Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Vivah Muhurat 2022: 21 नवंबर से फिर बजेंगे ‘बैंड-बाजे’, विवाह के लिए बन रहें हैं ये 10 शुभ मुहूर्त

Shubh Vivah Muhurat 2022: हिंदू पंचांग के अनुसार 21 नवंबर को शुक्र उदय होने के बाद वर्ष 2022 में विवाह के लिए 10 दिन शुभ मुहूर्त रहेंगे।

Shubh Vivah Muhurat 2022: कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी (अथवा देवउठनी एकादशी) के साथ ही हिंदू धर्म में धार्मिक और शुभ कार्यों को करने की शुरूआत हो चुकी है। हालांकि अभी शुक्र के अस्त होने के कारण विवाह के मुहूर्त नहीं निकल सके हैं। ज्योतिषियों के अनुसार शुक्र ग्रह 21 नवंबर को उदित होगा जिसके बाद विवाह कार्यक्रम भी संपन्न हो सकेंगे।

हिंदू पंचांग के अनुसार शुक्र उदय होने के बाद इस वर्ष में विवाह के लिए 15 दिन शुभ मुहूर्त रहेंगे। इनमें से कुछ अबूझ होंगे जबकि बाकी पर जन्मकुंडली तथा नाम राशि के आधार पर शुभ रहेंगे। जानिए कब-कब हैं अच्छे वैवाहिक मुहूर्त

यह भी पढ़ें: Prem Vivah ke Upay: प्रेम विवाह करने के लिए आज ही करें यह अचूक उपाय

21 नवंबर के बाद है विवाह के लिए अच्छे मुहूर्त (Shubh Vivah Muhurat 2022)

आम तौर पर देवउठनी एकादशी के साथ ही विवाह शुरू हो जाते हैं। परन्तु कई बार गुरु अथवा शुक्र ग्रहों के अस्त होने के कारण विवाह तथा अन्य धार्मिक कार्य नहीं हो पाते हैं। विवाह के लिए इन दोनों ही ग्रहों का उदय होना आवश्यक है। इस बार भी ऐसी ही स्थिति बन रही है। शुक्र ग्रह के अस्त होने के अभी भी विवाह नहीं हो पा रहे हैं। अब 21 नवंबर को शुक्र उदय होने के साथ ही अच्छे मुहूर्त मिल जाएंगे।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार नवंबर में 24, 25, 26, 27 और 28 नवंबर को विवाह के लिए शुभ मुहूर्त रहेंगे। इसी तरह दिसंबर माह में 2, 7, 8, 9 और 15 दिसंबर को अच्छे मुहूर्त रहेंगे। ये मुहूर्त दिवा और रात्रि लग्न के आधार पर माने गए हैं। इनमें भी 25 नवंबर और 2 दिसंबर को अबूझ मुहूर्त माने गए हैं यानि आपको मुहूर्त के लिए किसी पंडित से पूछने की भी जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें: Vastu Tips: अगर सुबह उठते ही दिख जाएं घर में चींटियां तो जल्द मिलेगी ये बड़ी खुशखबरी

16 दिसंबर के बाद नहीं हो सकेंगे विवाह (Khar Maah)

इस वर्ष विवाह के लिए 15 दिसंबर अंतिम मुहूर्त है। 16 दिसंबर को खर मास आरंभ होने के कारण सभी मांगलिक कार्यों पर अगले एक महीने के लिए रोक लग जाएगी। ऐसे में विवाह भी टल जाएंगे। इसके बाद विवाह अगले वर्ष 15 जनवरी के बाद ही हो सकेंगे।

16 दिसंबर के बाद इन कार्यों पर भी लगेगी रोक

खर मास की शुरूआत के साथ ही हिंदू धर्म में सभी मांगलिक कार्य बंद कर दिए जाते हैं। ऐसे में देव प्रतिमा स्थापना, विवाह, उपनयन संस्कार, देवोपासना, यज्ञ, धार्मिक कर्मकांड, पूजा-पाठ आदि पर भी रोक लग जाती है। खर मास की समाप्ति के बाद शुभ मुहूर्त आने पर ही इन सभी कार्यों का शुभारंभ किया जाता है।

डिस्क्लेमर: यहां दी गई जानकारी ज्योतिष के ज्ञान पर आधारित है तथा केवल सूचना के लिए दी जा रही है। news24 इसकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी उपाय को करने से पहले संबंधित विषय के एक्सपर्ट से सलाह अवश्य लें।

अभी पढ़ें – आज का राशिफल यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -