---विज्ञापन---

लोकसभा चुनाव को लेकर मोदी का क्यों बढ़ा कॉन्फिडेंस? सिर्फ 5 Points में समझें सबकुछ

Lok Sabha Election 2024 : देश में कुछ ही महीनों में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं। इस चुनाव में एनडीए और इंडिया गठबंधन के बीच मुकाबला देखने को मिल सकता है।

Edited By : Deepak Pandey | Updated: Feb 3, 2024 15:09
Share :
PM Narendra Modi
लोकसभा चुनाव को लेकर मोदी का क्यों कॉन्फिडेंस बढ़ रहा।

Lok Sabha Election 2024 : देश में इस साल होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक पार्टियों ने अपनी-अपनी तैयारी तेज कर दी है। इस वक्त दलों का मकसद वोटरों को लुभाना है। इसके लिए वे चुनाव नजदीक आते ही तरह-तरह वादे करने लगेंगे। एनडीए के पास बजट में लोकलुभाव घोषणाएं करने का मौका था, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। आखिर लोकसभा चुनाव को लेकर मोदी का कॉन्फिडेंस क्यों बढ़ गया है? इसके पीछे वजह क्या है, आइए सिर्फ 5 प्वाइंट में समझे हैं।

राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा

भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर सरकार बनाने की दावा कर रही है। इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह है कि श्रीराम का आशीर्वाद। भाजपा ने अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण कराके अपना पुराना चुनावी वादा पूरा कर दिया। अब सरकार की ओर से भक्तों को दर्शन के लिए अयोध्या लाया जा रहा है। श्रीराम के सहारे भाजपा एक बार फिर केंद्र में सत्ता हासिल करने में जुट गई है।

यह भी पढ़ें : गोरखपुर के सियासी मंच पर एक्टर्स की होगी भिड़ंत? जानें कौन हैं काजल निषाद

मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाएं

मोदी सरकार अपनी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने का काम कर रही है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, फ्री राशन, प्रधानमंत्री आवास योजना, हर घर जल, पीएम सम्मान निधि, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आदि के सहारे एनडीए एक बार फिर सत्ता में आना चाहता है।

बिखरता विपक्ष

लोकसभा चुनाव में भाजपा से मुकाबला करने के लिए इंडिया गठबंधन बना था, लेकिन अब यह बिखरता जा रहा है। विपक्षी दलों को एकजुट करने वाले नीतीश कुमार को भाजपा ने अपने पाले में कर लिया है। झारखंड में भी राजनीतिक संकट बरकरार है। पश्चिम बंगाल और पंजाब में विपक्ष एकजुट नहीं है। उत्तर प्रदेश में मायावती महागठबंधन में शामिल नहीं हुईं। सीट शेयरिंग को लेकर सपा-कांग्रेस के बीच खींचतान चल रही है।

यह भी पढ़ें : मैनपुरी से डिंपल तो बदायूं से धर्मेंद्र यादव, देखें सपा की पहली List

बीजेपी ने ढूंढी जाति जनगणना की काट

भाजपा ने ओबीसी जाति जनगणना की काट तलाश ली है। पार्टी का विशेष फोकस गरीबों, महिलाओं, युवाओं और किसानों पर है। इसे लेकर पीएम मोदी भी अपने भाषणों में जिक्र कर चुके हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी बजट में कहा कि हमारी सरकार की प्राथमिकताएं गरीबों, महिलाओं, युवाओं और किसानों की जरूरतों और आकांक्षाओं को पूरा करना है।

विधानसभा चुनाव से भी बढ़ा मनोबल

पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में मिली जीत से भी भाजपा का मनोबल बढ़ा है। भाजपा ने मोदी के चेहरे पर विधानसभा चुनाव लड़ा था और पार्टी ने तीन बड़े राज्य मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में बंपर जीत हासिल की।

First published on: Feb 03, 2024 03:09 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें