Sunday, September 24, 2023
- विज्ञापन -

Latest Posts

जन औषधि केंद्र कैसे खोलें? केंद्र सरकार ने लोगों को दिया कमाई का मौका, जल्द ऐसे करें अप्लाई

Jan Aushadhi Kendra: केंद्रीय गृह मंत्री और सहकारिता मंत्री अमित शाह और रसायन और उर्वरक मंत्री मनसुख एस. मंडाविया ने 2000 जन औषधि केंद्र खोलने का फैसला लिया है।

Jan Aushadhi Kendra: सहकारिता मंत्रालय ने हाल ही में देश भर में 2,000 प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र खोलने की अनुमति, प्राथमिक कृषि ऋण समितियों (PACS) को देने का फैसला किया है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि करीब 1,000 जन औषधि केंद्र अगस्त तक और बाकी इस साल दिसंबर तक खुल जाएंगे।

अब ऐसे में सवाल यह कि ये कौन खोलेगा? खोलने के लिए कितना निवेश करना होगा? कमाई कितनी होगी? और कहां जाकर अप्लाई करना होगा? अन्य सवालों के जवाब भी हम आपको देंगे।

जन औषधि केंद्र से क्या होगा फायदा

सरकार का कहना है कि इस महत्वपूर्ण निर्णय से न केवल PACS की आय में वृद्धि होगी और रोजगार के अवसर पैदा होंगे बल्कि लोगों, विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सस्ती कीमत पर दवाइयां भी उपलब्ध होंगी। अब तक देश भर में 9,400 से अधिक जन औषधि केंद्र खोले जा चुके हैं। इन केंद्रों में लगभग 1,800 प्रकार की दवाएं और 285 अन्य चिकित्सा उपकरण उपलब्ध हैं। इन केंद्रों पर ब्रांडेड दवाओं की तुलना में 50 से 90 फीसदी कम दर पर दवाएं उपलब्ध हैं।

कौन खोल सकता है जन औषधि केंद्र?

मंत्रालय ने कहा कि प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र खोलने के लिए व्यक्तिगत आवेदकों के लिए पात्रता मानदंड डी फार्मा / बी फार्मा होना है। बेरोजगार फार्मासिस्ट, डॉक्टर, पंजीकृत चिकित्सक इसे खोल सकते हैं। कोई ट्रस्ट, एनजीओ, निजी अस्पताल भी इसे खोल सकते हैं। या फिर केंद्र खोलने के लिए सरकार द्वारा नामित एजेंसी भी इसका संचालन कर सकती है।

जन औषधि केंद्र खोलने के लिए कम से कम 120 वर्ग फीट जगह या तो निजी या किराये पर उपलब्ध होनी चाहिए। केंद्र के लिए आवेदन शुल्क 5,000 रुपये है। आप आवेदन पत्र https://janaushadhi.gov.in/ से डाउनलोड कर सकते हैं। आप सभी विवरण भरकर ऑनलाइन आवेदन भी जमा कर सकते हैं। वहीं, जनऔषधि केंद्र के लिए आपके पास खुदरा दवा बिक्री का लाइसेंस होना चाहिए।

जन औषधि केंद्र खोलने से क्या होगा फायदा?

केंद्रों को चलाने वाले लोगों को हर महीने की बिक्री पर 15% प्रोत्साहन के साथ 20% मार्जिन मिलता है। प्रोत्साहन की अधिकतम सीमा 10,000 रुपये प्रति माह है और यह तब तक जारी रहेगी जब तक कि इसमें 2.5 लाख रुपये की राशि शामिल नहीं हो जाती। बता दें कि केंद्र खोलने के लिए 2.5 लाख रुपये के निवेश की आवश्यकता होती है और पूरी राशि प्रोत्साहन के माध्यम से वितरित की जाती है।

वहीं, कमाई की बात करें तो इसे ऐसे समझें कि जैसे आपने एक महीने में 1 लाख रुपये की दवाई बेची तो आपको इसपर 20000 रुपये की आय होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि बिक्री पर 20% का कमीशन निर्धारित है। वहीं, 15 फीसदी की प्रोत्साहन राशि भी मिलेगी। तो आप इस हिसाब से 1 लाख की सेल पर 30000 रुपये तक महीना कमा सकते हैं।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -