Wednesday, September 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Lakhimpur Kheri Case: पीड़ित पिता ने लगाई दर्दभरी गुहार, अपराधियों के लिए मांगी ये खौफनाक सजा

अपार पीड़ा से गुजर रहे लड़कियों के पिता ने कहा कि मेरी बेटियों को उठाकर ले गए थे। इसके बाद वारदात की। मुझे इंसाफ चाहिए। सभी आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए।

Lakhimpur Kheri Case: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में हुई दिल दहला देने वाली घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख गया है। पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं दोनों लड़कियों के पिता ने सरकार से दर्दभरी गुहार लगाई है। उन्होंने बताया कि आरोपी उनकी बेटियों को द्वार (गेट) से उठाकर ले गए थे। इसके बाद वारदात की। मुझे इंसाफ चाहिए। आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए। बता दें कि प्रदेश के डिप्टी सीएम पहले ही आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का संदेश चुके हैं।

लड़कियों के पिता ने कहा, मुझे इंसाफ चाहिए

समाचार एजेंसी एएनआई को पीड़ित पिता ने पूरी घटना के बारे में बचाया। उन्होंने कहा कि आरोपी मेरी बेटियों को घर से उठाकर ले गए थे। उन्होंने कहा कि एक आरोपी घर में घुसा था। इसके बाद दीवार फलांद कर भाग गया। अपार पीड़ा सह रहे लड़कियों के पिता ने रुंधी आवाज में कहा कि आरोपी मेरी बेटियों को उठाकर ले गए थे। इसके बाद उनके साथ वारदात की। मुझे इंसाफ चाहिए। सभी आरोपियों को फांसी की सजा दी जाए।

‘अपराध के खिलाफ है जीरो टॉलरेंस’

बता दें कि लखनऊ में गुरुवार को यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने घटना के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है। योगी सरकार में अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस है। उन्होंने कहा कि कानून के तहत इन सभी अपराधियों को ऐसी सजा दिलाई जाएगी कि इनकी रूह कांप जाएगी। ऐसा अपराध करने के बारे में सोचने वाले भी कांप उठेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार लगातार मामले पर नजर रखे हुए हैं।

मुठभेड़ में एक आरोपी के पैर लगी गोली

बता दें कि ये सभी आरोपी पीड़ित बहनों को पहले से जानते थे। लखीमपुर खीरी एसपी संजीव सुमन ने घटना के बारे में बताया कि अलग-अलग तरह से अपराध में शामिल कुल 6 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इनकी पहचान छोटू, जुनैद, सोहेल, हाफिजुल, करीमुद्दीन और आरिफ के रूप में हुई है। आरोपी जुनैद को पुलिस ने मुठभेड़ में पकड़ा गया है, इस दौरान उसके पैर में गोली लगी है।

एसपी ने बताया कि आरोपी लड़कियों के दोस्त थे। सोहेल और जुनैद ने लड़कियों को खेतों में ले जाकर बलात्कार किया। सामने आया है कि जबरन शादी के लिए मजबूर करने का विरोध करने पर सोहेल, हाफिजुल और जुनैद ने गला घोंटकर उनकी हत्या कर दी। करीमुद्दीन और आरिफ को बुलाया और सबूत मिटाने के लिए लड़कियों को फांसी पर लटका दिया।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -