Wednesday, 17 April, 2024

---विज्ञापन---

जम्मू में चिनाब नदी पर बना दुनिया का सबसे ऊंचा पुल, रेल मंत्री ने ट्रॉली में बैठकर लिया जायजा, जानें कब चलेगी ट्रेन?

Jammu Kashmir: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रविवार को जम्मू के रियासी में चिनाब दरिया पर बन रहे रेलवे पुलिस का जायजा लिया। इस दौरान वे ट्रॉली में भी सवार हुए और रियासी के वक्कल से डुगा तक 10 किमी तक ट्रैक को भी देखा। रेल मंत्री अश्विनी ने कहा कि उधमपुर-श्रीनगर-बारामुला जम्मू और कश्मीर […]

Edited By : Bhola Sharma | Updated: Mar 27, 2023 11:18
Share :
Jammu Kashmir, Ashwini Vaishanv, World Highest Railway Bridge, Chinab Bridge
केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने चिनाब पुल का निरीक्षण किया।

Jammu Kashmir: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रविवार को जम्मू के रियासी में चिनाब दरिया पर बन रहे रेलवे पुलिस का जायजा लिया। इस दौरान वे ट्रॉली में भी सवार हुए और रियासी के वक्कल से डुगा तक 10 किमी तक ट्रैक को भी देखा।

रेल मंत्री अश्विनी ने कहा कि उधमपुर-श्रीनगर-बारामुला जम्मू और कश्मीर को जोड़ने वाली रेलवे लाइन है। ये दुनिया के बहुत बड़े अभियांत्रिकी चुनौतियों में से एक हैं। PM मोदी परिवर्तनकारी यातायात को बढ़ा रहे हैं, उसमें ये एक महत्वपूर्ण कड़ी है। चिनाब ब्रिज पर अच्छा विकास है।

यह भी पढ़ें: Dhruv Helicopter: केरल के कोच्चि में ALH ध्रुप हेलीकॉप्टर की करानी पड़ी इमरजेंसी लैंडिंग, टला बड़ा हादसा

दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पुल

चिनाब दरिया पर बन रहे इस पुल को दिसंबर 2023 में पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद इस ट्रैक पर वंदे भारत ट्रेन चलाई जाएगी। रेलवे मंत्रालय का दावा है कि ये दुनिया का सबसे ऊंचा पुल है। इसकी ऊंचाई 359 मीटर है।

यह एफिल टॉवर से 35 मीटर ज्यादा ऊंचा है। पुल की कुल लंबाई 1.3 किमी है। इसके निर्माण पर 1400 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं।

भूकंप में भी सुरक्षित रहेगा पुल

रेलवे पुल को भूकंपरोधी बनाया गया है। भूकंप से बचाने के लिए इसमें बीयरिंग का इस्तेमाल किया गया है। इसका निर्माण 2005-06 में शुरू हुआ था। 2014 में इसके डिजाइन को मंजूरी दी गई थी। यह पुल अगले 120 सालों तक सुरक्षित रहेगा।

और पढ़िए – राहुल गांधी ने ट्विटर पर बदला अपना Bio, लिखा डिस्क्वालीफाइड एमप

100 किमी प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ सकती हैं ट्रेनें

इस रेलवे पुल पर 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनें दौड़ सकती हैं। यह पुल नदी के तल से 1,178 फीट की ऊंचाई पर है। रेल मंत्री का कहना है कि तेज रफ्तार हवाओं, तापमान, हाईड्रोलॉजिकल प्रभाव जैसे बातों को ध्यान में रखकर इसका निर्माण किया गया है। जल्द ही इस ट्रैक पर ट्रेनें दौड़ेंगी।

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Mar 26, 2023 03:39 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें