Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

ED अधिकारी रंगे हाथ रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया, केस बंद करने के लिए डॉक्टर से लिए 20 लाख रुपए

Tamil Nadu anti-corruption police arrest ED officer raid handed taking 20 lakh bribe: तमिलनाडु की एंटी-करप्शन पुलिस ने एक ईडी अधिकारी को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। आरोपी अधिकारी ने डॉक्टर से केस बंद करने के नाम पर 20 लाख रुपए की रिश्वत ली थी। एंटी-करप्शन पुलिस पूछताछ के बाद आरोपी अधिकारी को कोर्ट में पेशी के लिए ले गई है।

Edited By : khursheed | Updated: Dec 2, 2023 09:28
Share :

Tamil Nadu anti-corruption police arrest ED officer raid handed taking 20 lakh bribe: तमिलनाडु के डिंगिडुल जिले में तमिलनाडु सतर्कता और भ्रष्टाचार निरोधक निदेशालय (डीवीएसी) के अधिकारियों ने ईडी अधिकारी को 20 लाख रुपए लेते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। मिली जानाकारी के अनुसार, उन्होंने आय से अधिक संपत्ति के मामले में एक आरोपी डॉक्टर से केस बंद करने के लिए 20 लाख रुपए की रिश्वत ली है। डीवीएसी अधिकारी ने डॉक्टर से इस मामले में पूछताछ की और अब उसे डिंडीगुल में न्यायिक मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने के लिए डीवीएसी कार्यालय से ले जाया गया है।

अधिकारियों ने जब्त किए 20 लाख रुपए

बताया जा रहा है कि अरोपी ईडी अधिकारी अपनी टीम के साथ डॉक्टर के पास पहुंचा था और उसे धमकाया। साथ ही प्रवर्तन निदेशालय में उनके मामले को बंद करने के नाम पर रिश्वत ले रहा था। डिंडीगुल के डीवीएसी अधिकारियों ने शुक्रवार तड़के मदुरै-डिंडीगुल फोर-वे लेन पर कोडईकनाल रोड टोल कलेक्शन प्लाजा के पास ईडी अधिकारी अंकित तिवारी को गिरफ्तार किया। अधिकारियों ने उनकी कार से 20 लाख रुपए नकद जब्त किए, जो उसे कथित तौर पर रिश्वत के रूप में मिले थे। पुलिस ने कहा कि तिवारी को पूछताछ के लिए डिंडीगुल में डीवीएसी कार्यालय ले जाया गया।

News24 अब WhatsApp पर भी, लेटेस्ट खबरों के लिए जुड़िए हमारे साथ

news24 Whatsapp channel

ये भी पढ़ें: News Bulletin: कमर्शियल गैस सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी, भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर T20 सीरीज पर किया कब्जा

तीन करोड़ रुपए की मांगी थी रिश्वत

सूत्रों के मुताबिक, डिंडीगुल के सुरेश बाबू से मिली शिकायत के बाद पुलिस ने गुरुवार को मामला दर्ज किया था। शिकायतकर्ता ने कहा कि उसने डिंडीगुल के सरकारी अस्पताल में उपाधीक्षक के रूप में काम किया था। 2018 में उनके खिलाफ आय के ज्ञात स्रोतों से अधिक संपत्ति जमा करने का मामला दर्ज किया गया था। तिवारी ने कुछ महीने पहले उनसे संपर्क किया था और कहा था कि आय से अधिक संपत्ति के मामले में ईडी उनके खिलाफ जांच शुरू करेगी। बाबू के मुताबिक, ईडी अधिकारी ने उनसे तीन करोड़ रुपए रिश्वत की मांग की थी और उन्हें आरोप मुक्त करने का आश्वासन दिया था। हालांकि, उन्होंने मांग मानने से इनकार कर दिया था। इसके बाद तिवारी ने बाबू से 51 लाख रुपए देने के लिए बातचीत की। डॉक्टर ने कहा कि 1 नवंबर को उन्होंने मदुरै-नाथम रोड पर एक स्थान पर अंकित तिवारी को 20 लाख रुपए नकद सौंपे थे।

ये भी पढ़ें:मणिपुर में सबसे बड़ी डकैती, Punjab Bank से डकैतों ने बंदूक की नोक पर लूटे 18 करोड़ रुपए, CCTV फुटेज आया सामने

First published on: Dec 02, 2023 09:28 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें