---विज्ञापन---

Congress के 16 तो SP के 4 उम्मीदवार मुस्लिम, NDA से कितने मुस्लिम कैंडिडेट को मिला टिकट?

Lok Sabha Election 2024: देश की संसद में मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व लगातार घट रहा है। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार देश की 543 लोकसभा सीटों में से लोकसभा चुनाव 2024 में इंडिया गठबंधन ने इस बार 34 मुस्लिमों को चुनावी रण में उतारा है।

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: May 22, 2024 20:07
Share :
Lok Sabha Election 2024 Muslims respresentative decrease in parliament
संसद में लगातार घट रहा मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व

Lok Sabha Election 2024: लोकसभा चुनाव 2024 के छठे चरण के मतदान से पहले सभी पार्टियां धुआंधार प्रचार में जुटी है। पीएम मोदी ने आज यूपी और दिल्ली में चुनावी रैलियों को संबोधित किया। चुनाव में सांप्रदायिक बयानों को लेकर कांग्रेस और बीजेपी को आज चुनाव आयोग ने जमकर सुनाया। आयोग ने कहा कि चुनावों में बयान के कारण देश में माहौल नहीं बिगाड़ने दिया जाएगा। सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न करने वाले बयान देने से बचना होगा। इस बीच एक रिपोर्ट में सामने आया कि कांग्रेस ने इस बार केवल 16 मुस्लिम कैंडिडेट को ही प्रत्याशी बनाया है। वहीं सपा ने 4, आरजेडी ने 2 और इंडिया गठबंधन ने 543 में से केवल 34 मुस्लिमों को ही चुनाव मैदान में उतारा है।

रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र और गुजरात में कांग्रेस ने एक भी मुस्लिम प्रत्याशी को टिकट नहीं दिया है। 2014 में देश की संसद में 30 मुसलमान चुनाव जीतकर पहुंचे थे। इनमें से बीजेपी का 1 सांसद ही मुस्लिम था। वहीं 2019 में 27 मुस्लिम चुनाव जीतकर संसद पहुंचे थे। इनमें एक भी सांसद भाजपा का नहीं था। जानकारी के अनुसार भाजपा ने 2014 और 2019 के चुनाव में कुल 13 मुस्लिमों को प्रत्याशी बनाया था। वहीं 2024 में बीजेपी ने केरल की मल्लपुरम सीट से एकमात्र मुस्लिम उम्मीदवार को प्रत्याशी बनाया है।

2024 में एनडीए ने 4 मुस्लिमों को दिया टिकट

एडीआर के अनुसार भाजपा ने लोकसभा चुनाव 2024 में 430 प्रत्याशियों को मैदान में उतारा है। वहीं एनडीए ने कुल 4 मुस्लिम प्रत्याशियों को चुनावी अखाड़े में भेजा है। केंद्रीय सांख्यिकी रिपोर्ट के अनुसार 1980 में देश में मुस्लिमों की कुल आबादी 11 फीसदी थी। उस वक्त संसद में 9 प्रतिशत सांसद मुस्लिम थे। आज यानी 2024 में मुस्लिमों की आबादी 14 फीसदी हो चुकी है लेकिन उनका प्रतिनिधित्व घटकर 5 फीसदी से भी कम हो गया है। वहीं बात करें विधानसभाओं की तो देश के 28 राज्यों में 4 हजार से ज्यादा विधायक चुनकर आते हैं लेकिन मुस्लिमों का प्रतिनिधित्व न के बराबर है। यूपी में 16 फीसदी मुसलमान रहते हैं लेकिन वहां की विधानसभा में केवल 7 प्रतिशत मुस्लिम विधायक हैं।

ये भी पढ़ेंः ‘OBC आरक्षण हमेशा रहेगा…’ कलकत्ता हाईकोर्ट के फैसले पर बोलीं CM ममता बनर्जी

ये भी पढ़ेंः सांप्रदायिक मुद्दों, अग्निवीर पर बयानबाजी को लेकर EC सख्त, भाजपा-कांग्रेस को लिया आड़े हाथों

First published on: May 22, 2024 08:07 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें