Tuesday, October 4, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

PM Modi Birthday: क्या आम आदमी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिल सकता है? मुमकिन है, जानें कैसे?

पीएम मोदी ने अलग-अलग भाषाओं में कई सारी किताबें लिखी हैं। उनकी किताब है, 'आपातकाल में गुजरात' जिसमें उन्होंने इमरजेंसी के दौर में गुजरात के हालात बयां किए हैं।

PM Modi Birthday: क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सीधी मुलाकात संभव है? इसका जवाब है, हां। अगर किसी आम आदमी को पीएम मोदी से मुलाकात करनी है तो उसे pmindia.gov.in पर जाकर रजिस्टर करना होगा। यहां आपको पीएम से मुलाकात के लिए कोई ठोस और वाजिब वजह बतानी होगी, जिसके बाद ये मुमकिन हो सकता है कि इस वेबसाइट से आपको रिप्लाई आए और बताया जाएगा कि आप किस दिन और किस समय पीएम मोदी से मुलाकात कर सकते हैं।

इसका एक उदाहरण भी है। दरअसल, मध्य प्रदेश से एक भाजपा कार्यकर्ता पैदल दिल्ली पहुंचा था। भाजपा कार्यकर्ता प्रधानमंत्री आवास के बाहर पहुंचा और उनसे मुलाकात की इच्छा जताई। इसकी जानकारी के बाद पीएम मोदी ने भाजपा कार्यकर्ता से खुशी-खुशी मुलाकात की।

बता दें कि शनिवार को पीएम मोदी ने अपना 72वां जन्मदिन मनाया। आज हम आपको बता रहे हैं कि पीएम मोदी से जुड़े वो कौन से सवाल हैं, जिसे गूगल पर सबसे ज्यादा सर्च किया जाता है और उस सवाल का आखिर जवाब क्या है।

सवाल- क्या वाकई पीएम मोदी ने कभी चाय बेची थी?

जवाब- गुजरात के वडनगर स्कूल के टीचर्स बताते हैं कि पीएम मोदी जब स्कूल में पढ़ाई करते थे, तो छुट्टी के दिन या फिर जब भी समय मिलता था तो वे अपने पिता के पास पहुंच जाते थे। पीएम मोदी के पिता वडनगर रेलवे स्टेशन पर चाय बेचते थे। यहां पीएम मोदी अपने पिता का हाथ बंटाते थे।

सवाल- पीएम मोदी कितने कैमरा फ्रेंडली हैं?

जवाब- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोटोग्राफी का अच्छा-खासा शौक है। कई टूर पर पीएम मोदी को कैमरे के साथ देखा जा सकता है। वो तस्वीरें खींचने से खुद को रोक नहीं पाते हैं। पीएम मोदी कैमरे की अच्छी समझ रखते हैं। एक बार जब वे कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए थे तब उन्होंने वहां ढेर सारी तस्वीरें खींची थी। वहां से लौटने के बाद पीएम मोदी की खींची गई तस्वीरों की अहमदाबाद में एक प्रदर्शनी भी लगी थी। बता दें कि पीएम मोदी एसएलआर कैमरे का बेहतरीन इस्तेमाल करते हैं।

सवाल- आखिर 25 साल पहले पीएम मोदी अमेरिका क्यों गए थे?

जवाब- स्वामी विवेकानंद ने शिकागो में जोरदार भाषण दिया था जिसे आजतक याद किया जाता है। विवेकानंद के भाषण के शताब्दी समारोह में भाग लेने के लिए पीएम मोदी 1993 में अमेरिका गए थे। 90 के दशक में यंग पॉलिटिकल लीडर के तौर पर पीएम मोदी को अमेरिका में सम्मानित भी किया गया था।

सवाल- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुरु कौन थे?

जवाब- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2008 में ज्योतिपुंज नाम की एक किताब गुजराती में लिखी थी। किताब में पीएम मोदी ने लिखा था कि लक्ष्मण राव इनामदार उनके गुरु थे। बता दें कि इनामदार आरएसएस के सीनियर नेता थे।

सवाल- पीएम मोदी कितने पढ़े-लिखे हैं?

जवाब- वडनगर के हाई स्कूल से पीएम मोदी ने अपनी प्राथमिक शिक्षा हासिल की। इसके बाद अहमदाबाद के मणिनगर स्थित स्वामी नारायण आर्ट्स कॉलेज से उन्होंने आगे की पढ़ाई की।

सवाल- क्या पीएम मोदी ने किताबें लिखी हैं, और हां तो कौन-कौन सी किताबें लिखी हैं?

जवाब- पीएम मोदी ने अलग-अलग भाषाओं में कई सारी किताबें लिखी हैं। उनकी किताब है, ‘आपातकाल में गुजरात’ जिसमें उन्होंने इमरजेंसी के दौर में गुजरात के हालात बयां किए हैं। इसके अलावा उन्होंने गुजराती भाषा में ‘ज्योतिपुंज’ नाम की किताब लिखी है। एक किताब पीएम मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए लिखा जिसका नाम है ‘कन्वेन्शन एक्शन’। ये किताब जलवायु परिवर्तन पर आधारित है।

सवाल- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बटूकभाई क्यों कहा जाता है?

जवाब- आपातकाल के दौरान देश में क्या हो रहा है, ये जानने के लिए पीएम मोदी साधु के वेश में घूमते थे। उस दौरान उनका नाम बटूकभाई रखा गया था।

सवाल- क्या पीएम मोदी कभी संघ प्रचारक थे?

जवाब- पीएम मोदी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ज्वाइन किया था। वे 1971 में संघ के प्रचारक बने थे।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -