Tuesday, November 29, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Morbi Bridge Tragedy: मोरबी ब्रिज हादसे में FSL की रिपोर्ट बोल्ट और केबल टूटने से हुआ हादसा 

Morbi Bridge Tragedy अदालत में सुनवाई के दौरान FSL टीम की प्रारंभिक रिपोर्ट पेश की गई जिसमें बड़ी लापरवाही सामने आई है।

ठाकुर भूपेंद्र सिंह, मोरबी: मोरबी हैंगिंग ब्रिज हादसे के मामले में गिरफ्तार सभी 9 आरोपियों की जमानत अर्जी पर सुनवाई पूरी हो चुकी है। कल अदालत जमानत देने या नहीं देने पर अपना आदेश सुनाएगी। मंगलवार को अदालत में सुनवाई के दौरान FSL टीम की प्रारंभिक रिपोर्ट पेश की गई जिसमें बड़ी लापरवाही सामने आई है।

मोरबी के सरकारी वकील विजयभाई जानीने ने बताया कि आरोपी की जमानत अर्जी की सुनवाई के दौरान FSL की प्रारंभिक रिपोर्ट पेश की गयी है जिसमें मैंटेनैंस एवं सुरक्षा का जिम्मा ओरेवा समूह को दिया गया था। 30 अक्टूबर को हादसे के दिन 3165 टिकट जारी किए गए थे। टिकट देने वाले ने यह नहीं सोचा था कि अगर इतने लोग पुल पर गए तो क्या होगा। पुल पर दो टिकट काउंटर थे और दोनों लोगों को पता नहीं था कि कितने एक दूसरे के काउंटर से टिकट जारी किए गए।

रिपोर्ट में आगे उल्लेख किया गया है कि हैंगिंग ब्रिज के महत्वपूर्ण हिस्सों के बोल्ट ढीले होने से जीर्ण कर दिया था। वहीं, मोरबी के प्रधान जिला और सत्र न्यायाधीश पीसी जोशी के समक्ष तीन आरोपियों, सुरक्षा गार्ड अल्पेश गोहिल, दिलीप गोहिल और मुकेश चौहान के खिलाफ सबूत पेश किए गए। बताया गया कि तीनों को कोई प्रशिक्षण नहीं दिया गया था। बता दें कि मोरबी हैंगिंग ब्रिज 30 अक्टूबर को टूटकर मच्छू नदी में गिर गया था जिसमें 135 लोगों की जान चली गई थी।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -