Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

म्यांमार और थाईलैंड में फर्जी जॉब ऑफर कर भारतीयों को किया जा रहा टार्गेट, MEA ने जारी की एडवाइजरी

विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि भारतीय युवा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या अन्य स्रोतों से जारी किए जा रहे फर्जी नौकरी प्रस्तावों में न फंसें।

नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय ने शनिवार को अपने आधिकारिक पेज पर आईटी से जुड़े युवाओं को निशाना बनाने वाले फर्जी जॉब रैकेट को लेकर एक एडवाइजरी जारी की। भारतीयों को सलाह दी कि वे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म या अन्य स्रोतों के माध्यम से जारी किए जा रहे ऐसे फर्जी नौकरी प्रस्तावों में न फंसें। कुछ दिनों पहले म्यांमार में फंसे भारतीयों का एक वीडियो सामने आने के बाद यह कदम उठाया गया है।

विदेश मंत्रालय की ओर से जारी की गई एडवाइजरी में उदाहरण दिया गया है और कहा गया कि कॉल सेंटर घोटाले और क्रिप्टो-मुद्रा धोखाधड़ी में शामिल संदिग्ध आईटी फर्मों की ओर से भारतीय युवाओं को लुभावने ऑफर दिए जा रहे हैं। भारतीय युवाओं को थाईलैंड में आर्षक ऑफर पर बुलाने के लिए रैकेट सक्रिय है।

अभी पढ़ें – ईरान में ‘हिजाब क्रांति’ पर पूछे गए सवाल से ओवैसी ने किया किनारा, बोले- मुझे इससे क्या लेना-देना है?

विदेश मंत्रालय ने एडवाइजरी में कहा कि आईटी ट्रेंड भारतीय युवाओं को रैकेट की ओर से टार्गेट किया जा रहा है। ये भी कहा गया है कि ये सोशल मीडिया पर विज्ञापन देते हैं। इसके बाद दुबई और भारत स्थित एजेंटों के माध्यम से थाईलैंड में नौकरियों के नाम पर ठगा जा रहा है।

अभी पढ़ें – मायावती बोलीं-समाजवादी पार्टी राज्य में भाजपा को कड़ा विरोध देने में रही विफल

कंपनियों और भर्ती एजेंटों का करें वेरिफिकेशन

विदेश मंत्रालय की सलाह में आगे कहा गया है कि पीड़ितों को कथित तौर पर अवैध रूप से म्यांमार ले जाया जाता है और कठोर परिस्थितियों में काम करने के लिए बंदी बना लिया जाता है। विदेश मंत्रालय ने कहा कि जॉब के लिए वीजा पर यात्रा से पहले भारतीय नागरिकों को सलाह दी जाती है कि वे ऑफर देने वाली कंपनियों का वैरिफिकेशन करें और किसी भी नौकरी की पेशकश करने से पहले भर्ती एजेंटों के बारे में भी जांच पड़ताल करें।

अभी पढ़ें 42 बिलियन अमेरीकी डालर है ब्रिटिश शाही परिवार की दौलत, जानें किंग चार्ल्स के राजा बनने पर बढ़ा किसका कद

विदेश मंत्रालय को मिला था वीडियो

बता दें कि हाल ही में भारतीयों को बंदी बनाकर अवैध काम करने के लिए मजबूर करने का एक वीडियो विदेश मंत्रालय में आया था। तमिलनाडु के युवाओं की ओर से भेजे गए इस वीडियो में एक भारतीय ने कहा है कि हम वे लोग हैं जो थाईलैंड में फंसे हुए हैं। वीडियो सामने आने के बाद तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर मामले में विदेश मंत्रालय के हस्तक्षेप की मांग की थी। इसके बाद से अब तक 30 भारतीयों को फर्जी जॉब मामले में फंसने से बचाया जा चुका है।

अभी पढ़ें  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -