Wednesday, September 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

उत्तर प्रदेश मानसून सत्रः सीएम योगी बोले- राज्य में अराजकता बर्दाश्त नहीं, अखिलेश धरने पर बैठे

लखनऊ में सोमवार को विधानसभा का सत्र शुरू होने से पहले सपा प्रमुख अखिलेश यादव और पार्टी नेताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ अपने पार्टी कार्यालय से राज्य विधानसभा तक मार्च निकाला।

UP News: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सोमवार को विधानसभा का सत्र शुरू होने से पहले समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव और पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार के खिलाफ अपने पार्टी कार्यालय से राज्य विधानसभा तक मार्च निकाला। इस दौरान लखनऊ की सड़कों पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा।

बाढ़, सूखा और लम्पी वायरल से परेशान है यूपीः अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी के मुखिया और नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में लगातार पांच साल से भाजपा की सरकार रही है। इस बार भी लोगों ने भाजपा की सरकार को चुना है, लेकिन उत्तर प्रदेश की हालत खस्ता है। प्रदेश की सड़कें जर्जर हैं। यूपी के कई हिस्सों में बाढ़ आई हुई है। लोग बाढ़ से परेशान हैं। लेकिन सरकार की और से बाढ़ पीड़ितों के लिए कोई भी राहत नहीं दी गई है। साथ ही प्रदेश के कई जिले सूखे की मार झेल रहे हैं। सरकार की ओर से इसकी भी भरपाई नहीं की जा रही है। अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश में बड़े पैमाने पर जानवर बीमार हैं। लम्पी वायरल से हजारों गायों और जानवरों की मौत हो गई है। सरकार कुछ नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश और केंद्र में भाजपा की सरकार है। डबल इंजन की सरकार में महंगाई अपने चरम पर है।

लोकतांत्रिक तरीके से सवाल पूछें, हम जवाब देंगेः सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर कोई पार्टी लोकतांत्रिक तरीके से अपने सवाल पूछती है तो इसमें कोई बुराई नहीं है। समाजवादी पार्टी को किसी भी जुलूस की अनुमति लेनी चाहिए, ताकि किसी को नुकसान न पहुंचे। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के नेताओं से कानून और व्यवस्था का पालन करने की उम्मीद करता हूं। सीएम ने कहा कि यूपी विधानसभा का मानसून सत्र आज से शुरू हो रहा है। इस सत्र से राज्य की जनता को काफी उम्मीदें हैं। हमारी सरकार बाढ़ जैसे कई मुद्दों पर चर्चा करेगी। हम इस सत्र में विपक्ष के सवालों का जवाब भी देंगे।

बेरोजगार है सपा, उनके पास कुछ नहीं हैः डिप्टी सीएम

वहीं उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सपा के विरोध का आम लोगों के फायदे से कोई लेना-देना नहीं है। अगर वे इस पर चर्चा करना चाहते हैं, तो विधानसभा में करने के लिए स्वतंत्र हैं। हमारी सरकार चर्चा के लिए तैयार है। सपा अब बेरोजगार है, उनके पास करने के लिए कुछ नहीं है। इस तरह का विरोध केवल लोगों के लिए समस्या पैदा करेगा।

अनुमति नहीं ली थी, हमारे पास और कोई विकल्प नहीं था

वहीं लखनऊ के संयुक्त सीपी (लॉ एंड ऑर्डर) पीयूष मोर्डिया ने बताया कि समाजवादी पार्टी की ओर से कोई अनुमति नहीं ली थी। फिर भी उन्हें एक ऐसा मार्ग सुझाया गया था, जिस पर यातायात नहीं था, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने इससे इनकार कर दिया। हमारे पास उन्हें यहां रोकने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। यदि वे निर्धारित मार्ग लेते हैं, तो कोई समस्या नहीं होगी।

 

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -