---विज्ञापन---

Dussehra Rally: सीएम एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे पर साधा निशाना बोले- यह आपकी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं, उद्धव का जवाब जिन्हें हमने सब कुछ दिया, उन्होंने किया विश्वासघात 

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में दशहरा रैली के दौरान एकनाथ शिंदे व उद्धव ठाकरे गुट ने जमकर एक-दूसरे पर निशाना साधा। सीएम एकनाथ शिंदे ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा  यह आपकी (उद्धव ठाकरे) प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं है। शिवसेना उन शिवसैनिकों की है, जिन्होंने इसके लिए अपना पसीना बहाया है। आप जैसे लोगों के लिए […]

Edited By : Amit Kasana | Updated: Oct 6, 2022 13:04
Share :
रैली में मुंबई के सीएम एकनाथ शिंदे
रैली में मुंबई के सीएम एकनाथ शिंदे

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में दशहरा रैली के दौरान एकनाथ शिंदे व उद्धव ठाकरे गुट ने जमकर एक-दूसरे पर निशाना साधा। सीएम एकनाथ शिंदे ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा  यह आपकी (उद्धव ठाकरे) प्राइवेट लिमिटेड कंपनी नहीं है। शिवसेना उन शिवसैनिकों की है, जिन्होंने इसके लिए अपना पसीना बहाया है। आप जैसे लोगों के लिए नहीं, जिन्होंने पार्टनरशिप की और उसे बेच दिया।

अभी पढ़ें सीएम अरविंद केजरीवाल बोले- भारत दुनिया का सबसे शक्तिशाली राष्ट्र बने, ऐसा मेरा सपना है

 

आगे सीएम ने अपने संबोधन में कहा बालासाहेब ठाकरे कहते थे कि शिवसैनिक है तभी मैं शिवसेना प्रमुख हूं। वह बोले चाय वाला देश का प्रधानमंत्री बना तुम उसका मजाक बना रहे हो। कांग्रेस के पास पार्टी है पर अध्यक्ष नही है और यहां अध्यक्ष है पर पार्टी नही है। बालासाहेब ठाकरे का सपना मोदी और अमित शाह ने राम मंदिर बनाकर और कश्मीर का समस्या हल करके पूरा किया है। उन्होंने कहा कि मुझे कॉन्ट्रैक्ट वाला मुख्यमंत्री कहते है। मैंने उन्हें कहना चाहता हूं मैंने राज्य का विकास, किसानों को न्याय दिलाने का कॉन्ट्रैक्ट लिया है इसलिए मैं कॉन्ट्रैक्ट वाला मुख्यमंत्री हूं।

सीएम बोले की एकनाथ शिंदे देने वाला इंसान है लेने वाला नहीं। तुमने यह क्यों नही कहा कि दाऊद से संबंध रखने वाले लोगों को मंत्रिमंडल में नही लेंगे। बालासाहेब ठाकरे ने कहा था मैं कांग्रेस के साथ नही जाऊंगा। लेकिन उनके विचारों की तिलांजलि दी गयी है। अब सत्ता जाने के बाद इन्हें शिवसेना के शाखा प्रमुख, गुट प्रमुख याद आ रहे हैं। लेकिन अब समय निकल चुका है, मुझे नही लगता इसका फायदा अब होगा। तुम वर्क फ्रॉम होम करने वाले लोग हो और हम work without home करने वाले लोग है।

सीएम ने कहा उद्धव ठाकरे ने अभी सभा मे मुझे कट्टपा बोला, कट्टपा स्वाभिमानी था, वो तुम्हारे जैसा दो मुहा नेता नहीं था।  एकनाथ शिंदे के ऊपर 100 केस है। चोरी हत्या का नही, सभी केस आंदोलन के है और सबके सब केस में शिंदे आरोपी नंबर एक है, तुम्हारे ऊपर कितने केस हैं।

उद्धव ठाकरे ने अपने मंच से शिंदे काे जवाब दिया

वहीं, उद्धव ठाकरे ने अपने मंच से शिंदे का जवाब देते हुए कहा। जिन्हें हमने सब कुछ दिया, उन्होंने हमारे साथ विश्वासघात किया और जिन्हें कुछ नहीं दिया, वे सब एक साथ हैं। यह सेना एक या दो की नहीं बल्कि आप सभी की है। जब तक आप मेरे साथ हैं, मैं पार्टी का नेता रहूंगा।  इसके बाद शिवाजी पार्क में रावण दहन किया गया। उद्धव ठाकरे ने कहा कि भाजपा ने पीठ में खंजर घोपा इसलिए MVA की सरकार बनी। MVA का विरोध करने वाले शपथ ली तब विरोध क्यों नही किया

 

 

बता दें कि एकनाथ शिंदे और उनके समर्थकों ने मुंबई के बीकेसी मैदान में दशहरा रैली का आयोजन किया। इस दौरान बालासाहेब ठाकरे के बेटे जयदेव ठाकरे एकनाथ शिंदे को अपना समर्थन दिखाने आए। रामदास कदम ने कहा कि मुझे उद्धव ठाकरे से पूछना है कि आपके भाई बिंदु माधव दुनिया मे नहीं हैं लेकिन उनके बेटे एकनाथ शिंदे के लिए न्यायिक लड़ाई रहे हैं। जयदेव ठाकरे, राज ठाकरे ने पार्टी छोड़ी। जब तुम अपना परिवार नहीं संभाल सकते तो राज्य क्या संभालेंगे।

उधर मुंबई के शिवाजी पार्क में उद्धव ठाकरे  ने दशहरा रैली की। उद्धव ठाकरे ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि जब 2014 में मोदी जी सत्ता में आए तब डॉलर का क्या रेट था आज क्या है, सुषमा स्वराज ने कहा था कि रुपया गिरता है तो देश की इज्जत गिरती है।

उन्होंने कहा कि अमित शाह गृह मंत्री हैं कि प्रचार मंत्री हैं समझ में नहीं आ रहा, सिर्फ सरकार गिराना उनका काम है। अमित शाह कहते हैं कि शिवसेना को जमीन दिखाओ, हम जमीन पर ही हैं। आप सिर्फ चीन से थोड़ी जमीन वापस लेकर दिखाओ, जो हिंदुत्ववादी हैं सामने आए, हम अपना हिंदुत्व बताते हैं, वो अपना हिंदुत्व बताएं।

अभी पढ़ें Dussehra Rally: बालासाहेब के बेटे जयदेव ने एकनाथ शिंदे के साथ साझा किया मंच, BJP पर बरसे उद्धव ठाकरे

उद्धव ठाकरे ने कहा मेरे प्रेस कॉन्फ्रेंस में अजित पवार साथ बैठते थे। कभी कान में नहीं बोले कभी माईक नहीं छीना। वह बोले  मैने कांग्रेस, एनसीपी के साथ रहकर औरंगाबाद का नाम संभाजीनगर किया, उस्मानाबाद का नाम धाराशिव किया। किसानों का कर्ज मांफ किया। मैं लड़ने वाले बाप का लड़ने वाला बेटा हूं। मेरे हाथ में कुछ नहीं है। मेरे खाली हाथ साथ आप चलोगे? इस पर लोगों ने बोला हां। आप साथ दो हम दुबारा आपको शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाकर दिखाएंगे।

अभी पढ़ें   देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

First published on: Oct 05, 2022 09:25 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें