Saturday, 24 February, 2024

---विज्ञापन---

Manipur violence: हिंसा से प्रभावित 1000 से अधिक लोगों ने असम में ली शरण, अब तक 54 की मौत

Manipur violence: मणिपुर की स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। अनुसूचित जनजाति के दर्जे पर अदालती आदेश को लेकर आदिवासियों के चल रहे विरोध के दौरान अब तक 54 लोगों की मौत हो चुकी है। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि पड़ोसी राज्य में हिंसा के बाद मणिपुर के जिरिबाम जिले और आसपास के इलाकों से […]

Edited By : Gyanendra Sharma | Updated: May 6, 2023 14:00
Share :
Manipur violence

Manipur violence: मणिपुर की स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। अनुसूचित जनजाति के दर्जे पर अदालती आदेश को लेकर आदिवासियों के चल रहे विरोध के दौरान अब तक 54 लोगों की मौत हो चुकी है। अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि पड़ोसी राज्य में हिंसा के बाद मणिपुर के जिरिबाम जिले और आसपास के इलाकों से 1,100 से अधिक लोग असम के कछार जिले में शरण ली है।

मणिपुर से असम भाग रहे हैं लोग

अधिकांश प्रवासी कुकी समुदाय से हैं। मणिपुर में उनके घरों को उन समूहों द्वारा नष्ट कर दिया गया है। 43 वर्षीय जिरीबाम निवासी एल मुंगपु ने कहा, “गुरुवार को लगभग 10 बजे थे, जब हमने अपने क्षेत्र में चीखें सुनी और हमें यह महसूस करने में चंद मिनट लगे कि हम पर हमला हुआ है। उपद्रवी हम पर पथराव कर रहे थे, हमें धमकी दे रहे थे और कहा कि यह उनका अंतिम युद्ध है।”

अधिकारियों ने पीटीआई-भाषा को बताया कि शुक्रवार को मणिपुर के चुराचांदपुर जिले में छुट्टी पर गए सीआरपीएफ के कोबरा कमांडो को उनके गांव में हथियारबंद हमलावरों ने गोली मार दी। अधिकारी ने कहा कि इंफाल पश्चिम जिले के लाम्फेल में क्षेत्रीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान ने 23 लोगों के मरने की सूचना दी है।

असम सरकार इस स्थिति में मणिपुर के साथ खड़ी है

मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को कछार जिला प्रशासन को मणिपुर हिंसा प्रभावित परिवारों की देखभाल करने का निर्देश दिया है। वह अपने मणिपुर समकक्ष एन बीरेन सिंह के साथ लगातार संपर्क में हैं। सिलचर के सांसद राजदीप रॉय ने कहा कि केंद्र सरकार इस मुद्दे पर कड़ी नजर रख रही है और असम सरकार इस स्थिति में मणिपुर के साथ खड़ी है।

हिंसा प्रभावित मणिपुर में 23 जगहों पर सुरक्षा बल तैनात किए जाएंगे

मणिपुर के सुरक्षा सलाहकार कुलदीप सिंह ने एएनआई को बताया, “मणिपुर प्रशासन विभिन्न पुलिस स्टेशनों के साथ 23 स्थानों पर उन्हें तैनात करने के लिए बल तैयार कर रहा है। संवेदनशील क्षेत्रों में आरएएफ, असम राइफल्स, बीएसएफ और आईआरबी का वर्चस्व है। शुक्रवार को मणिपुर के डीजीपी ने कहा कि बदमाशों ने 23 पुलिस थानों से हथियार और गोला-बारूद लूट लिए हैं।

गृह मंत्री अमित शाह ने मणिपुर की स्थिति की समीक्षा की

सूत्रों ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह और शीर्ष अधिकारियों के साथ मणिपुर में स्थिति की समीक्षा की, यहां तक कि केंद्र ने वहां शांति बनाए रखने के लिए अतिरिक्त सुरक्षा बल और दंगा रोधी वाहनों को भेजा है।

 

First published on: May 06, 2023 02:00 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें