांसद निशिकांत दुबे का है संसदीय क्षेत्र

बता दें कि मेहरमा भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के संसदीय क्षेत्र में आता है। दीपिका पांडे के इस अनोखे विरोध के बाद कांग्रेस पार्टी ने सांसद निशिकांत दुबे पर हमला बोला है। कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राकेश सिन्हा ने कहा कि निशिकांत दुबे सिर्फ़ ट्विटर पर सरकार गिराने की साजिश रचते रहते हैं। उन्हें जनता के सरोकार और दुःख दर्द से कोई मतलब नहीं है।

अभी पढ़ें Raju Srivastav Funeral: कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव को आज दी जाएगी आखिरी विदाई, दिल्ली में अंतिम संस्कार

सांसद के बचाव में उतरी बीजेपी

दीपिका पांडे के विरोध प्रदर्शन के बाद भाजपा स्थानीय सांसद निशिकांत दुबे के बचाव में उतर गई है। भाजपा ने सड़क की बदहाली का सारा ठीकरा राज्य सरकार पर फोड़ दिया है। बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप सिन्हा कहते हैं कि केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से एक साल पहले ही प्रस्ताव मांगा था, लेकिन राज्य सरकार इस मामले में काफी सुस्त है।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -