Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

ममता बनर्जी पूरी तरह अनभिज्ञ: पश्चिम बंगाल कथित शिक्षक घोटाले पर टीएमसी सांसद रॉय

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में कथित शिक्षक भर्ती घोटाले में भारतीय जनता पार्टी सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमलावर है और मामले में जवाब मांग रही है। इस बीच तृणमूल के वरिष्ठ नेता और सांसद सौगत रॉय ने बनर्जी के बचाव में उतरते हुए बयान जारी किया है। उन्होंने कहा, “ममता बनर्जी सहित किसी […]

Edited By : Pulkit Bhardwaj | Updated: Jul 30, 2022 13:14
Share :

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल में कथित शिक्षक भर्ती घोटाले में भारतीय जनता पार्टी सूबे की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमलावर है और मामले में जवाब मांग रही है।

इस बीच तृणमूल के वरिष्ठ नेता और सांसद सौगत रॉय ने बनर्जी के बचाव में उतरते हुए बयान जारी किया है। उन्होंने कहा, “ममता बनर्जी सहित किसी को भी इस बात का अंदाजा नहीं था कि ऐसा हो रहा है। जब हमें इसके बारे में पता चला तो हमने कार्रवाई की। ममता बनर्जी ने उन्हें मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया।”

और पढ़िए – पीएम मोदी आज करेंगे प्रथम ‘अखिल भारतीय जिला विधिक सेवा प्राधिकरण’ बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित

तृणमूल नेता ने कहा, “अगर सुवेंदु अधिकारी के पास कोई सबूत है, तो उन्हें ईडी को बताना चाहिए, मीडिया को नहीं।” रॉय का बयान ऐसे समय में सामने आया है जब अधिकारी ने पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के एक फ्लैट से 21 करोड़ रुपए और दूसरे फ्लैट से 29 करोड़ रुपए मिलने को सिर्फ बानगी बताया।

उन्होंने ममता बनर्जी के कालीघाट स्थित आवास पर इशारा करते हुए ट्वीट किया, “जब तक आप माउंट बीरभूम और कालीघाट की एक झलक नहीं देख लेते, तब तक अपनी सांस रोककर रखें।”

पार्थ चटर्जी-अर्पिता मुखर्जी मामले मामले से जुड़ी 10 बड़ी बातें

1. तृणमूल द्वारा पार्टी और मंत्री पद की जिम्मेदारियों से हटाने के बाद पार्थ चटर्जी ने चुप्पी तोड़ी, उन्होंने शुक्रवार को कहा कि वह एक साजिश के शिकार थे।

2. भाजपा नेताओं ने कहा कि पार्थ चटर्जी को उन नामों का खुलासा करना चाहिए जिन्होंने उनके खिलाफ साजिश रची है।

3. पार्थ चटर्जी ने हालांकि कहा कि ममता बनर्जी का उन्हें कैबिनेट से हटाने का फैसला सही था। उन्होंने कहा, “यह फैसला (मुझे निलंबित करने का) निष्पक्ष जांच को प्रभावित कर सकता है। यह तो वक्त ही बताएगा कि फैसला सही था या गलत।”

4. शुक्रवार को पार्थ चटर्जी को मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल ले जाया गया.

5. पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी जिनके फ्लैट से ₹50 करोड़ और कई कीमती सामान बरामद हुए हैं, उन्हें भी चेक-अप के लिए अस्पताल ले जाया गया। वायरल हो रहे एक वीडियो में वह रोती-बिलखती नजर आ रही हैं।

6. ईडी के अधिकारियों ने बताया कि अर्पिता मुखर्जी की चार कारें गायब हो गई हैं। सूची में एक मर्सिडीज, एक ऑडी और दो होंडा सिटी शामिल हैं। ईडी के अधिकारियों ने कहा कि वे दक्षिण कोलकाता में मुखर्जी के फ्लैट की पार्किंग से लापता हो गए हैं।

और पढ़िए – सैयद शाहनवाज हुसैन ने लॉन्च की बिहार स्टार्ट-अप पॉलिसी 2022, इनोवेटिव बिजनेस आइडिया को मिलेगा 10 लाख रुपए का ब्याज मुक्त सीड फंड

7. दो रियल एस्टेट कंपनियां ईडी अधिकारियों की जांच के घेरे में आ गई हैं। दस्तावेजों से पता चलता है कि वे अर्पिता मुखर्जी के उत्तरी कोलकाता के फ्लैट के नाम पर पंजीकृत थे। अधिकारियों ने कहा कि 2017 में जारी एक कंपनी की शेयर पूंजी करीब 1 लाख रुपये थी, जबकि कंपनियों की आखिरी बैलेंस शीट और एजीएम 2021 की थी।

8. तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय ने कहा कि पार्थ चटर्जी ने पार्टी को शर्मिंदा और बदनाम किया है। उन्होंने कहा, “मुझे नहीं पता कि पार्थ किसी साजिश का शिकार हुआ है। उन्होंने (पश्चिम बंगाल के बर्खास्त मंत्री पार्थ चटर्जी) ने हमें शर्मिंदा किया है और हमारी पार्टी का अपमान किया है। हम उनके और उनके सहयोगियों के लिए उचित सजा के साथ पूरी जांच चाहते हैं। हमने लिया। उनके खिलाफ कार्रवाई की, उनके मंत्री पद छोड़े और पार्टी के सभी पदों से उन्हें हटा दिया।”

9. पूछताछ के दौरान अर्पिता मुखर्जी ने दावा किया कि उनके फ्लैटों से बरामद पैसे उनके नहीं हैं।

10. अर्पिता मुखर्जी ने कहा कि पार्थ चटर्जी के आदमी आकर पैसे रखते थे, जबकि उन कमरों तक उनकी पहुंच नहीं थी जो बंद रहते थे।

 

 

और पढ़िए – देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

First published on: Jul 30, 2022 10:32 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें