Wednesday, December 7, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

योग और ध्यान से मानसिक स्वास्थ्य को बनाएं सुंदर: ईशान शिवानंद

आचार्य ईशान शिवानंद का कहना है कि योग और ध्यान से मानसिक स्वास्थ्य को सुंदर बनाया जा सकता है। साथ ही उनका कहना है कि शिवयोग में मेंटल हेल्थ का समाधान है।

नई दिल्ली: योगा ऑफ इमोर्टल्स के फाउंडर और योग आधारित गैर औषधीय उपचार के विशेषज्ञ आचार्य ईशान शिवानंद का दो दिवसीय शिवयोग हीलिंग साधना शिविर कर्नाटक के बेंगलुरू में संपन्न हुआ। शिविर में शामिल हजारों लोगों ने शारीरिक स्वास्थ्य, मानसिक शांति और जीवन के सभी पहलुओं में हीलिंग ऊर्जा का अनुभव किया। इससे पहले सूरत और लखनऊ में भी शिवयोग हीलिंग शिविर आयोजित किए गए थे।

इन शिविरों में ईशान शिवानंद जी ने प्रतिभागियों को शारीरिक व्यायाम, योगाभ्यास, शुद्ध भोजन, ध्यान-साधना पद्धति और मेंटल हेल्थ मैनेजमेंट के टिप्स बताए। उन्होंने बताया कि किस तरह कोई भी आदमी योगा ऑफ इमोर्टल्स का अभ्यास कर अपने जीवन को सरल, सहज, सुंदर और सफल बना सकता है। शिवयोग परंपरा के आचार्य ईशान शिवानंदजी ने बताया कि कोई भी खुद को शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से कैसे स्वस्थ रख सकता है।

ईशान शिवानंद जी ने बताया कि इस समय दुनिया भर में मानसिक स्वास्थ्य एक चिंता का विषय बन चुका है। सिर्फ हमारे भारत देश में 2012 से 2030 के लिए मानसिक स्वास्थ्य का बजट 1.03 खरब है। शिवयोग का अभ्यास खरबों की इस लागत को प्राचीन, दिव्य, ब्रह्मांडीय ज्ञान और हीलिंग पद्धति के माध्यम से शून्य करने में सक्षम है। दुनिया भर में जिन लोगों ने शिवयोग ज्ञान, ध्यान-साधनाओं, योगिक और प्राण क्रियाओं का अभ्यास किया है, उन्होंने शारीरिक स्वास्थ्य, समस्याओं और तनाव से राहत और आंतरिक खुशी को अनुभव किया है। शिवयोग का उद्देश्य हर आदमी को पूर्ण रूप से स्वस्थ्य जीवन जीने के लिए सक्षम बनाना है।

ईशान शिवानंदजी योग आधारित गैर औषधीय उपचार प्रणाली और योगा ऑफ इमोर्टल्स के माध्यम से दुनिया भर में मानसिक रोगों के निवारण और प्रबंधन के लिए काम कर रहे हैं। वो दुनिया की शीर्ष मल्टीनेशनल कम्पनियों, सरकारी-गैर सरकारी संस्थानों और यूनिर्वसिटीज में शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य को सुंदर बनाने का प्रशिक्षण भी प्रदान कर रहे हैं। दुनिया भर में हो रहे उनके इन ट्रेनिंग प्रोग्राम के बेहद ही सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं। इसके अभ्यास न सिर्फ कार्य कुशलता और कार्य क्षमता बढ़ती है, बल्कि तनाव, बेचैनी, अनिद्रा और अशांति से छुटकारा पाकर लोग चौबीसों घंटे ऊर्जावान और आनंदित महसूस करते हैं। आचार्य ईशान शिवानंदजी वर्तमान में मेंटल हेल्थ एंड बेहवियरल मॉडिफिकेशन इनीशिएटिव के निदेशक की अहम जिम्मेदारी भी संभाल रहे हैं।

आपको बता दें कि ईशान जी ध्यान, योग और हीलिंग के जरिए मानव कल्याण के लिए दुनिया भर में काम रहे शिवयोग फाउंडेशन के संस्थापक डॉ.अवधूत शिवानंदजी के शिष्य हैं। उन्होंने सनातन ज्ञान और विज्ञान पर आधारित शक्तिशाली ध्यान साधनाओं के माध्यम से लाखों लोगों के जीवन में उम्मीद और आनंद की नई रोशनी जगाई है। ईशान शिवानंदजी सनातन ज्ञान के जरिए हर घर में खुशहाली, स्वास्थ्य, सामंजस्य, सफलता और मानसिक शांति लाने का संकल्प लिया है और इसके लिए निरंतर प्रयासरत हैं।

 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -